जवान और मशीन हो सकते हैं फेल पर ITBP के ये जांबाज कुत्ते चंद सेकंड में ढूंढ लेते हैं IED

Dakshi Sahu

Publish: Jan, 14 2018 11:00:31 (IST)

ITBP Sector Headquarter, Sector 8, Bhilai, Chhattisgarh, India
जवान और मशीन हो सकते हैं फेल पर ITBP के ये जांबाज कुत्ते चंद सेकंड में ढूंढ लेते हैं IED

अपनी प्राकृतिक और विलक्षण प्रतिभा के कारण अब वे देश की सेना से लेकर पैरामिलेट्री और सेंट्रल आम्र्स फोर्स का हिस्सा बन चुके हैं।

भिलाई. डॉग, इंसान के सबसे वफादार दोस्त होते हैं। अपनी प्राकृतिक और विलक्षण प्रतिभा के कारण अब वे देश की सेना से लेकर पैरामिलेट्री और सेंट्रल आम्र्स फोर्स का हिस्सा बन चुके हैं। ऐसा ही एक डॉग स्क्वॉड है इंडो तिब्बत बार्डर पुलिस के पास। जो इन दिनों छत्तीसगढ़ में चल रहे एंटी नक्सल ऑपरेशन में अपनी अहम भूमिका निभा रहा है।

ढूंढ लेते हैं आईईडी
इनके बिना ना तो जंगल में पेट्रोलिंग संभव है और ना ही इनके बिना जवान जमीन के कई फीट अंदर छिपी आईईडी को ढूंढ पाते हैं। ट्रैकर, गार्ड और नॉरकोटिक्स डेटेक्शन जैसे महत्वपूर्ण कार्य इनके जिम्मे हैं। माना जाता है कि देश का सबसे मजबूत डॉग स्क्वॉड आईटीबीपी के पास है।

मशीन भी हो जाता है फेल
डिप्टी कमाडेंट (वेटनरी) की मानें तो 3 महीने के पपी को प्रशिक्षण देना आसान नहीं होता पर जब वह 1 साल में तैयार हो जाता है तो उसके मुकाबले मशीनरी भी फेल हो जाती है। वे बताते हैं कि जमीन के कई फीट नीचे तक जब मशीन भी बम को पकडऩे में नाकाम साबित होती है तब स्क्वॉड के डॉग उन्हें पलभर में सूंघकर पता लगा लेते हैं।

इन पर बड़ी जिम्मेदारी
डिप्टी कमाडेंट डॉ. विनोद एल ठाकुर ने बताया कि डॉग स्क्वॉड पर बड़ी जिम्मेदारी है। छत्तीसगढ़ में तैनात उनकी हर बटालियन में 12-12 डॉग शामिल हंै। जो रोजाना 13 से 15 किलोमीटर की पेट्रोलिंग करते हैं। जबकि ट्रेकर और आईईडी की खोज करने वाले डॉग भी अलग से पेट्रोलिंग पार्टी के साथ जाते हैं।

उन्होंने बताया कि इन्हें कुछ इस तरह ट्रेनिंग दी गई है कि वे जंगल में छिपे माओवादियों को अगर देख लें तो कुछ अलग ही सिग्नल देते हैं। वे बताते हैं कि फोर्स में कहा जाता है कि जब जवान और मशीनरी फेल हो सकती है पर डॉग कभी अपने मिशन में फेल नहीं होते।

गृहमंत्री ने भी किया सम्मानित
आईटीबीपी के डॉग स्क्वॉड में ईडी डॉग स्क्वॉड की मछली को पिछले वर्ष गृहमंत्री ने मेडल से सम्मानित किया था। मछली ने राजनांदगंाव के नक्सली क्षेत्र में जमीन के अंदर छिपी आईईडी को ढूंढ निकाला था। उसी तरह कुछ दिनों पहले गातापारा में डॉग अन्नू ने जमीन के अंदर छिपे 20 किलो बारूद को ढूंढा था। अब उसका नाम भी पदक की दौड़ में शामिल हो जाएगा।

डॉग शो में डॉग दिखाएंगे टैलेंट
रविवार को सेक्टर 7 में होने वाले डॉग शो में आईटीबीपी के डॉग स्क्वॉड के आधा दर्जन से ज्यादा डॉग अपना कमाल दिखाएंगे। इसमें लैब्रा के साथ ही बैल्जियम स्टैफ्र्ड ब्रीड की शैली, सल्टी, रॉकी, चोको, सिग्मा पैरल शामिल हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned