कैंसिल एयर टिकट रिफंड के नाम पर 1 लाख 30 हजार की ठगी, E वॉलेट से रुपए गायब हुए तब पुलिस के पहुंचा कैफे संचालक

Online Fraud in Bhilai: सेक्टर-10 च्वाइस सेंटर व ऑनलाइन विमान टिकट दुकान का संचालक 1 लाख 30 हजार रुपए ऑनलाइन ठगी का शिकार हो गया।

By: Dakshi Sahu

Published: 12 May 2021, 05:30 PM IST

भिलाई. सेक्टर-10 च्वाइस सेंटर व ऑनलाइन विमान टिकट (online air ticket) दुकान का संचालक 1 लाख 30 हजार रुपए ऑनलाइन ठगी (online thagi) का शिकार हो गया। इज माइ ट्रिप कंपनी ने राशि लौटाने की बजाए वॉलेट से ही राशि का गबन कर लिया। च्वाइस सेंटर के संचालक ने भिलाई नगर थाने में ऑनलाइन ठगी की शिकायत दर्ज कराई है। पीडि़त इसहाक खान ने बताया कि ऑनलाइन एयर टिकट बुक करने के लिए इज माइ ट्रिप डॉट कॉम की अथॉराइज एजेंसी लिया है। कोरोना संक्रमण लॉकडाउन (Coronavirus lockdown in Durg) की वजह से कई ग्राहकों का एयर टिकट कैंसिल करना पड़ा। ग्राहकों को 1 लाख 30 हजार रुपए वापस करना था। रिफंड के लिए इज माइ ट्रिप में संपर्क किया तो 7 अप्रेल 2021 को वॉलेट की रकम को अपने बैंक खाता में ट्रांसफर करने मेल किया। एजेंसी ने पेनकार्ड और कैंसल चेक की प्रति मांगी। पीडि़त ने प्रक्रिया पूरी की, कंपनी ने जानकारी मिली कि 15 से 21 दिन में रकम बैंक खाते में आ जाएंगे। इस बीच कंपनी प्रतिनिधि के संपर्क में रहा, लेकिन बैंक खाते में राशि नहीं आई।

Read more: ठगों के निशानों पर वर्दी वाले, CSP की Facebook आइडी हैक कर ठग ने रिश्तेदारों से मांगे पैसे, दोस्तों से कहा हेल्प मी ....

1 लाख 30 हजार वॉलेट से गायब
पीडि़त ने पुलिस को बताया कि 10 मई को एंजेसी प्रतिनिधि से बात की। प्रतिनिधि ने जानकारी दी कि वॉलेट पूरी तरह से खाली है। 1.30 लाख की रकम को विदेश टर्की के होटल बुकिंग में खत्म कर दिया गया है। चार लोगों की बुकिंग की है। जबकि पीडि़त ने होटल की बुकिंग नहीं की थी। जिस नाम से टिकट बुकिंग की जानकारी दी जा रही है उसको जानता तक नहीं है। पीडि़त ने बताया कि 1 लाख 30 हजार रुपए अब गबन कर गुमराह किया जा रहा है। पीडि़त की शिकायत के बाद पुलिस ने इस मामले को जांच में लिया है। वहीं ऑनलाइन ठगी के इस केस को सुलझाने के लिए साइबर टीम को भी एक्टिव कर दिया गया है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned