50 रुपए नहीं दिया तो सनकी पति ने रॉड से मारकर पत्नी की हत्या की फिर खुद की जान लेने झूला फांसी के फंदे पर

पति ने 50 रुपए मांगा तो पत्नी ने देने से इंकार कर दिया। तैश में आकर पति ने लोहे की रॉड से पत्नी के सिर पर वार कर उसकी हत्या कर दी।

By: Dakshi Sahu

Published: 10 Jan 2021, 10:28 AM IST

भिलाई. पति ने 50 रुपए मांगा तो पत्नी ने देने से इंकार कर दिया। तैश में आकर पति ने लोहे की रॉड से पत्नी के सिर पर वार कर उसकी हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद वह खुद फांसी लगाकर खुदकुशी करने का प्रयास किया। सफल नहीं हुआ तो उसी रॉड से खुद का सिर फोड़ लिया। पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया है। महिला के शव को शास्त्री अस्पताल सुपेला के मारच्यूरी में रखवा दिया है। पुलिस ने घायल पति के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर मामले को जांच में लिया है।

घटना मंगल बाजार छावनी की
छावनी सीएसपी विश्वास चंद्राकर ने बताया कि घटना शनिवार को शाम करीब 6.30 बजे की है। छावनी मंगल बाजार में एक निर्माणाधीन मकान की चौकीदारी करने वाला पाटन निवासी राजकुमार पटेल (42 वर्ष ) पत्नी अनीता पटेल (35 वर्ष ) के साथ रहता था। उसने शाम को अनीता से 50 रुपए मांगा। पैसे नहीं देने पर उसके साथ गाली गलौज की और तैश में आकर अनीता के सिर पर रॉड से जोरदार हमला कर हत्या कर दिया। जिससे अनीता की सिर फट गया। वह जमीन पर गिर गई और लहूलुहान पड़ी रही।

पति जिला अस्पताल में भर्ती
वारदात के बाद राजकुमार ने खुद फांसी लगाकर खुदकुशी करने का प्रयास किया, लेकिन असफल रहा तो उसी रॉड से खुद अपने सिर पर वार कर घायल हो गया। वह भी अचेत जमीन पर पड़ा था। सुपरवाइजर ने घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने उसे पहले डायल 112 की मदद से लाल बहादुर शास्त्री शासकीय अस्पताल सुपेला भेजा। स्थिति गंभीर होने की वजह से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जहां उसका उपचार चल रहा है। अनीता के शव को सुपेला मॉच्र्युरी रखवा दिया।

पत्नी करती थी मजदूरी, खुद था चौकीदार
पुलिस ने बताया कि मंगलबाजार के पास एक ट्रांसपोर्टर का मकान निर्माण कार्य किया जा रहा है। जहां राजकुमार चौकीदारी करता था। अनीता वहीं मजदूरी करती थी। एक कमरे में रहकर सामान की रखवाली भी करते थे। उसकी एक बेटी है जो अपने चाचा के साथ राजिम में रहती है।

पहले भी मारने के लिए दौड़ा चुका था
पड़ोसियों ने बताया कि राजकुमार सनकी किस्म का था। करीब तीन बार अनीता को मारने के लिए दौड़ा चुका था। जब बाहर निकलती थी तो लोग बचा देते थे। इस बार वह घर से बाहर नहीं निकल पाई। घटना को अंजाम देने के बाद दरवाजा को उड़का दिया था।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned