पत्रिका अमृतम् जलम : जीवन दायिनी शिवनाथ को प्रदूषण से बचाने सामने आए लोग : Video

पत्रिका अमृतम् जलम : जीवन दायिनी शिवनाथ को प्रदूषण से बचाने सामने आए लोग : Video

Satyanarayan Shukla | Publish: May, 20 2019 07:45:00 AM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

शिवनाथ के महमरा एनीकट में पत्रिका परिवार ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों व हर वर्ग के लोगों के साथ श्रमदान कर जलस्रोतों को सहेजने के लिए लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया। पत्रिका की पहल लोगों के लिए प्रेरणा का काम किया और हर वर्ग के लोगों ने जुड़कर एनीकट की सफाई की।

दुर्ग/भिलाई@Patrika. सामाजिक सरोकार के तहत पत्रिका ने जन उपयोगी जलस्रोतों का सहेजने के संकल्प के साथ देशभर में रविवार को एक साथ यह अभियान चलाया गया। इस क्रम में शिवनाथ के महमरा एनीकट में पत्रिका परिवार ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों व हर वर्ग के लोगों के साथ श्रमदान कर जलस्रोतों को सहेजने के लिए लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया। पत्रिका की पहल लोगों के लिए प्रेरणा का काम किया और हर वर्ग के लोगों ने जुड़कर एनीकट की सफाई की। अगले चरण में भागीदारी निभाने और दूसरे जलस्रोतों को भी सुरक्षित करने का संकल्प लिया।

इसलिए चुना शिवनाथ का महमरा एनीकट
शिवनाथ के महमरा एनीकट से दुर्ग व भिलाई नगर निगम को क्रमश: 35 व 77 एमएलडी पानी पेयजल के लिए सप्लाई होती है। एनीकट पर जिस हिस्से की सफाई की गई, वहां दोनों निकायों का इंटकवेल है। इसके अलावा यहां लोग निस्तारी व धार्मिक कार्य भी करते हैं। महमरा एनीकट के बाद अहिवारा, जामुल, धमधा नगरीय निकाय के साथ करीब 72 गांवों को पेयजल व निस्तारी के लिए शिवनाथ से पानी मिलता है। एनीकट के हिस्से को प्रदूषण मुक्त कर बड़ी आबादी को राहत पहुंचाईजा सकती है।

नहाने के लिए पहुंचे लोग भी आए सामने
महमरा एनीकट में महमरा गांव के अलावा दुर्ग के नजदीकी बस्तियों के लोग नहाने के लिए आते हैं। पत्रिका के मुहिम में इन लोगों ने भी शामिल होकर श्रमदान किया। पहले दिन एनीकट पर इंटकवेल वाले हिस्से की सफाई की गई। इस कार्य में करीब दो घंटे का समय लगा।

हटा कचरा तो बदली सूरत
एनीकट के इंटकवेल वाले हिस्से में घाट व पानी के भीतर खरपतवार व झाडिय़ां उग आई थी। इसके अलावा प्लास्टिक व दूसरे कचरे फैल गए थे। धार्मिक कार्यों व पूजा पाठ के सामग्रियों को भी डाल दिया गया था। करीब 2 घंटे के श्रमदान में एनीकट के इस हिस्से से खरपतवार व कचरे को निकाला गया। इससे एनीकट की सूरत ही बदल गई।

 

patrika

विधायक ने चलाया फावड़ा,महापौर ने घमेले में उठाया कचरा
पत्रिका के मुहिम में विधायक अरुण वोरा व महापौर चंद्रिका चंद्राकर ने भी सफाई के कार्य में हाथ बंटाया। विधायक ने फावड़ा थामकर जहां कचरे की सफाई की, वहीं महापौर ने धमेला उठाकर कचरे को उठाकर वाहनों तक पहुंचाने में मदद की।

शिवनाथ बचाओ आंदोलन बना हमराही

पत्रिका के मुहिम में पहले दिन शिवनाथ बचाओ आंदोलन के प्रतिनिधि भी सहयोगी बने। पत्रिका परिवार के साथ आंदोलन के सहयोगियों ने भी पानी में उतरकर कचरे की सफाई की। आंदोलन के प्रतिनिधि लंबे समय से शिवनाथ के प्रदूषण से बचाने की मुहिम चला रहे है। इसी मकसद से आंदोलन द्वारा हर पूर्णिमा शिवनाथ की विशेष आरती कर जागरूकता का संदेशदिया जाता है। एक दिन पहले शनिवार को बु² पूर्णिमा के अवसर पर नदी की महाआरती की गई।

जनप्रतिनिधियों ने भी दिखाई प्रतिबद्धता
राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ नगरीय निकाय व गांवों के जनप्रतिनिधियों ने भी शिवनाथ को बचाने प्रतिबद्धता दिखाई। निगम के लोककर्म प्रभारी दिनेश देवांगन, पर्यावरण प्रभारी विजय जलकारे, कविता तांडी, पूर्वनिगम सभापति डॉ. देवनारायण तांडी, कांग्रेस नेता सीजू एंथोनी, पूर्व पार्षद राजकुमार साहू, पालक संघ के नासिर खोखर, कांग्रेस नेता अबरार पुवार, छत्तीसगढ़ मंच के अध्यक्ष इश्वरसिह राजपूत,आरटीआइ एक्टिविस्ट ज्वाला अग्रवाल ने भी सफाई में भूमिका निभाई।

निगम अमले ने किया सहयोग
अभियान में नगर निगम के अमले ने भी सफाई के लिए औजार व कचरा ट्रेचिंग ग्राउंड तक पहुंचाने वाहन उपलब्ध कराकर सहयोग किया। सफाई से भारी मात्रा में कचरा व खरपतवार निकाला गया। इसे निगम के आटो टिपर्स के माध्यम से उठाया गया और ट्रेचिंग ग्राउंड पहुंचाया गया।

patrika

पत्रिका तालाबों को बना चुका है प्रदूषणमुक्त

पत्रिका परिवार अमृतम जलम अभियान के तहत पिछले 8 साल से तालाब में सफाई अभियान चला रहा है। अभियान के तहत अब तक पत्रिका शहर के दो उपयोगी तालाबों शक्ति नगर तालाब और दीपक नगर के पुजेरी तालाब को प्रदूषण मुक्त कर चुका है। पत्रिका की पहल पर शक्ति नगर के युवाओं ने तो तालाब की नियमित सफाई का बीड़ा उठा रखा है।

शिवनाथ से दुर्ग व भिलाई के साथ बड़ी आबादी की प्यास बुझती है। इसे प्रदूषण से बचाने की जरूरत है। पत्रिका ने इसकी सफाई का बीड़ा उठाकर बड़ा काम किया है। मैं स्वयं नगर निगम परिवार के साथ इसमें जुड़कर भागीदारी निभाउंगी। नदी को प्रदूषण से बचाने निगम प्रशासन की ओर से जो भी संभव होग सभी कार्य कराए जाएंगे।

चंद्रिका चंद्राकर महापौर, दुर्ग

पत्रिका अपने सामाजिक दायित्वों को पूरी गंभीरता के साथ निभा रहा है। इसमें भागीदार बनकर अच्छा लग रहा है। पत्रिका के प्रयास को व्यर्थ नहीं जाने दिया जाएगा। महापौर के निर्देश के मुताबिक एनीकट को भविष्य में प्रदूषण से बचाने व यहां आने वाले लोगों की सुविधाओं के लिए व्यवस्था की जाएगी।

दिनेश देवांगन, दुर्ग निगम लोककर्म प्रभारी

पत्रिका की पहल से हमारे शिवनाथ बचाओ आंदोलन को बल मिला है। अब हमें पूर्ण विश्वास है कि शिवनाथ को प्रदूषण से बचाने सफलता जरूर मिलेगी। शिवनाथ बचाओ आंदोलन इस मुहिम में पूरी गंभीरता से भागीदारी निभाएगा। इस अभियान को महमरा एनीकट के अलावा शिवनाथ के दूसरे हिस्सों में भी बढ़ाया जाएगा।

संजय मिश्रा, संयोजक-शिवनाथ बचाओ आंदोलन

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned