भाजपा संगठन की बैठक से नदारद रहे दुर्ग सांसद, विधायक और पूर्व विस अध्यक्ष

जिला भाजपा में फिर नजर आया दो फाड़.

By: Abdul Salam

Published: 11 Sep 2021, 11:38 PM IST

भिलाई. भारतीय जनता पार्टी जिला भिलाई की अहम जिला स्तरीय संगठनात्मक बैठक शनिवार को अयप्पा मंदिर सेक्टर-2 भिलाई में हुई। जिसमें भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय और राज्यसभा सांसद सरोज पाण्डेय मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद थे। आने वाले समय में भिलाई, रिसाली, भिलाई-चरोदा में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव को लेकर राज्यसभा सदस्य ने कार्यकर्ताओं को तैयार रहने कहा। वहीं दूसरी ओर भाजपा के भिलाई जिला में बड़े नेताओं के मध्य एकजुटता देखने को नहीं मिली। जिला की इस महत्वपूर्ण बैठक में न तो सांसद नजर आए न विधायक और न पूर्व विधानसभा अध्यक्ष। यहां भाजपा में फिर एक बाद दो फाड़ देखने को मिला। इससे जमीनी स्तर पर काम करने वाले भाजपा के बहुत से कार्यकर्ता भी इस बैठक में नहीं पहुंचे।

संगठन ही पार्टी की रीढ़
संगठन महामंत्री पवन साय ने मौजूद भाजपा के कार्यकर्ताओं से कहा कि भाजपा की राजनीति मे सत्ता सर्वोपरि नहीं है। राष्ट्रीय हित सर्वोपरि है। भाजपा की विचारधारा अंत्योदय की है। संगठन ही पार्टी की रीढ़ है, सत्ता सुख साधन प्राप्त करने का नही बल्कि देश के हर नागरिक को सुविधा, सुरक्षा और शिक्षा प्रदान करना है और अंतिम छोर में बैठे व्यक्ति को विकास की मुख्यधारा में लाना और उसे उसका लाभ पहुचाना है। उन्होंने मंडल और बूथ स्तर पर हुई नियुक्तियों की जानकारी भी ली।

जाना है चुनावी युद्ध में
इस मौके पर राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय ने कहा कि इस सांगठनिक बैठक में अपने संगठन को मजबूत करके आने वाले समय में चुनावी युद्ध में जाना है। वहां पर किस प्रकार से अपनी विजय पताका फहराना है इसकी हम कोशिश करेंगे। भाजपा कैडर बेस पार्टी है पार्टी में काम करते हैं तब बूथ तक का गठन करते है, इसलिए कहते हैं बूथ जीता तो चुनाव जीता। हम जिस बूथ पर रहते हैं अगर उस बूथ पर चुनाव जीता तो कोई नहीं हरा सकता। इस बार भिलाई विधानसभा सहित दुर्ग जिले की सभी सीटों पर चुनाव जीतने के लिए कमर कस कर निकलना है। यह सांगठनिक बैठक उस की ही प्रारंभिक तैयारी है। हर वार्ड में भाजपा का कार्यकर्ता इतना मजबूत होना चाहिए कि इस बार भिलाई, रिसाली और चरोदा नगर निगम में भाजपा का महापौर बने। कांग्रेस के नेताओं को विश्वास नहीं था इसलिए उन्होंने चुनाव की प्रक्रिया को ही बदल दिया। अगर कांग्रेस के नेताओं में दम है तो महापौर का चुनाव सीधे करा कर देख ले, लेकिन उन्होंने तोडफ़ोड़ की राजनीति पर विश्वास किया है।

कांग्रेस में चल रहा ट्येंटी-ट्वेंटी
राज्यसभा सांसद ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार को ढाई साल बीत चुके हैं और ढाई साल में इनका ट्वेंटी-ट्वेंटी का मैच भी शुरू हो चुका था मुख्यमंत्री इसी जिले से हैं ढाई साल का कांग्रेस का कार्यकाल काम की दृष्टि से खंगाल के देखिए ढाई साल में उन्होंने क्या किया। जिले में चार-चार मंत्री हैं उसके बाद भी दुर्ग जिले की क्या हालत है, जिस तरफ देखिए उस तरफ सड़क इतनी खराब है कि चलना मुश्किल है।

यह रहे मौजूद
बैठक में विशेष अतिथि के रूप में प्रदेस कार्यसमिति सदस्य राकेश पांडेय, जिला अध्यक्ष वीरेंद्र साहू, महापौर चंद्रकांता मांडले, पूर्व केबिनेट मंत्री रमशीला साहू, पूर्व विधायक सांवला राम डाहरे, खिलावन साहू, शंकरलाल देवांगन, भूषण अग्रवाल, त्रिलोचन सिंह, रामउपकार तिवारी, रामानंद मौर्या, संतोष सिंह मौजूद थे। मंच संचालन जिला महामंत्री मारकंडेय तिवारी ने किया।

सभी वरिष्ठों को दी गई लिखित में जानकारी
जिला अध्यक्ष वीरेंद्र साहू, ने बताया कि बैठक की सूचना सभी वरिष्ठ नेताओं को लिखित में दी गई है। सांसद, विधायक व पूर्व विस अध्यक्ष नहीं पहुंचे। इसको लेकर सही जानकारी जिन्होंने पत्र दिया है उनको है।

सुबह से निकल गए थे रायपुर
दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के सांसद विजय बघेल ने कहा कि धर्मांतरण के विरोध में राज्यपाल को ज्ञापन देने भारतीय जनता पार्टी का राजभवन का पैदल मार्च था, जिसमें शामिल होने सुबह से ही रायपुर निकल गया था। इस वजह से भिलाई में हुए संगठन की बैठक में शामिल नहीं हो सका।

धर्मांतरण के खिलाफ राज्यपाल को ज्ञापन देने आए हैं रायपुर
पूर्व विधानसभा अध्यक्ष प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने बताया कि धर्मांतरण के खिलाफ राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर धर्मांतरण करवाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने मांग की है। इस कार्यक्रम में शामिल होने रायपुर आया हूं। अभी रायपुर में ही हूं। इस वजह से बैठक में शामिल नहीं हुआ।

Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned