OMG सेक्टर-9 में मरीज को दे रहे रेमडेसिवीर इंजेक्शन खरीद कर लाने पत्र, मेडिकल स्टोर्स वाले बता रहे कलेक्टर का आदेश

परिजन परेशान.

By: Abdul Salam

Published: 16 Apr 2021, 12:01 AM IST

भिलाई. सेक्टर-9 अस्पताल में मरीज के परिजनों को खुद खरीद कर रेमडेसिवीर इंजेक्शन लाने कहा जा रहा है। वहीं दूसरी ओर कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने आदेश जारी कर कहा है कि अस्पताल प्रबंधक मरीजों के परिजनों को वर्तमान में उपलब्ध नहीं होने की वजह से मेडिकल स्टोर्स के लिए रेमडेसिवीर की पर्ची लिखकर न दें। ताकि नागरिक बाजार में रेमडेसिवीर दवा खरीदने ना पहुंचे। सेक्टर-9 में दाखिल जिन मरीजों को शुक्रवार को यह दवा दिया जाना है। वे गुरुवार की शाम से ही परेशान होने लगे। अस्पताल प्रबंधन ने पत्र देकर अपनी कार्रवाई पूरी कर दी है। कलेक्टर ने इस मामले में आदेश जारी कर मेडिकल से मिलने वाले दवा पर भी रोक लगा दिया है। ऐसे में मरीज के परिजन परेशान हो रहे हैं। उनके लिए सहूलियत अब भी नहीं है।

नहीं लगावा पाए डोज
मरीज के परिजनों ने बताया कि गुरुवार को वे अमृत फार्मेसी से दवा लेने के लिए गए थे। वहां खत्म हो चुका था, तब लौट आए। इसके बाद निजी मेडिकल स्टोर्स में जाकर पता किए। वहां जवाब मिला कि अब यह दवा सीधे अस्पतालों को सप्लाई की जा रही है, इस वजह से यहां नहीं मिलेगी। अपने दाखिल परिवार के सदस्य को रेमडेसिवीर का डोज शुक्रवार लगवाने के लिए वे सुबह से ही परेशान हो रहे हैं। इसके पहले मेडिकल स्टोर्स से खरीदकर ला रहे थे। कलेक्टर से आदेश जारी होने के बाद अब वहां से भी बैरंग लौटना पड़ा है।

यह कहा था कलेक्टर ने
कलेक्टर, दुर्ग ने अधिकारियों को कड़े निर्देश जारी किया था कि रेमडेसिवीर की कालाबाजारी का कोई भी मामला संज्ञान में आए तो संबंधित व्यक्ति को सीधे जेल भेजने की कार्रवाई की जाए। अस्पताल प्रबंधकों को निर्देश दिए कि मरीजों के परिजनों को वर्तमान में उपलब्ध नहीं होने की वजह से मेडिकल स्टोर्स के लिए रेमडेसिवीर की पर्ची लिखकर ना दें। उपलब्ध होते ही इसकी सूचना जारी कर दी जाएगी। अस्पतालों को जितना स्टॉक उपयोग के लिए दिया गया है उसका उपयोग करें। स्टॉक की कालाबाजारी होने की किसी भी प्रकार की सूचना मिलने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ऐसी जानकारी मिलने पर सीधे जेल भेजने की कार्रवाई की जाएगी। नोडल अधिकारी हर दिन अस्पताल में इस दवा के स्टॉक की ऑडिट करेंगे, किसी भी तरह की अनियमितता मिलने पर सूचना देंगे और ऐसा पाए जाने पर सीधे जेल भेजने की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि स्टॉक विक्रय के लिए उपलब्ध होने पर इसकी सूचना नागरिकों को दी जाएगी अत: नागरिक बाजार में रेमडेसिवीर दवा खरीदने ना पहुंचे।

मरीज के परिजनों के सामने बड़ी दिक्कत
अस्पताल से मिली पर्ची और मेडिकल स्टोर्स में दवा का मिलना बंद हो जाने से मरीजों के परिजनों के सामने बड़ी दिक्कत खड़ी हो गई है। इसके विपरीत अस्पताल प्रबंधन की ओर से भिलाई इस्पात संयंत्र भी गोलमोल जवाब दे रहा है। वह सारे सवालों का जवाब देने तैयार नहीं है। वहीं जिला प्रशासन भी इस मामले में स्पष्ट कुछ भी कहने को तैयार नहीं है। ऐसे में सबसे बड़ी परेशानी मरीज को हो रही है, जो सेक्टर-9 अस्पताल में दाखिल है।

जिला प्रशासन और बीएसपी आमने-सामने
बीएसपी ने 16 अप्रैल 2021 को रेमडेसिवीर का अगला डोज मार्केट से खरीदकर लाने के लिए मरीजों के परिजनों को पर्ची दिया है। दूसरी ओर कलेक्टर का कहना है कि 13 अप्रैल के बाद इस तरह की पर्ची जारी नहीं की जा रही है। अब अस्पताल प्रबंधन को दवा सप्लाई की जा रही है। इसको लेकर एक नोडिल अधिकारी भी तय किए हैं।

मार्केट में पर्याप्त मात्रा में नहीं है दवा
जनसंपर्क विभाग, भिलाई इस्पात संयंत्र अधिकारी के मुताबिक भिलाई इस्पात संयंत्र शुरूआत से ही रेमडेसिवीर इंजेक्शन मार्केट से खरीद रही है। शासन के निर्देशों के बाद अब प्रशासन के निगरानी में रेमडेसिवीर बीएसपी को दिया जा रहा है। आवश्यकतानुसार दवाई प्राप्त नहीं हो पा रही है क्योंकि मार्केट में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है।

COVID-19
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned