जनता कफ्र्यू के बीच छत्तीसगढ़ में नक्सली मुठभेड़, 14 जवान शहीद, सुकमा में पोस्टेड जवानों का हालचाल जानने बेचैन हुए परिजन

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने लगाए गए जनता कफ्र्यू के बीच छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले से बड़ी खबर आ रही है। सुकमा जिले के चिंतागुफा थाने क्षेत्र में हुए नक्सली मुठभेड़ में 14 जवान शहीद हो गए हैं।

By: Dakshi Sahu

Published: 22 Mar 2020, 12:40 PM IST

भिलाई. कोरोना वायरस (Coronavirus in chhattisgarh) के संक्रमण से बचने लगाए गए जनता कफ्र्यू (Janta curfew)के बीच छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले से बड़ी खबर आ रही है। सुकमा जिले के चिंतागुफा थाने क्षेत्र में हुए नक्सली मुठभेड़ (Police maoist encounter in CG) में 14 जवान शहीद हो गए हैं। वहीं तीन जवान लापता बताए जा रहे हैं। जवानों को बैकअप सपोर्ट के लिए निकली पुलिस की टीम ने रविवार अलसुबह लगभग 15 घायल जवानों को जंगल से बाहर निकाला है। घायलों को उपचार के लिए सीधे राजधानी रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल में भर्ती कराया गया है। (14 soldiers martyred in sukma Chhattisgarh)

सुकमा में पोस्टेड बेटे का हालचाल जानने पत्रिका के रिपोर्टर को किया फोन
इधर सुकमा जिले में जवानों के शहीद होने की खबर सुनते ही परिजन वहां पोस्टेड जवानों का हालचाल जानने के लिए बेचैन हो गए हैं। भिलाई के सेक्टर4 में रहने वाले धु्रवे परिवार के लोगों ने रविवार सुबह पत्रिका के संवाददाता से संपर्क साधा। उन्होंने बताया कि उनका बड़ा बेटा सीआरपीएफ में है। चिंतागुफा क्षेत्र में उसकी पिछले एक साल से पोस्टिंग है। कल से बेटे से बात नहीं हो पाई है। ऐसे में चिंतित परिजन किसी तरह बेटे की एक आवाज सुनने के लिए व्याकुल हो गए हैं। पत्रिका भिलाई ने उन्हें ढांढस बंधाते हुए जल्द ही जानकारी साझा करने की बात कही है।

दो जवानों की हालत गंभीर
पुलिस विभाग से मिली जानकारी के अनुसार एसटीएफ बुरकापाल, डीआरजी, कोबरा और सीआरपीएफ के जवान सर्चिंग के लिए निकले थे। शनिवार दोपहर नक्सलियों ने साथ जवानों की मुठभेड़ हुई। जिसके बाद एक के बाद एक जवानों के शहीद होने की खबर सामने आ रही है। घायल 15 जवानों में 2 जवानों की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है। उनका आईसीयू में उपचार चल रहा है। फिलहाल राज्य सरकार की ओर से अभी तक इस साल की सबसे बड़ी नक्सली मुठभेड़ को लेकर अभी तक कोई बयान जारी नहीं किया गया है।

15 जवानों के हथियार लूट ले गए नक्सली
माओवादी जंगल में मुठभेड़ के बाद 15 जवानों के हथियार भी लूटकर ले गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार एक यूजीबीएल भी माओवादी अपने साथ ले गए हैं। छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने जवानों के लिए बैकअप पार्टी रवाना करने की पुष्टि की है। वहीं कई जवानों के लापता होने की बात कही। मुठभेड़ के बाद तीन जवानों ने सुकमा जिले के भेज्जी थाने में रविवार सुबह आमद दी। जवानों की स्थिति से अवगत कराया। एसआईबी एसपी डी रविशंकर ने बताया की ऑपरेशन के लिए डीआरजी एसटीएफ और सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन के करीब लगभग पांच सौ जवान निकले थे। इस दौरान मुठभेड़ में माओवादी कैडर के चार शीर्ष हथियारधारी माओवादियों को भी मार गिराया गया है। फिलहाल शहीद और घायल जवानों की संख्या बढऩे का अनुमान लगाया जा रहा है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned