scriptI am a gulmohar blooming on the scorching earth | तपती धरती पर खिलखिलाता मैं गुलमोहर हूं | Patrika News

तपती धरती पर खिलखिलाता मैं गुलमोहर हूं

हरियाली के लिए जतन: निगम ने गुलमोहर, कदंब, स्टोपीडिया एवं तपोदिया रोजा के पौधे रोपे हैं

भिलाई

Published: April 17, 2022 09:33:47 pm

Bhilai भिलाई. कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में ऑक्सीजन की समस्या थी, तब भिलाई नगर निगम ने अभियान चलाकर वृहद पौधरोपण किया। सड़क के किनारे लगाए गए ेगुलमोहर, कदंब, स्टोपीडिया एवं तपोदिया रोजा के पौधे सालभर में ही इतने बड़े हो गए हैं कि अब राहगीरों को छांव देने लगे हैं। राहगीर और सड़क किनारे ठेला लगाकर व्यवसाय करने वाले दुकानदार अब इसके छांव तले व्यवसाय कर रहे हैं।
तपती धरती पर खिलखिलाता मैं गुलमोहर हूं
तपती धरती पर खिलखिलाता मैं गुलमोहर हूं
जीई रोड के किनारे नारियल पानी एवं जूस विक्रय करने वाले दुकान संचालक विक्की देवांगन ने कहा कि भिलाई निगम ने पथ वृक्षारोपण के तहत जो पेड़ लगाए थे उनमें से एक पेड़ मेरी दुकान के बिल्कुल ही पास है। यह इतना बड़ा हो गया है कि हम सभी को छांव दे रहा है। वृक्ष के महत्व से हर कोई वाकिफ है। वृक्ष तपती धूप में छांव के साथ ही ऑक्सीजन प्रदान कर वातावरण को संतुलित और शुद्ध रखता है। मृदा कटाव को कम करता है। आकर्षण के साथ ही सालों साल तक हमें अपने गुणों का बोध कराता है।
शहर की मुख्य सड़क किनारे रोपे अब बांट रही हरियाली
निगम के उद्यान विभाग ने दो वर्ष पहले 2020-2021 में सड़क किनारे पथ वृक्षारोपण के तहत नेशनल हाईवे के किनारे, नेहरू नगर चौक से लेकर डबरा पारा चौक तक तथा अवंती बाई चौक से लेकर जूनवानी रोड भिलाई निगम की सीमा तक पौधे लगाए थे। साल भर इन पौधों की देखरेख की गई। पशुओं से बचाने व सुरक्षा की दृष्टि से ट्री गार्ड लगाए गए। आकर्षण के लिए पेंटिंग की गई। पानी निरंतर मिले इसके लिए पौधों के चारों ओर थाला बनाया गया। पौधों को सहारा देने के लिए स्टेकिंग लगाई गई। समय -समय पर खाद एवं पानी दिया गया।
लोगों ने भी निभाई नागरिक जिम्मेदारी
निगम ने समीपस्थ रहवासी एवं व्यवसायियों से भी पौधों के देखरेख की अपील की गई। नतीजन ज्यादातर पौधे अब वृक्ष में तब्दील हो गए हैं। कई पौधे तो 25 फीट तक के हो गए हैं। पौधों को सबसे अधिक पानी की आवश्यकता गर्मी के दिनों में होती है। गर्मी भर निगम ने सिंचाई की बेहतर व्यवस्था की और पौधों को जीवन प्रदान करते रहे।
आज भी खास ख्याल रखा जा रहा इन पौधों की
निगम प्रशासक रहते कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे के निर्देशन पर शहर में हरियाली लाने वृक्षारोपण का कार्य किया गया था। हालांकि कुछ पौधों को पशुओं, असामाजिक तत्व एवं वाहनों के चलते नुकसान जरूर हुआ है, फिर भी अधिकतर पौधे जीवित होकर बड़े हो रहे हैं। पौधों में नई-नई शाखाएं आ रही है। पौधे हरे-भरे और स्वस्थ हंै। मृत एवं छतिग्रस्त पौधे के बदले निगम ने पौधों को रिप्लेसमेंट भी किया है। महापौर नीरज पाल एवं निगम आयुक्त प्रकाश सर्वे के निर्देश पर इन पौधों की देखभाल खास तौर पर की जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथउदयपुर मर्डर : आरोपियों के घर से जब्त की सामग्री, चार और संदिग्ध हिरासत मेंइलाहाबाद हाईकोर्ट से अनिल अंबानी को मिली राहत, उत्पीड़न कार्रवाई पर लगी रोक, जानिए पूरा मामलादो जुलाई से इन सुपरफास्ट ट्रेनों में कर सकेगें जनरल टिकट पर यात्राMaharashtra Political Crisis: उद्धव सरकार गिरने के बाद Twitter पर ट्रेंड कर रहा है 'उखाड़ दिया' हैशटैग, यूजर्स के निशाने पर हैं संजय राउतWorld Athletic Championhip:भारत को बड़ा झटका, सीमा पुनिया, भावना जाट और राहुल चैंपियनशिप से हटेPOLITICS: मध्यप्रदेश की सियासत से परिवारवाद का सफाया शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.