भिलाई. भिलाई से लगे हुए गांव पुरई के नन्हे तैराक अब गुजरात के गांधीनगर में अंतरराष्ट्रीय स्विमिंग ट्रेनिंग सेंटर में तैराकी की बारीकियों को सीखेंगे। शनिवार को भारतीय खेल प्राधिकर रायपुर की इंचार्ज गीता पंत एवं रविन्द्र बाकी ने गांव आकर इन बच्चों के पैरेंट्स से लिखित अनुमति ली। गांव पहुंची इंचार्ज ने बताया कि पैरेटं्स की परमिशन के बाद अब सारी कागजी कार्रवाई शुरू हो जाएगी और जल्द ही इन सभी 12 बच्चों का गांधीनगर स्थित स्विमिंग ट्रेनिंग सेंटर में एडमिशन कराया जाएगा। इन बच्चों के पैरेट्स को यकीन ही नहीं हो रहा है कि उनके बच्चे गांव के छोटे से डोंगिया तालाब से निकलकर इंटरनेशनल ट्रेनिंग सेंटर तक पहुंच गए है। इन बच्चों की आंखों के सपने और उनकी प्रतिभा को पत्रिका ने ही सबसे पहले खबर के रूप में सामने लाया था। पत्रिका ने 2016 से ही खबर के जरिए बताया था कि इनकी प्रतिभा विलक्षण है। पिछले वर्ष जब गांव के सरपंच ने जब इन बच्चों की तैराकी पर प्रतिबंध लगा दिया तब पत्रिका ही इनकी आवाज बनकर सामने आई और उस वक्त तक खड़ी रही जब तक इनकी आवाज खेल मंत्रालय तक नहीं पहुंची। इन बच्चों का साथ देने शहर की संस्था जनसुनवाई फांउडेशन भी सामने आई और संस्था ने बच्चों की आवाज को पीएम तक पहुंचाया।
पत्रिका@मोहम्मद नसीम फारूकी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned