Breaking news टाउनशिप के पेस्ट कंट्रोल काम में मिली लापरवाही, कलेक्टर ने बीएसपी के अफसर को लगाई फटकार

टाउनशिप के लिए बीएसपी ने किया लाखों के पेस्ट कंट्रोल का ठेका.

By: Abdul Salam

Updated: 19 Jun 2021, 11:56 PM IST

भिलाई. टाउनशिप में डेंगू के बढ़ते केस को देखते हुए कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे खुद जायजा लेने पहुंचे। उन्होंने पीएचडी अफसर से पूछा कि अब तक किए क्या हो। हर घर में लार्वा मिल रहा है। इस पर डीजीएम ने बताया कि टेमीफॉस दवा डालने से लार्वा मर जाता है। तब कलेक्टर नाराज हुए। उन्होंने कहा कि दवा डालने से मर जाता है लार्वा तो उडऩे की कंडीशन में कैसे आ गया। अब तक क्या किए हो। दो दिन के भीतर पूरे टाउनशिप में दवा वितरण करो।

आयुक्त भी भड़के
मौके पर निगम की टीम पहले से मौजूद थी। बीएसपी के पीएचडी अधिकारी केके यादव भी मौके पर पहुंचे और नगर पालिक निगम, भिलाई के आयुक्त ने जब उनसे पेस्ट कंट्रोल और घर-घर में लार्वा मिलने के संबंध में पूछा तो डीजीएम ने उनको अपनी ओर से तर्क दिया। इस पर आयुक्त नाराज हुए और उन्होंने केके यादव को जमकर फटकार लगाई। शुक्रवार को यादव की निगम के हेल्थ ऑफिसर धर्मेंद्र मिश्रा से बहस हो गई थी।

दो घर में मिला लार्वा
टाउनशिप के सेक्टर-४ में शनिवार को कलेक्टर पहुंचे। यहां उन्होने सड़क-५ में घरों का निरीक्षण किया। जिसमें से दो घरों के कूलरों में भरे हुए पानी की जांच करने पर उसमें लार्वा मिला। इसके बाद कलेक्टर ने तेजी से दवा डालकर लार्वा को नष्ट करने के निर्देश दिए। उन्होंने निगम और बीएसपी को सामजस्य बनाकर डेंगू नियंत्रण के लिए किए जाने उपायों को सघन स्तर पर काम करने के दिए निर्देश दिए।

टाउनशिप के लिए बीएसपी ने किया लाखों के पेस्ट कंट्रोल का ठेका
निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी व निगम के स्वास्थ्य अमला मौके के साथ घर-घर जाकर पानी टंकी, पुराने पात्रों में भरे पानी व गमले समेत कई स्थान पर बारिश के पानी का जमाव निरीक्षण किए। जिसमें लापरवाही पाए जाने पर उपस्थित बीएसपी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि डेंगू के रोकथाम के कामों को गंभीरता पूर्वक लेते हुए कार्य करने के निर्देश दिए ताकि डेंगू को प्राथमिक स्टेज में ही रोकथाम किया जा सके। इस मौके पर नगर सेवाएं विभाग के सीजीएम भी मौजूद थे।

निगम कर रहा है काम
टाउनशिप में डेंगू के मरीज मिलने की पुष्टि होने के बाद से भिलाई निगम का अमला मैदान में उतरकर फॉगिंग, टेमिफॉस वितरण व जलजमाव वाले स्थानों पर मलेरिया ऑयल का छिड़काव खास अमला बनाकर किया जा रहा है। ऐसे में निगम के पटरीपार का काम प्रभावित हो रहा है। टाउनशिप का काम असल में बीएसपी के पीएचडी विभाग को करना है। यहां काम ठेके पर दिए हैं, लेकिन मौके पर ठेकेदार और उसकी टीम की जगह बीएसपी के अफसर अपने मातहत अधिकारियों व ऑफिस की टीम के साथ नजर आ रहे हैं।

मलेरिया विभाग से नहीं पहुंची टीम
सेक्टर-4 के अन्य घरों में अब भी लार्वा मिल रहा है। जिसे कलेक्ट कर जांच करने का काम मलेरिया विभाग को करना है। एक दिन टीम ने पहुंचकर लार्वा एकत्र किया। दूसरे दिन टीम नहीं पहुंची। यही वजह है कि लार्वा मिला भी तो उसे दवा डालकर मारने का काम किए हैं।

कलेक्टर ने कहा हर घर में हो जांच
कलेक्टर ने मौके पर मौजूद निगम और बीएसपी के अफसरों से कहा कि हर घर में डेंगू के लार्वा पनपने वाले स्थान की सघन जांच, टेमिफॉस वितरण, बारिश के पानी से जलजमाव को रोकना, फॉगिंग जैसे सभी आवश्यक काम करो। जिससे डेंगू को प्राथमिक स्तर पर ही रोकथाम किया जा सके।

जब बीएसपी अधिकारी के सामने लोगों ने कहा नहीं मिला टेमीफॉस
सेक्टर-4 के सड़क-5 व अन्य सड़कों पर जब बीएसपी नगर सेवाएं विभाग के जीपी घोष और निगम का अमला घर-घर जाकर पूछ रहा था कि टेमीफॉस दवा मिली है या नहीं। इस पर लोगों ने कहा कि नहीं मिली है दवा। तब बीएसपी के दूसरे अधिकारियों ने बात को कव्हर करते हुए कहा कि सड़क नंबर सात तक दवा बट गई है। उसके बाद वाली सड़कों में बांटा जाना है। वहीं शुक्रवार को बीएसपी प्रबंधन ने कहा था कि सेक्टर-चार के हर घर में दवा बांट दी गई है और छिड़काव भी हो चुका है।

सतत मॉनिटङ्क्षरग करने निर्देश
निगम आयुक्त ने निगम की विशेष टीम टाउनशिप में किए जा रहे कार्यों की सतत मॉनिटरिंग करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। निगम का अमला नागरिकों से अपील कर रहे है कि बारिश के मौसम को देखते हुए ज्यादा समय तक पानी को ठहरने न दे और नियमित रूप से पानी टंकी और कूलर के पानी बदलते रहे। इस मौके पर उपायुक्त अशोक द्विवेदी, जोन आयुक्त प्रीति सिंह, स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा, जावेद अली, केके सिंह, बीएसपी प्रबंधन जीपी घोष मौजूद थे।

COVID-19 Covid-19 in india
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned