मिनी इंडिया भिलाई में लक्षदीप महोत्सव पर रविवार को जलेंगे तीन लाख दीये, पढ़ें खबर

Satya Narayan Shukla

Publish: Jan, 13 2018 09:08:20 PM (IST)

Bhilai, Chhattisgarh, India
मिनी इंडिया भिलाई में लक्षदीप महोत्सव पर रविवार को जलेंगे तीन लाख दीये, पढ़ें खबर

अय्यपा सेवा संघम की ओर से रविवार को मकर संक्रांति के मौके पर होने वाले लक्षदीप महोत्सव में हजारों लोग देश की सुख-समृद्धि के लिए आस्था के दीप जलाएंगे।

भिलाई. मिनी इंडिया मेंं इस साल की मकर संक्रांति लोगों के लिए खास रहेगी। अय्यपा सेवा संघम की ओर से रविवार को मकर संक्रांति के मौके पर होने वाले लक्षदीप महोत्सव में हजारों लोग अपने परिवार, समाज, शहर और देश की सुख-समृद्धि के लिए आस्था के दीप जलाएंगे। अय्पपा मंदिर सेक्टर 2 की मंदिर कमेटी ने इसके लिए महीनेभर से ही तैयारी शुरू कर दी थी। शनिवार को मंदिर कैंपस और सेक्टर 2 के तालाब के चारों ओर दीए जलाने के लिए सजावट का काम शुरू हो चुका है। छत्तीसगढ़ में संभवत: यह पहला मंदिर है जहां पिछले तीन वर्ष से एक साथ लाखों दीए प्रज्जवलित करने की परंपरा शुरू हुई है। इस वर्ष इसे मकर संक्रांति पर रखा गया है ताकि संक्रांति के पावन मौके पर ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालु शामिल हो सकें।

इरुमड़ी धारण कर चढ़ेंगे 18 सीढ़ी
मकर संक्रांति के मौके पर गणेश मंदिर सेक्टर 5 से भक्त सिर पर इरुमड़ी धारण कर पैदल सेक्टर 2 अय्यपा मंदिर पहुंचेंगे। मंदिर कमेटी के एस अनिल कुमार, एस पिल्लई और पीजी कुरुप ने बताया कि सुबह शोभायात्रा में केरल के पारंपरिक वाद्ययंत्र के साथ भगवान अय्यपा स्वामी की सुंदर झांकी सजाई जाएगी। इसके साथ ही काले परिधान धारण कर स्वामी संघ के सदस्य सिर पर इरुमड़ी धारण करेंगे जिसमें नारियल के अंदर घी होगा। इस घी से वे भगवान अय्यपा का अभिषेक करेंगे। उन्होंने बताया कि सबरीमाला स्थित अय्यपा स्वामी मंदिर में संक्रांति के दिन इरुमड़ी धारण करने वाले मकर ज्योति के दर्शन करते हैं और इस दिन वे ही मंदिर की 18 सीढिय़ों को चढऩे का सौभाग्य प्राप्त करते हैं। भिलाई में भी 40 दिन का कठिन व्रत करने वाले भक्त 18 सीढ़ी चढ़कर मकर ज्योति के दर्शन करेंगे।

रंगोली में नजर आएंगे अय्यपा स्वामी
मंदिर कैंपस के बगल में ही संक्राति के मौके पर सेक्टर 4 की हेमलता भगवान अय्यपा की विशाल रंगोली तैयार कर रही है। 30 फीट में बनने वाली इस रंगोली में हेमलता 80 किलो रंगोली का उपयोग करेगी। हेमलता ने बताया कि इसे तैयार करने में पांच साथी उसका साथ देंगे और वह इसे 16 घंटे में पूरा करेगी।

सड़क से लेकर तालाब तक रौशन
लक्षदीप के लिए मंदिर समिति ने मंदिर के अंदर से लेकर सड़क के बाहर, तालाब के चारों किनारे सब दीए से रौशन होंगे। रविवार सुबह से ही यहां दीए रखने का काम शुरू हो जाएगा। मंदिर समिति की ओर से दीए में बाती और तेल भी भरा जाएगा ताकि आने वाले श्रद्धालु आसानी से दीपक जला सकें।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned