भाजपा संगठन चुनाव का विवाद पहुंचा दिल्ली, गोली मारने की धमकी के बीच सांसद ने राष्ट्रीय अध्यक्ष को भेजा शिकायतों का पुलिंदा

भाजपा में मंडल अध्यक्षों के चुनाव को लेकर उपजा विवाद अब दुर्ग-भिलाई से दिल्ली पहुंच गया है। गुरुवार को रायपुर में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भी यह मामला उठा। (Bhilai news)

By: Dakshi Sahu

Published: 08 Nov 2019, 10:59 AM IST

भिलाई/दुर्ग. भाजपा (Bharatiya Janata Party Chhattisgarh) में मंडल अध्यक्षों के चुनाव को लेकर उपजा विवाद अब दुर्ग-भिलाई से दिल्ली पहुंच गया है। गुरुवार को रायपुर में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भी यह मामला उठा। हालांकि शिकवा शिकायत पर पार्टी का क्या रूख होगा, यह साफ नहीं है पर मामले में विवाद थम नहीं रहा है। (Durg MP Vijay Baghel) सांसद विजय बघेल ने चुनावी विवाद के लिए दुर्ग व भिलाई जिला अध्यक्षों को जिम्मेदार ठहराया है। वहीं दोनों जिला अध्यक्षों ने सांसद के जरिए बुलाई गई बैठक को अनाधिकृत कहा है।

दिल्ली हाईकमान करेगी फैसला
सांसद का कहना है कि मामले में दिल्ली हाईकमान फैसला करेगा। सांसद बघेल ने दुर्ग व भिलाई में बैठकों के बाद कार्यकर्ताओं की ओर से मिली शिकायतों का पुलिंदा फैक्स के जरिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और संगठन महामंत्री व प्रदेश प्रभारी अनिल जैन को भेज दिया है। वहीं दुर्ग जिला भाजपा अध्यक्ष ऊषा टावरी और महापौर चंद्रिका चंद्राकर ने खुद दिल्ली जाकर वरिष्ठ नेताओं के सामने पक्ष रखा है। जिला भाजपा अध्यक्ष व महापौर बुधवार को दिल्ली रवाना हुईं और आलाकमान को वस्तुस्थिति की जानकारी देकर गुरुवार की शाम लौट आईं। इधर भिलाई जिला भाजपा अध्यक्ष ने साफ कहा है कि चुनाव हो गया। अब कुछ नहीं हो सकता।

Read more: भाजपा में पूर्व विधायक का जिला अध्यक्ष से पत्ता साफ करने दावेदारों की होड़, प्रदेश संगठन को सीधे सौंप दिया बायोडाटा.....

सप्ताह भर से चल रहा घमासान
मंडल अध्यक्षों के चुनाव में कथित मनमानी को लेकर दुर्ग व भिलाई भाजपा में सप्ताहभर से घमासान चल रहा है। इसे लेकर सांसद विजय बघेल, पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय, रमशीला साहू, विधायक विद्यारतन भसीन और उनके समर्थकों ने दुर्ग जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी और भिलाई जिला अध्यक्ष सांवलाराम डाहरे के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वे कथित मनमानी के लिए सीधे दोनों जिला अध्यक्षों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। सांसद बघेल ने मामले की शिकायत पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, संगठन प्रभारी रामप्रताप सिंह, पवन साय व अन्य नेताओं से भी की थी।

Read more: भाजपा सांसद विजय बघेल और मंडल अध्यक्ष को गोली मारने की धमकी, संगठन चुनाव में विवाद के बाद गरमाई राजनीति....

प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में उठा मामला
दुर्ग-भिलाई जिला भाजपा संगठन के पदाधिकारियों की राजनीतिक वर्चस्व की लड़ाई का मामला प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में उठाया गया। पार्टी सूत्रों के मुताबिक पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय ने पूछा कि क्या दुर्ग-भिलाई केंद्र शासित प्रदेश बन गया है? हर मामले को केन्द्र का सहारा लेकर लटकाया जा रहा है। प्रदेश कार्यकारिणी की जानकारी में होने के बावजूद निराकरण नहीं किया। सांसद विजय बघेल ने भी गहरी नाराजगी जाहिर की है। इस पर डॉ. रमन सिंह ने समिति भेजकर जानकारी जुटाने की बात कही।

मंडल में नए सिरे के चुनाव के पक्ष में सांसद
जानकारी के मुताबिक सांसद विजय बघेल की ओर से दुर्ग व भिलाई में अलग-अलग बैठकों के बाद विवाद व शिकायतों की सम्मिलित रिपोर्ट तैयार कराई गई है। इसमें कार्यकर्ताओं द्वारा सौंपे गए शिकायत पत्र और चुनाव में कथित गड़बड़ी से जुड़े प्रमाण भी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक पुलिंदा के साथ सांसद की ओर से जेवरा-सिरसा, अहिवारा, सिकोलाभाठा सहित सभी विवाद वाले मंडलों में नए सिरे से चुनाव का सुझाव रखा गया है।

दिल्ली से दबाव की रणनीति
सांसद व असंतुष्टों के खिलाफ सीधे दिल्ली से कार्रवाई की रणनीति पर काम किया जा रहा है। भाजपा से जुड़े सूत्रों के मुताबिक इसीलिए जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी द्वारा सीधे दिल्ली जाकर मामले की शिकायत की गई। हालांकि जिला भाजपा अध्यक्ष ने ऐसी किसी भी शिकायत से इनकार किया है। उन्होंने दिल्ली दौरे को निजी प्रवास बताया। लेकिन सूत्रों का कहना है कि सांसद के दिल्ली जाने की जानकारी मिलते ही जिला भाजपा अध्यक्ष फौरन रवाना हुईं।

गोली मारने की धमकी की शुरू हुई जांच
सांसद विजय बघेल और गंजपारा सदर मंडल भाजपा के पूर्व अध्यक्ष काशीनाथ शर्मा को गोली मारने की धमकी देने के मामले की जांच पुलिस की साइबर सेल ने शुरू कर दी है। दुर्ग सिटी कोतवाली पुलिस ने शिकायत को साइबर सेल के अधिकारियों के पास स्थानांतरित कर दिया है। अधिकारियों का कहना है कि जिस नंबर को हैक कर जिस मोबाइल से कॉल किया गया है इसकी जांच में थोड़ा समय लेगेगा, लेकिन वे आरोपी तक पहुंच जाएंगे। पहले लोकेशन की जांच की जाएगी।

सीधी बात सांसद विजय बघेल से .....
Q .संगठन चुनाव में गड़बड़ी के मुद्दे पर आगे की रणनीति क्या है?
A . दुर्ग और भिलाई दोनों बैठकों में जो भी तथ्य व शिकायतें आई हैं उसे समाहित कर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और प्रदेश प्रभारी महामंत्री अनिल जैन को सौंपा गया है। कार्यकर्ताओं की मंशा और पार्टी की रीति-नीति के अनुरूप चुनाव नहीं कराए जाने से कार्यकर्ताओं में आक्रोश की स्थिति से अवगत कराया गया है।

Q . संगठन से जुड़े नेता आपकी बैठक को अनुशासनहीनता करार दे रहे हैं?
A . इसमें कोई अनुशासनहीनता की बात नहीं है। हमने बैठक बेहद शालीनता से पार्टी के नियम के दायरे में रहकर पूरी जिम्मेदारी से किया। बैठक में किसी के खिलाफ बात नहीं की गई। कार्यकर्ताओं के भावनाओं को सुनना और बात आलाकमान तक पहुंचाना मकसद था।

Q . भाजपा अनुशासित व लोकतांत्रित पार्टी मानी जाती है, फिर ऐसी स्थिति क्यों बनी?
A . चुनाव में लोकतांत्रिक प्रक्रिया नहीं अपनाई गई यही तो परेशानी है। यदि इसका पालन किया जाता तो यह स्थिति ही नहीं बनती। भिलाई में तो स्थिति और भी गंभीर रही। वहां बंद कमरे में नाम फाइनल कर लिए गए। पूर्व मंत्री और विधायक तक को जानकारी नहीं दी गई।

Q . तमाम स्थिति को वर्चस्व की लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है, इसके लिए किसे जिम्मेदार मानते हैं?
A . ऐसी कोई बात नहीं है। कार्यकर्ताओं में असंतोष के कारणों को जानना व उनकी भावनाओं को उचित मंच तक पहुंचाने का प्रयास किया गया। इस पूरी घटना के लिए दोनों जिले के प्रमुख जिम्मेदार हैं।

Q . अगर आप लोगों की मांग व मंशा के अनुरूप मामले पर निर्णय नहीं होता तो आगे क्या करेंगे?
A . वरिष्ठ नेता मामले की पड़ताल कर उचित अनुचित का निर्णय करेंगे। यह उनके अधिकार क्षेत्र का विषय है। हमें पूरा विश्वास है कि पार्टी नेतृत्व कार्यकर्ताओं की भावनाओं का सम्मान करेगी।

जानिए किसने क्या कहा....
दुर्ग जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी ने कहा कि संगठन के खिलाफ बैठक कर अनुशासनहीनता की गई है। इसकी जानकारी प्रदेश के नेताओं को दी जाएगी। निश्चित रूप से कार्रवाई भी की जाएगी। मैं दिल्ली शिकायत लेकर नहीं, बल्कि पारिवारिक कारणों से गई थी। भिलाई जिला भाजपा अध्यक्ष सांवला राम डाहरे ने कहा कि मैंने किसी से शिकायत नहीं की है। शिकायत वाली कोई बात भी नहीं है। जो हुआ, वह प्रक्रिया के तहत है। उसमें परिवर्तन की कोई गुजाइंश नहीं है। अब जिला अध्यक्षों का चुनाव होगा। कार्यकारिणी की बैठक में चुनाव की रूपरेखा पर चर्चा हुई है। पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने कहा कि हां प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक हुई। बैठक में बहुत सी चर्चाएं होती हैं। कर्ई बातें होती है। संगठन के अधिकृत लोग ही बताएंगे।

Bharatiya Janata Party
Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned