scriptPassengers yearning for hot breakfast in Power House Railway Platform | Bhilai पावर हाउस रेलवे प्लेटफार्म में तरस रहे मुसाफिर गरमा-गरम नाश्ता को | Patrika News

Bhilai पावर हाउस रेलवे प्लेटफार्म में तरस रहे मुसाफिर गरमा-गरम नाश्ता को

हर दिन ठहर रही 24 से अधिक गाडिय़ां.

भिलाई

Updated: November 02, 2021 09:55:36 pm

भिलाई. ट्रेन में सफर करने वाले मुसाफिरों को पावर हाउस रेलवे प्लेटफार्म में नास्ता के लिए तरस जाना पड़ता है। कोरोना महामारी के बाद से ही यात्री पावर हाउस रेलवे स्टेशन में ट्रेन खड़ी होते साथ ही उतरकर गरमा-गरम नाश्ता तलाशने के बाद निराश होकर लौट जाते हैं। यहां अब दूथ के आयटम मिलना शुरू हो रहा है। यात्री चाहते हैं कि स्टेशन में कम से कम चाय और नाश्ता मिलना चाहिए। जिससे ट्रेन का इंतजार करने वाले और ट्रेन खड़ी होने पर मुसाफिरों को इसका फायदा मिले।

Bhilai पावर हाउस रेलवे प्लेटफार्म में तरस रहे मुसाफिर गरमा-गरम नाश्ता को
Bhilai पावर हाउस रेलवे प्लेटफार्म में तरस रहे मुसाफिर गरमा-गरम नाश्ता को

लोकल और स्पेशल एक्सप्रेस दौड़ रही
पावर हाउस रेलवे स्टेशन में हर दिन करीब आधा दर्जन से अधिक लोकल दुर्ग और रायपुर के मध्य दौडऩे के दौरान यहां ठहरती है। इसके अलावा 17 से अधिक स्पेशल ट्रेन भी यहां रुकती है। जिसमें आने व जाने वाली दुर्ग-पुरी, अहमदाबाद-पुरी, जयपुर पुरी, इंटरसिटी समेत अन्य एक्सप्रेस शामिल हैं।

स्टेशन के बाहर मिलता है नाश्ता और भोजन
पावर हाउस रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-एक और दो दोनों में ही कम से कम दो-दो कैंटीन की जरूरत है। स्टेशन में मुसाफिरों को नाश्ता, चाय, पानी, चाकलेट के लिए प्लेटफार्म से बाहर जाना पड़ता है। जिससे ट्रेन के छूट जाने का डर बना रहता है। यह चीजें प्लेटफार्म के भीतर ही मिल जाए तो मुसाफिरों के लिए राहत हो। पावर हाउस रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक-एक से बाहर निकलने पर नाश्ता के साथ-साथ भोजन भी मिलता है। मुसाफिर चाहते हैं कि चाय-नाश्ता और भोजन उनको सीट तक लाकर दिया जाए। अकेले सफर करने वाले स्टेशन में उतरना पसंद नहीं करते। इससे उनके सामान के चोरी होने की आशंका बनी रहती है।

लंबे समय से की जा रही मांग
कोरोना महामारी के बाद पावर हाउस रेलवे स्टेशन के दोनों ही प्लेटफार्म में अब मुसाफिरों को नाश्ता मिले। लंबे समय से यह मांग की जा रही है। हर दिन पावर हाउस रेलवे स्टेशन से करीब पांच हजार मुसाफिर विभिन्न ट्रेनों में सफर के लिए चढ़ते हैं।

हर दिन बिक रही 1.5 लाख की टिकट
पावर हाउस रेलवे स्टेशन से हर दिन करीब 1.5 लाख रुपए टिकट बिकती है। यहां से हजारों मुसाफिर सफर करते हैं। जिनके लिए अब तक रेलवे ने चाय, नाश्ता का इंतजाम नहीं है। रेलवे स्टेशन में नई कैंटीन शुरू हो जाए तो लंबी दूरी तक सफर करने वालों को राहत मिल जाए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.