दहेज में AC और सोने की चेन नहीं मिली तो पति ने पत्नी को चरित्रहीन बताकर जबरदस्ती करा दिया अबॉर्शन

दहेज में एसी और सोने की चेन नहीं मिलने पर एक पति ने अपनी पत्नी को चरित्रहीन बताकर उसका जबरदस्ती अबॉर्शन कर दिया।

By: Dakshi Sahu

Updated: 11 Jan 2021, 04:55 PM IST

भिलाई. दहेज में एसी और सोने की चेन नहीं मिलने पर एक पति ने अपनी पत्नी को चरित्रहीन बताकर उसका जबरदस्ती अबॉर्शन कर दिया। लगातार खराब बर्ताव और प्रताडऩा से तंग आकर नवविवाहित ने अंतत: पति और सुसरालियों के खिलाफ महिला थाने में शिकायत की है। पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करते हुए पति, सास-ससुर, नंनद और नंदोई को भी आरोपी बनाया है। पीडि़ता ने बताया कि साल 2019 में उसकी शादी हुई है। शादी के दूसरे दिन से ही ससुराली उसे दहेज के लिए प्रताडि़त कर रहे हैं।

एक साल पहले हुई थी शादी
पुलिस ने बताया कि मिलन चौक संतोषी पारा कैंप-2 निवासी शिकायतकर्ता की शादी 12 दिसंबर 2019 को लक्ष्मी नगर सुपेला निवासी आरोपित नीरज साव के साथ हुई थी। शादी के समय शिकायतकर्ता के परिवार वालों ने पांच लाख 60 हजार रुपए नकद और घरेलू सामान दिए थे, लेकिन शादी के पूर्व तय किए गए जेवर सोने की चेन, अंगूठी और एसी नहीं दे सके। शादी के बाद जब पीडि़ता अपने ससुराल गई तो ससुराल वालों ने इतना प्रताडि़त किया कि दूसरे दिन ही उसकी तबीयत बिगड़ गई। उसे फौरन अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

काउंसलिंग में नहीं बनी बात
आरोपी ससुराल वाले पीडि़ता को सोने की चेन, अंगूठी और एसी की मांग करते थे। महिला ने अपने मायके वालों को इसके बारे में बताया तो उन्हें उसे समझाया कि शादी के शुरुआत में थोड़ी परेशानी होती है। मायके वालों को समझाने पर वो अपने ससुराल में रही, लेकिन ससुराल वालों का बर्ताव नहीं बदला। वो गर्भवती हुई तो उस पर चरित्रहीन होने का लांछन लगाया जाने लगा। इसके बाद विवाहिता अपने मायके लौट आई और महिला थाना में शिकायत की। जिस पर दोनों पक्षों के बीच काउंसिलिंग कराई गई, लेकिन समझौता न होने पर पुलिस ने आरोपित ससुराल वालों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

चरित्रहीन होने का लगया लांछन
आरोपी उपहार में मिले सामान को घटिया बताकर महिला को प्रताडि़त करते थे। आरोपी पति उससे मारपीट करता था। नए साल पर एक जनवरी 2020 को शिकायतकर्ता अपने मायके गई। वहां उसे अपने गर्भवती होने की जानकारी मिली। होली के बाद वह जब अपने ससुराल गई तो वहां पर आरोपियों ने उसे चरित्रहीन बताते हुए किसी और बच्चा होने की बात कही। आरोपियों ने बच्चा गिरवाने के बाद तलाक देने के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया। लगातार प्रताडऩा से परेशान होकर शिकायतकर्ता तीन मई 2020 को अपने मायके लौट आई और महिला थाने में शिकायत की। जिसकी जांच के बाद पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned