scriptNo casualty in Shastri Hospital, women are being kept in male ward | शास्त्री अस्पताल supela में केजुअल्टी नहीं, पुरुष वार्ड में महिलाओं को रखा जा रहा ऑब्जर्वेशन में | Patrika News

शास्त्री अस्पताल supela में केजुअल्टी नहीं, पुरुष वार्ड में महिलाओं को रखा जा रहा ऑब्जर्वेशन में

कर्मियों को हो रही परेशानी,

भिलाई

Updated: March 04, 2022 10:24:02 pm

भिलाई. लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल, सुपेला में अब तक केजुअल्टी की व्यवस्था तक नहीं की गई है। अस्पताल में तमाम नए भवन बनते जा रहे हैं, बावजूद इसके केजुअल्टी की व्यवस्था अब तक नहीं की जा सकी है। जिसकी वजह से अस्पताल में आने वाले मरीजों को ऑब्जर्वेशन में रखने तक कोई व्यवस्था नहीं है। अस्पताल प्रबंधन इसको लेकर मंथन कर रहा है, लेकिन अब तक कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है।

शास्त्री अस्पताल supela में केजुअल्टी नहीं, पुरुष वार्ड में महिलाओं को रखा जा रहा ऑब्जर्वेशन में
शास्त्री अस्पताल supela में केजुअल्टी नहीं, पुरुष वार्ड में महिलाओं को रखा जा रहा ऑब्जर्वेशन में

पुरुष वार्ड का उपयोग कर रहे केजुअल्टी के तौर पर
सिविल हॉस्पिटल के पुरुष वार्ड में अक्सर महिलाओं को लाकर घंटों तक ऑब्जर्वेशन में रख दिया जाता है। नियम से पुरुष वार्ड में महिलाओं को नहीं रखा जाना है। यहां केजुअल्टी नहीं होने की वजह से पुरुष वार्ड का इस्तेमाल दो तरह से कर लिया जाता है। एक ओर पुरुषों को दाखिल करते हैं दूसरी ओर केजुअल्टी में आने वाले मरीजों को ऑब्जर्वेशन में रखा जाता है।

2 ग्राम ही था ब्लड
सिविल हॉस्पिटल में शुक्रवार को सुपेला में रहने वाले एक मरीज को परिजन लेकर आए। यहां लाने पर खून व अन्य जांच की गई। तब साफ हुआ कि उसके शरीर में 2 ग्राम ही ब्लड है। मरीज को सांस लेने में भी तकलीफ हो रही है। तब आनन-फानन में चिकित्सकों ने जिला अस्पताल, दुर्ग के लिए रेफर किया।

कर्मियों को हो रही परेशानी
पुरुष वार्ड में तैनात कर्मियों को जहां पहले दाखिल पुरुष मरीजों की दवा, स्लाइन, जांच वगैरह का ध्यान देना होता है। वहीं केजुअल्टी के मरीजों को यहां रख देने से उनकी देख-रेख की जिम्मेदारी भी उनके सिर आ रही है। घायल मरीजों को ब्लड चढ़ाना, सीरियस मरीजों को ऑब्जर्वेशन के दौरान ऑक्सीजन देना और नजर रखना भी उनके सिर आ रहा है। पुरुष वार्ड में कई बार सीरियस मरीज को लेकर आते हैं जांच में साफ होता है कि यह ब्रॉड डेथ वाला मामला है, इस तरह के मामले केजुअल्टी तक ही आने चाहिए। यहां इसका अभाव है जिसकी वजह से वार्ड तक लाना होता है।

500 की ओपीडी
सिविल अस्पताल की ओपीडी इस वक्त करीब 500 की हो चुकी है। हर दिन इतने मरीज आ रहे हैं। ऐसे में हर दिन करीब 5 से 8 मरीज ऐसे आते हैं जिनको पहले केजुअल्टी में कुछ वक्त के लिए रखकर देखने की जरूरत होती है। इसके बाद मरीज को जरूरत पडऩे पर अस्पताल में दाखिल किया जाता है या हायर सेंटर रेफर करते हैं।

आईसोलेशन भवन पूरा होने के बाद किया जाएगा फैसला
डॉक्टर पीयाम सिंह, प्रभारी, सिविल हॉस्पिटल ने बताया कि सुपेला 20 बिस्तर आईसोलेशन भवन का काम पूरा होने के बाद केजुअल्टी को लेकर नई व्यवस्था की जाएगी। अभी इसको लेकर मंथन किया जा रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

सिर्फ पेट्रोल और डीजल ही नहीं, पांच चीजें हुईं सस्ती, केरल सरकार ने भी घटाया वैट, चेक करें आपके शहर में क्या हैं दामQuad Summit 2022: प्रधानमंत्री मोदी का जापान दौरा, क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन से अहम मुलाकात, जानें और किन मुद्दों पर होगी बात'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीRam Mandir : पांच गुम्बद वाला दुनिया का अकेला होगा राम मंदिर, जाने अलग दिखने वाली विशेषताएंपैंगोंग झील पर जारी गतिरोध के बीच रेलवे ने क्यों दिया सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट?IPL 2022 Point Table: गुजरात, राजस्थान, लखनऊ और बैंगलोर ने प्लेऑफ में बनाई जगहIPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंजून के अंत में आएगी कोरोना की चौथी लहर? जानिए AIIMS के पूर्व डायरेक्टर ने क्या दिया जवाब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.