किशन की चतुराई से दोस्त की जान बच गई, लोग देख रहे थे लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया

किशन की चतुराई से दोस्त की जान बच गई, लोग देख रहे थे लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया
स्पोर्ट्स टीचर की सीख उसे काम आई

Mohamad Naseem Faruki | Updated: 11 Jul 2019, 11:56:01 AM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

4 जुलाई की शाम कुछ ऐसा हुआ कि किशन ने अपनी जान की परवाह न कर अपने दोस्त को करंट से बचाया

भिलाई@सेक्टर 6 के डी मार्केट के पास बने वॉलीबॉल कोट के अंदर रोज की तरह किशन और लोयेश क्रिकेट खेल रहे थे,लेकिन 4 जुलाई की शाम कुछ ऐसा हुआ कि किशन ने अपनी जान की परवाह न कर अपने दोस्त को करंट से बचाया। सेक्टर 6 की सड़क 6 0 निवासी किशन साहू और लोयेश एक ही मोहल्ले में रहते हैं। पर आज हर कोई किशन की तारीफ किए बिना नहीं थकता। क्योंकि किशन की वजह से लोयेश सही-सलामत खड़ा है। 4 जुलाई की शाम जब यह दोनों क्रिकेट खेल रहेथे तो लोयेश वहां के एक पोल में करंट की चपेट में आ गया और उसमें चिपक गया था। तभी किशन की नजर उस पर पड़ी और बिना कुछसोचे-समझे अपे दोस्त की जान बचाने दौड़ पड़ा। हाथ में मौजूद लकड़ी के बैट से ही उसने अपने दोस्त को उस बिजली के पोल से छुड़ाया। करंट की वजह से लोयेश का हाथ झुलस गया। पर अब वह पूरी तरह ठीक है। किशन गुरुनानक स्कूल सेक्टर 6 में 11 का छात्र है और लोयेश भी उसी स्कूल की कक्षा दसवीं में अध्ययनरत है।

टीचर की सीख आईकाम
समय पर सही निर्णय और सही मदद की वजह से लोयेश की जान बच पाई। इसघटना के बारे में किशन बताता है कि स्कूल में उसकी स्पोट्र्स टीचर की सीख उसे काम आई। अक्सर वे फस्र्ट एड के बारे में बात करती थी। जिसमें करंट लगने पर क्या करना चाहिए और कैसे मदद करनी चाहिए के बारे में भी बताया था। साथही उसने कई बार इंटरनेट परभी देखा था कि करंट लगने से क्या करना चाहिए।


पोल में बिजली कनेक्शन किया बंद
सेक्टर 4 ए मार्केट में किराए का पाठठेला चलाने वाले किशन के पिता गौरीशंकर साहू ने बताया कि 4 जुलाई की रात जब वह घर आए तो उन्हें घटना के बारे में पता चला। इससे पहले मोहल्ले के एक इलेक्ट्रीशियन ने खतरे को देखते हुए उस ग्राउंड में लगे पोल का बिजली कनेक्शन बंद कर दिया है, ताकि कोई बड़ी दुघर्टना को टाला जा सकें।


ऐसे हुई थी घटना
4 जुलाई की शाम करीब साढ़े 6 बजे किशन और लोयेश दोनों ही सेक्टर 6 डी मार्केट में बने नए स्पोट्र्स ग्राउंड के अंदर क्रिकेट खेल रहे थे।किशन ने शॉट मारा तो गेंद किनारे में लगे बिजली के पोल के पास जा गिरी। जैसे ही लोयेश बॉल लेने गया उसकी उंगलियां पोल से टकराई और वह पोल से चिपक गया। पोल में लगातार कंरट दौड़ रहा था। लोयेश करंट की वजह से दोस्त को आवाज भी नहीं दे सका,लेकिन इसी बीच किशन की नजर जैसे ही उस पर पड़ी वह हाथ से इशारा करने लगा। तभी वह बैट लेकर आया और करीब 7 से 8 बार बैट को उसके हाथ पर मारकर पोल से छुड़ाया। तब तक लोयेश बेहोशहो चुका था। किशन ने बताया कि आसपास के लोगों ने भी यह देखा पर कोई मदद को नहीं आया। जैसे ही लोयेश को उसने पोल से छुड़ाया तो उसने सभी को आवाज दी कि दोस्त को करंट लगा है तब जाकर एक भैया आए। उस बीच उसने पेट और छाती को दबाया साथ ही मुंह से सांस भी दी। तब कहीं जाकर वह होश में आया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned