PCI ने छत्तीसगढ़ के 37 नए फार्मेसी कॉलेजों को मान्यता देने से किया इनकार, कोरोना महामारी ने बढ़ाई फार्मेसी प्रोफेशन की मांग

Pharmacy council of India: देश में फार्मेसी कॉलेजों का कोटा तय है। 50 कॉलेज से अधिक को मान्यता नहीं दी जा सकती। जबकि छत्तीसगढ़ यह संख्या बीते दो साल पहले ही पार कर चुका है।

By: Dakshi Sahu

Published: 21 Aug 2021, 11:23 AM IST

भिलाई. कोरोना महामारी ने फार्मेसी प्रोफेशनल की मांग बढ़ा दी है। यही वजह थी कि छत्तीसगढ़ के कॉलेज संचालकों ने 37 नए फार्मेसी कॉलेज शुरू करने का आवेदन कर दिया लेकिन फार्मेसी कांउसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) ने इनको मान्यता देने से इनकार कर दिया है। प्रदेश में फार्मेसी कॉलेजों का कोटा तय है। 50 कॉलेज से अधिक को मान्यता नहीं दी जा सकती। जबकि छत्तीसगढ़ यह संख्या बीते दो साल पहले ही पार कर चुका है। यानी नए फार्मेसी कॉलेजों में कोटा अड़चन बना। बताया जा रहा है कि मान्यता के लिए संचालकों ने न्यायलय का दरवाजा खटखटाया है, लेकिन अभी सुनवाई नहीं हो पाई है। बहरहाल, बिना मान्यता विवि इनको संबद्धता जारी नहीं करेगा। यानी इस साल नए 37 फार्मेसी कॉलेजों का शुरु हो पाना मुमकिन नजर नहीं आ रहा है।

Read More: इस साल आसान नहीं है कॉलेज में एडमिशन की डगर, ओपन बुक पैटर्न में बोर्ड एग्जाम से कट ऑफ होगा 97 फीसदी से पार ....

सिर्फ एक को मिली मान्यता
इस साल छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय से संबद्धता लेने 39 कॉलेज ने आवेदन दिया था, जिसमें से 37 नए फार्मेसी कॉलेजों के लिए आवेदन थे। इनमें से पीसीआई ने रायपुर के एक संस्थान को ही मान्यता दी है, जबकि 37 को रिजेक्ट कर दिया गया। एक अन्य संस्था को सीएसवीटीयू ने एमबीए के लिए संबद्धता दी है। अभी विवि 30 अगस्त तक संबद्धता जारी करेगा। यदि नए कॉलेजों को पीसीआई मान्यता दे देता है तो ठीक है, अन्यथा नए कॉलेजों को शुरू करने का अरमान अब अगले साल ही पूरा हो सकेगा।

...तो बढ़ जाती 3740 सीटें
प्रदेश में बीते 10 वर्षों में जितने फार्मेसी कॉलेज खुले, उतने एक साल में खुल जाते। इन 37 नए कॉलेजों में बी और डी फार्मेसी की 3740 सीटें होती। बता दें कि कॉलेज शुरू करने के लिए विवि ने संचालकों को एनओसी जारी कर दिया था, पर मामला पीसीआई की मान्यता पर अटक गया। यही नहीं विवि ने इन कॉलेजों को संबद्धता निरीक्षण के लिए भी कहा था, लेकिन किसी ने भी प्रक्रिया पूरी नहीं की। कुलसचिव, सीएसवीटीयू डॉ. केके वर्मा ने बताया कि फार्मेसी के 37 नए कॉलेज शुरू करने आवेदन मिल थे, पर पीसीआई ने इनको मान्यता जारी नहीं की। 30 अगस्त तक विवि संबद्धता जारी करेगा। यदि इसके पहले मान्यता लाने में कामयाब हो गए तो ठीक है, वर्ना संबद्धता भी नहीं दिया जाएगा। प्रक्रिया अगले साल पूरी होगी।

इस तरह बढ़ती गई फार्मेसी की सीटें...
सत्र - प्रवेश क्षमता
2015-16 - 1278
2016-17 - 1230
2017-18 - 1462
2018-19 - 2418
2019-20 - 4202

फैक्ट फाइल -
सीएसवीटीयू से संबद्ध फार्मेसी कॉलेज - 40
प्रदेश में अन्य फार्मेसी कॉलेज - 9
पीसीआई का प्रदेश में कॉलेज कोटा - 50
नए कॉलेज खोलने आवेदन - 37
नए कॉलेजों में कितनी सीटें - 3740
पहले से फार्मेसी की कुल सीटें - 4203

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned