OMG जिला में कोरोना संक्रमितों की हर घंटे में हो रही मौत, कम्युनिटी स्पेड जैसे हालात

पिछला रिकार्ड टूटा एक दिन में मिले 2132 पॉजिटिव.

By: Abdul Salam

Published: 08 Apr 2021, 11:20 PM IST

भिलाई. जिला में कोरोना से हर घंटे में एक संक्रमित की मौत हो रही है। वहीं अब करीब 50 फीसदी लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। जिससे कम्प्युनिटी स्प्रेड जैसे हालात बन गए हैं। नए मरीज के मामले में पिछले सारे रिकार्ड टूट रहे हैं। वहीं मौत की संख्या मुक्तिधाम और जिला प्रशासन की मेल नहीं खा रही है। जिला के अलग-अलग मुक्तिधाम में गुरुवार को करीब 50 कोरोना संक्रमितों का अंतिम संस्कार किया गया। वहीं जिला प्रशासन महज १२ मौत होने की बात कह रहा है।

ट्रक में 12 शव लेकर पहुंचे मुक्तिधाम
सीएसआर के तहत करोड़ों के काम करने का दावा करने वाला भिलाई इस्पात संयंत्र एक बेहतरीन शव वाहन नहीं खरीद रहा है। हर यूनियन के नेता इसको लेकर प्रबंधन से मिलकर मांग कर चुके हैं। बावजूद इसके अब तक एक शव वाहन नहीं खरीदी किए हैं। यही वजह है कि आज कड़ी धूप में खुले ट्रक में एक दर्जन शवों को लेकर रिसाली के मुक्तिधाम में बीएसपी की ट्रक पहुंची। परिजन शवों को इस तरह से घंटों शवों को धूप में खुले ट्रक में रखा देख परेशान होते रहे।

पिछले सारे रिकार्ड टूटे
जिला में गुरुवार को को कोरोना ब्लास्ट हुआ है। एक साल के दौरान पहली बार संक्रमितों की संख्या सारे रिकार्ड को तोड़ते हुए 2132 तक जा पहुंची है। कम्युनिटी स्पेड वाले हालात नजर आ रहे हैं। लोग संक्रमित कहां से हो रहे हैं, वह सूत्र ही पता नहीं चल रहा है। अब 50 फीसदी लोग संक्रमित मिल रहे हैं। प्रशासन की सारी कोशिश के बाद भी लोग एक दूसरे के करीब ही खड़े हो रहे हैं। सोशल डिस्टेंस और मास्क को लेकर अभी भी लोग पूरी तरह से जागरूक नहीं हुए हैं। मुक्तिधाम आने वाले भी इसका पालन नहीं कर रहे हैं।

महज 9 दिनों में दूसरी बार बना नया रिकार्ड
31 मार्च 2021 को 4400 लोगों की जांच करने पर 1190 संक्रमित मिले थे। छह दिन बाद 6 अप्रैल 2021 को यह रिकार्ड टूट गया है। आज 4505 लोगों का टेस्ट किए तो 1838 संक्रमित मिले हैं। अब नौ दिनों के भीतर गुरुवार को 4588 लोगों की जांच करने पर 2132 लोग संक्रमित मिले हैं। यह आंकड़ा परेशान करने वाला है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने दुर्ग आगमन पर 29 फीसदी पॉजिटिविटी रेट को चिंता का विषय बताया था। अब वह बढ़कर 50 फीसदी के आसपास पहुंच चुका है। यहां हैरानी की बात है कि जिला प्रशासन एक दिन में दस मौत होने की बात कह रहा है, दूसरी ओर एक दिन में पचास संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है।

क्या होता है कम्युनिटी स्प्रेड
जब किसी भी बीमारी या महामारी का कम्युनिटी स्प्रेड या कम्प्युनिटी ट्रांसमिशन तब होता है जब किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के सोर्स का कोई पता न चले। यह कहा जा सकता है कि किसी संक्रमित के संपर्क में नहीं आने पर भी कोरोना से संक्रमित हो गए। जिला में यह देखने को मिल रहा है कि यहां बड़ी संख्या में प्रकरण सामने आ रहे हैं। तादात बढ़ती जा रही है। जिसे कम्युनिटी ट्रांसमिशन कहा जा सकता है।

जिला में 3 लाख डोज हुए पूरे
जिला में अब तक कोरोना के 315490 डोज लगाए जा चुके हैं। सबसे अधिक 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है। उन लोगों को 1.3 लाख डोज लगाया गया है। इसका लक्ष्य पूरा करने के लिए हर वार्ड में वैक्सीनेशन का काम किया जा रहा है। आने वाले एक सप्ताह में अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाया जाएगा।

COVID-19
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned