कर्मियों को वेतन नहीं तो एचएससीएल जीएम को घेरे रखा दस घंटे तक

एचएससीएल के नए महाप्रबंधक एसके सिन्हा सुबह दफ्तर पहुंचे। पंद्रह मिनट ही हुए थे कि दफ्तर में काम करने वाले कर्मचारियों ने उनका घेराव कर दिया।

By: Bhuwan Sahu

Published: 24 Jul 2018, 12:55 AM IST

भिलाई . एचएससीएल के नए महाप्रबंधक एसके सिन्हा सोमवार को सुबह १० बजे दफ्तर पहुंचे। पंद्रह मिनट ही हुए थे कि दफ्तर में काम करने वाले कर्मचारियों ने उनका घेराव कर दिया। कर्मियों ने बताया कि दो माह से वेतन नहीं मिला है। घर चलाना मुश्किल हो रहा है। कर्मचारी जीएम के कक्ष से बाहर निकले ही नहीं थे, कि ठेकेदार पहुंच गए और दरवाजे के बाहर जमीन पर बैठकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिए। शाम ८ बजे तक कर्मचारी व ठेकेदार जीएम कक्ष के बाहर डटे रहे।
एचएससीएल दफ्तर में काम करने वाले ३० से अधिक कर्मियों को ठेकेदार ने दो माह से वेतन भुगतान नहीं किया है। ठेकेदार का कहना है कि उसे प्रबंधन की ओर से भुगतान नहीं हो रहा है। इस वजह से वह कर्मियों को वेतन नहीं दे पा रहा है। जीएम ने इस मामले में उच्च प्रबंधन से बात कर भुगतान करने की बात कही। उच्च प्रबंधन से बात नहीं हुई तब कर्मचारी निराश हो गए और शाम तक वहां मौजूद रहे। इसके बाद भी कर्मियों के वेतन भुगतान पर कोई फैसला नहीं हुआ।

५५०० श्रमिकों को दो महीने से नहीं मिली तनख्वाह

एचएससीएल के ठेकेदारों ने जीएम ऑफिस के सामने दरवाजे पर बैठकर प्रदर्शन सुबह १०.३० से शुरू किया। वे शाम ८ बजे तक डटे रहे। एचएससीएल कांट्रेक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष त्रिलोकी सिंह ने बताया कि जनवरी २०१८ से अब तक ठेकेदारों का भुगतान एचएससीएल प्रबंधन नहीं किया है। प्रबंधन के पास करीब ५० करोड़ से अधिक का बकाया है। इस वजह से करीब ५५०० ठेका श्रमिकों के वेतन का भुगतान दो माह से नहीं किया गया है।

बीएसपी कर चुका है भुगतान

बीएसपी ने काम के बदले में एचएससीएल को भुगतान कर दिया है। बीएसपी से एचएससीएल को जो राशि मिली है, वह ठेकेदारों के माध्यम से श्रमिकों तक पहुंचनी है। जिसे रोककर रखा गया है। इस वजह से ही दिक्कत हो रही है।

तीन दिन में भुगतान का आश्वासन

जीएम ने रात करीब ८ बजे एनबीसीसी के नए सीईओ से ठेकेदार के अध्यक्ष की चर्चा भी करवाई। जीएम ने इस दौरान ठेकेदारों से तीन दिनों में भुगतान करने को कहा। इस पर ठेकेदारों ने कहा कि शनिवार को कर्मचारियों को दफ्तर में लाकर खड़ा कर देते हैं। इस पर उन्होंने मना कर दिया।

एचएससीएल जीएम एसके सिन्हा ने बताया किठेकेदारों व कर्मियों दोनों के भुगतान को लेकर उच्च स्तर पर पूरी जानकारी दे दी गई है। उच्च प्रबंधन से चर्चा की जा रही है, उम्मीद है कि समाधान निकल जाएगा।

Bhuwan Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned