आरोपी ने कबूला PDS का चावल पर थाने पहुंचकर खाद्य विभाग के अधिकारियों ने दे दी क्लीनचिट, बोले बदनाम करती है पुलिस

दुर्ग जिले मे पीएडीएस के चावल की तस्करी धड़ल्ले से हो रही है। सूचना मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई की तो खाद्य विभाग ने पुलिस पर आरोप लगा दिया कि पीडीएस का बोलकर पुलिस बदनाम करती है।

By: Dakshi Sahu

Published: 30 Jan 2021, 02:22 PM IST

भिलाई. दुर्ग जिले मे पीएडीएस के चावल की तस्करी धड़ल्ले से हो रही है। सूचना मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई की तो खाद्य विभाग ने पुलिस पर आरोप लगा दिया कि पीडीएस का बोलकर पुलिस बदनाम करती है। सोमवार को जेवरा चौकी प्रभारी बीपी शर्मा ने पीडीएस चावल परिवहन करने की मुखबिर की सूचना पर माल वाहक सीजी- 04 जेसी 7821 को चालक के साथ पकड़ लिया। पूछताछ में चालक ने पुलिस को बताया कि गाड़ी और चावल खुर्सीपार जोन-2 निवासी चावल तस्कर शिव शर्मा की है। शिव शर्मा ने खुर्सीपार से पीडीएस चावल को गाड़ी में लोड कराया है। मौके पर चावल के संबंध में चालक के पास कोई बिल नहीं था और न ही गाड़ी से संबंधित दस्तावेज प्रस्तुत कर सका। पुलिस ने गाड़ी को चौकी में खड़ी करा दी। धारा 102 के तहत जब्त कर लिया।

खाद्य विभाग ने कहा जूट के बोरे में नहीं इसलिए पीडीएस का नहीं
पीडीएस चावल की जांच के लिए खाद्य विभाग और खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम को इसकी सूचना दी। घटना के करीब 4 घंटे बाद नान व खाद्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची। चावल को जैसे ही सफेद बोरी में देखा उसे पीडीएस का होने से ही इनकार कर दिया। पुलिस कहती रही कि पहले इसकी जांच तो करिए, लेकिन खाद्य विभाग ने लिखित में दे दिया कि यह पीडीएस चावल जैसा नहीं लग रहा है। पुलिस ने बिना कार्रवाई किए 102 में चावल की जब्ती कर छोड़ दिया।

आधी रात गोदाम में छापा मारकर संदेह में 25 क्विंटल पीडीएस चावल जब्त किया
छावनी टीआई गोपाल वैश्य ने बताया कि रविवार और सोमवार की दरम्यानी रात 3 बजे सूचना मिली कि मारुति शोरुम के पास जीई रोड के पीछे कैम्प-1 आदर्श मार्केट निवासी प्रमेश गोडाम पिता दिलीप गेडाम ने गोदाम बनाकर पीडीएस का चावल डंप किया है। रात में करीब 3.45 बजे पेट्रोलिंग टीम ने दबिश दी। जहां 54 कट्टा सफेद बोरी में 25 क्विंटल चावल था। गेडाम के पास में चावल के संबंध में किसी प्रकार का दस्तावेज नहीं था। पीडीएस चावल के संदेह पर थाना लाया गया। धारा 102 के तहत उसकी जब्ती की गई। इसकी सूचना खाद्य विभाग और नागरिक आपूर्ति निगम को दी गई। एसडीएम के माध्यम से पीडीएस चावल की जांच कराने प्रतिवेदन भेजा गया है।

एएसपी के प्वाइंट पर पेट्रोलिंग ने की कार्रवाई
पुलिस ने बताया कि एएसपी द्वारा जांच करने का आदेश मिला, उसी आधार पर मारूति शोरुम के पास गोदाम में दबिश दी गई। जहां एक गाड़ी में आधी रात को सफेद बोरियों में चावल लोड किया जा रहा था। उसी दौरान उसे पकड़ लिया। गोदाम की जांच की तो 54 कट्टा चावल पकड़ाया। उसे जब्त कर थाना लाया गया।

1500 क्विंटल की रोज हो रही कालाबाजारी
दुर्ग भिलाई में करीब 15 तस्कर पीडीएस चावल की कालाबाजारी कर रहे हैं। 30 से 35 कोचिए इस कालाबाजारी में लिप्त हैं। जानकारों के मुताबिक ट्विनसिटी से रोज करीब 1500 क्विंटल पीडीएस चावल की तस्करी कर दलालों के गोदाम तक पहुंचा रहे है। उन दलालों के माध्यम से यही चावल मिल तक पहुंचा दिया जाता है। इसके बाद यही चावल दूसरे राज्यों जैसे आध्राप्रदेश और महाराष्ट्र में खपाया जाता है। विवेक शुक्ला, सीएसपी दुर्ग ने कहा कि चावल जब्त कर खाद्य विभाग और नान को पीडीएस जांच के लिए सूचना दी गई। उनकी टीम पहुंची और जांच की। लिखकर दे दिया कि यह पीडीएस का चावल नहीं है। जबकि चालक ने पीडीएस चावल खुर्सीपार से लोड करना स्वीकार किया। खाद्य विभाग के अधिकारी कार्रवाई क्यों नहीं करते यह समझ से परे है।

सीधी बात: सीपी दिपांकर, खाद्य नियंत्रक
सवाल-पीडीएस के चावल तस्करों की गाडिय़ों को पुलिस आए दिन परिवहन करते हुए पकड़ती है, लेकिन खाद्य विभाग सैंपल जांच में उन्हें क्लीनचिट दे देता है। आखिर खाद्य विभाग कार्रवाई क्यों नहीं करता।
जवाब- देखिए हमारे हिसाब से जब तक राइस मिलर का टैग नहीं है, जूट बोरा में नहीं है तो वह पीडीएस का चावल नहीं है। अथवा हमारे किसी दुकान से निकला हो तो तब पीडीएस का चावल है।
सवाल- 30 क्विंटल जेवरा और 25 क्विंटल छावनी पुलिस ने संदेह पर पीडीएस चावल तस्करों को पकड़ा है। आपके विभाग ने उसे पीडीएस का चावल होने से इनकार कर दिया?
जवाब- पुलिस वाले पकड़े है तो उसे प्रूफ करे। पुलिस चावल पकड़ लेती है और पीडीएस का बोलकर बदनाम करती है। हम पूछते हंै कि आज तक कोई राशन दुकान वाले ने बताया है क्या कि इस दुकान से पीडीएस चावल निकला है।
सवाल-चावल के साथ पकड़ा गया वाहन चालक पुलिस को स्पष्ट बता रहा है कि यह पीडीएस का चावल है। कहां से लाया और किस दुकान से लाया यह पता करना तो खाद्य विभाग का काम है?
जबाव-परिवहन करते हुए पकड़े गए चावल में पीडीएस कही लिखा है क्या? खाद्य विभाग क्यों पता करेगा। खाद्य विभाग की दुकान से चोरी हुई ही नहीं है।
सवाल-इसके पहले गोदाम संचालक नीरज अग्रावल के ट्रक को पुलिस ने पकड़ा। वह चावल पीडीएस समतुल्य खाद्य विभाग को कैसे मिला?
जबाव- वह समतुल्य मिला था। देखिए किसी मामले में कार्रवाई हो गई तो उसके बारे में हम टिका टिप्पणी नहीं करते। जब हमारे पास आएगा तब हम देखेंगे।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned