Breaking news 60 प्लस के साठ फीसदी ने ही लगवाए कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज

हेल्थ और फ्रंट लाइन वर्कर्स भी सौ फीसदी नहीं लगवाए वैक्सीन.

By: Abdul Salam

Published: 12 Jul 2021, 08:49 AM IST

भिलाई. जिला में कोरोना का वैक्सीन लगवाने को लेकर जागरूकता की कमी है। यही वजह है कि बड़ी संख्या में लोगों ने टीके का पहला डोज ही नहीं लगवाया है। वहीं जिन्होंने पहला डोज लगवा लिया है, वे दूसरा डोज लगवाने को लेकर उत्साहित नहीं है। 60 प्लस के 1,24,746 बुजुर्गों ने कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगवाया। इसमें से सत्तर हजार से अधिक लोगों को उस वक्त पहला डोज लगा दिए थे जब बुजुर्गों को मार्च 2021 में कोरोना का वैक्सीनेशन शुरू किए थे। कमोबेश ऐसा ही हाल 45 प्लस के लाभार्थियों का भी है।

42 दिन में लगाया जा रहा था दूसरा डोज
मार्च और अप्रैल 2021 में जिन बुजुर्गों को कोरोना के टीके का पहला डोज दिया जा रहा था, उनको दूसरा डोज 42 दिनों में ले लेने का निर्देश था। अप्रैल तक करीब सवा लाख बुजुर्गों ने वैक्सीन का पहला डोज लगवा लिया था। वहीं दूसरा डोज पच्चीस हजार के आसपास लोग ही लगवाने सेंटर तक पहुंचे थे। इस तरह से वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने को लेकर बुजुर्गों में उत्साह बेहद कम है। अब उनको जागरूक करने की जरूरत है। जिससे देर से ही सही पर टीके का दूसरा डोज वे लगवा लें।

65 फीसदी ने नहीं लगवाया दूसरा डोज
45 प्लस के करीब दो लाख से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगाया जा चुका है। 1 अप्रैल 2021 से 45 प्लस को कोरोना का टीका लगाना शुरू किए। तब 42 दिन में दूसरा डोज लगवाने के लिए कहा गया। सेंटरों में टीका उस वक्त मौजूद था। 18 मई 2021 के बाद दूसरा डोज को 42 दिनों से बढ़ाकर 84 दिन किया गया। इस बीच जिनका 442 दिन पूरा हो चुका था, उसमें से अधिकतर लोग दूसरा डोज लगवाने के लिए सेंटर नहीं पहुंच रहे थे। इसके पीछे बड़ी वजह संक्रमितों की संख्या में गिरावट रही है। संक्रमितों की संख्या घट रही थी, तब लोगों के मन से कोरोना का डर कम होता गया। 45 प्लस के अब तक करीब दो लाख लोगों ने कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगवाया है। वहीं दूसरा डोज महज सत्तर हजार के आसपास लोग ही लगवाए हैं।

हेल्थ और फ्रंट लाइन वर्कर्स भी सौ फीसदी नहीं लगवाए वैक्सीन
जिला में हेल्थ वर्कर्स और प्रंट लाइन वर्कर्स भी पहला और दूसरा डोज सौ फीसदी नहीं लगवाए हैं। अब तक हेल्थ वर्कर्स करीब 22 फीसदी और फ्रंट लाइन वर्कर्स करीब चालीस फीसदी ने दूसरा डोज नहीं लगवाया है। जिला में 20,258 हेल्थ वर्कर्स ने कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगवाया। उनको 28 दिनों में दूसरा डोज लगवा लेना था अब तक सिर्फ 15,554 लाभार्थियों ने ही दूसरा डोज लगवाया है। इसी तरह से 26,011 फ्रंट लाइन वर्कर्स ने कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगवाया इसके बाद दूसरा डोज अब तक महज 16291 ने ही लगवाया।

जिला में 7.5 लाख डोज लग चुका है टीका
जिला में कोरोना की वैक्सीन 7,50,003 डोज लगाई जा चुकी है। जिसमें पहला डोज 5,87,757 लाभार्थियों ने लगवाया है। वहीं दूसरा डोज सिर्फ 1,62,246 ने ही लगवाया है। शेष को दूसरा डोज लगाया जाना था।

Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned