लव मैरिज के बाद प्रताडि़त होकर पति ने कर ली खुदकुशी, फरार पत्नी को गिरफ्तार करने राजस्थान पहुंची पुलिस

लव मैरिज के बाद प्रताडि़त होकर पति ने कर ली खुदकुशी, फरार पत्नी को गिरफ्तार करने राजस्थान पहुंची पुलिस
लव मैरिज के बाद प्रताडि़त होकर पति ने कर ली खुदकुशी, फरार पत्नी को गिरफ्तार करने राजस्थान पहुंची पुलिस

Dakshi Sahu | Updated: 09 Oct 2019, 04:55:27 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

पत्नी प्रताडि़त पति की खुदकुशी मामले में आरोपी पत्नी को गिरफ्तार करने राजस्थान गई पुलिस दूसरी बार भी खाली हाथ लौट आई है।

भिलाई. पत्नी प्रताडि़त पति की खुदकुशी (suicide by hanging in Bhilai) मामले में आरोपी पत्नी को गिरफ्तार करने राजस्थान गई पुलिस (Bhilai police) दूसरी बार भी खाली हाथ लौट आई है। महिला का नेटवर्क इतना तेज है कि पुलिस के पहुंचने से पहले भनक लग जाती है और वह फिर घर से फरार हो जाती है। खुद स्मृति नगर चौकी प्रभारी 8 दिन तक राजस्थान की खाक छानते रहे। फिर भी सफलता हाथ नहीं लगी। पुलिस की माने तो साइबर सेल से प्रॉपर मदद नहीं मिलने की वजह से महिला पकड़ में नहीं आ रही।

Read more: दशहरे के दिन रावण का शहादत दिवस मनाकर फिर चर्चा में आए CM भूपेश के पिता, असुर पूजन का किया समर्थन ...

घर पर लटक रहा था ताला
स्मृति नगर चौकी प्रभारी प्रमोद श्रीवास्तव ने बताया कि मृतक विश्वरूप राय के बड़े भाई अजीत राय आरोपी महिला कुवैस चौहान राय को नहीं पकडऩे का आरोप लगा रहा था। उच्च अधिकारियों के निर्देश पर इस बार तीन सदस्यीय टीम के साथ राजस्थान के भीलवाड़ा गए थे। इस बार अजीत राय को भी साथ में ले गए थे, जिससे वह उसे पहचान सके। भीलवाड़ा में कुवैस किराए के मकान से रहती है। जब टीम के साथ पहां पहुंचे तो उसके घर पर ताला लटक रहा था। वह फरार हो गई थी। उसके मकान के सामने एम्बुस लगाकर आठ दिन तक रुके रहे, लेकिन वह नहीं लौटी। अंतत: खाली हाथ लौटना पड़ा।

Read more: फर्जी पति बनाकर दिया बच्ची को जन्म फिर फेंक दिया नवजात को मरने, पुलिस ने पकड़ा तो कलयुगी मां ने अपनाने से किया इनकार....

प्रेम विवाह किया था विश्वरुप राय
पुलिस ने बताया कि विश्वरूप राय और कुवैस चौहान की मुलाकात राजस्थान में हुई थी। दोनों ने प्रेम विवाह किया था। विश्वरूप मूलत: अंबिकापुर मनेन्द्रगढ़ का निवासी था। परिजनों की सहमति से उसे लेकर घर आ गया। फिर भिलाई में आकर दोनों नौकरी करने लगे। कुवैस को पांच भाषा की जानकारी थी। इंजीनियरिंग की थी। इसलिए रुंगटा में नौकरी करने लगी।

जानिए क्या है घटना
विश्वरूप राय श्री शंकराचार्य कॉलेज में प्रशासनिक अधिकारी था। वहीं कुवैस रूंगटा कॉलेज की इंजीनियरिंग फैकल्टी में नाइजेरियन स्टूडेंट्स को पढ़ाती थी। स्मृति नगर आनंदपुरम में किराए के मकान में दोनों रहते थे। 6 अक्टूबर 2018 को विश्वरूप राय ने घर में ही फांसी लगा ली थी। पुलिस के मुताबिक उसकी पत्नी कुवैस और उसका बेटा घर पर ही थे। पत्नी बच्चे को लेकर राजस्थान चली गई। पति के अंतिम कार्यक्रम में भी शामिल नहीं हुई थी।

पुलिस ने दर्ज की किया मामला
पुलिस ने विश्वरूप के बड़े भाई अजीत की शिकायत पर जांच की। पास पड़ोसियों से पूछताछ में जानकारी मिली कि उसकी पत्नी परेशान करती थी। दोनों में विवाद होते रहता था। जब वह ड्यूटी से घर आता था तो कुवैस कभी-कभी उसे अंदर नहीं घुसने देती थी। 10 अप्रैल को जांच के बाद कुवैस के खिलाफ धारा 306 के तहत अपराध दर्ज किया गया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned