भिलाई. राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों के शिक्षकों के स्किल डेवलपमेंट के लिए आईआईटी भिलाई जल्द ही समर में शार्ट टर्म कोर्स डिजाइन करेगा। आईआईटी भिलाई के डॉयरेक्टर प्रो रजत मूना ने बताया कि इस साल समर में कुछ ऐसी योजना बन रही है जिसका फायदा राज्य के इंजीनियिरंग टीचर्स को मिलेगा।

उन्होंने कहा कि यह कोर्स कैसा होगा इस पर अभी प्लानिंग चल रही है पर इस साल यह जरूर लॉन्च होगा। पत्रिका से खास बातचीत में उन्होंने बताया कि आईआईटी भिलाई के लिए कौन सा आर्किटेक्ट डिजाइन तैयार करेगा? यह मार्च में फाइनल हो जाएगा।

आइडिया ज्यादा पर चैनलाइज करना जरूरी
राज्य के 6 से ज्यादा इंजीनियरिंग कॉलेजों में विजिट कर चुके डॉ मूना ने कहा कि यहां के बच्चों के पास अच्छे आइडिया है, अच्छी एनर्जी भी है पर जरूरत है कि वे उसे चैनलाइज कर काम करकें। जब अभी अच्छी प्लानिंग के साथ काम करते हैं तो अच्छा माहौल भी बनता है।

इसका असर उनके कॅरियर के साथ ही सोसाइटी पर भी पड़ता है। इस दौर में जरूरी है कि आइडिया ऐसा हो जो लोगों के लिए तो बेहतर साबित हो पर पर्यावरण को भी सुरक्षित करें। हमें डेवलपमेंट के साथ वेस्ट मैनेजमेंट पर भी ध्यान देना जरूरी है। क्योंकि पर्यावरण संरक्षण ही हमारे लिए सबसे बड़ा चैलेंज है।

इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम शुरू
प्रो. रजत मूना ने बताया कि आईआईटी भिलाई के इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम शुरू हो गया है। मार्च में आर्किटेक्ट फाइनल होने के बाद उनकी डिजाइन को तैयार होने में दो से तीन महीने लगेंगे। उन्हें उम्मीद है कि मानसून के बाद अक्टूबर में इसकी नींव भी रखी जाए। उन्होंने कहा कि आने वाले दो साल में वे शिफ्ट करने की स्थिति में होंगे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned