बेटे को पुलिस बनाने महिलाएं उतर गईं इस धंधे में, पांच महिलाओं के साथ बेटा भी पहुंचा जेल

पुलिस ने बीती रात दबिश देकर पांच महिलाएं कच्ची शराब बनाते गिरफ्तार किया। इनके कब्जे से पांच मटके और 7 गंज बरामद किए गए हैं।

भिलाई. पुलिस ने बीती रात दबिश देकर पांच महिलाएं कच्ची शराब बनाते गिरफ्तार किया। इनके कब्जे से पांच मटके और 7 गंज बरामद किए गए हैं। इनके खिलाफ धारा 34 (ए) आबकारी एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया है।

कच्ची शराब, सड़ा हुआ चावल और रानू गोली जब्त

खुर्सीपार थाना पुलिस ने बताया कि मुखबीर से सूचना मिली कि बापू नगर में महिलाएं हंडिया पर कच्ची शराब बनाती हैं। उसकी अवैध बिक्री कर रही है। टीम ने अलग-अलग रात में उनके घर पर दबिश दी। आरोपी धर्मी महतो (४८), चरकी अहीर (३०), सुगंधी गोसाई (६०), चंपा बहादुर (६२) और झरिया यादव को पकड़ा। महिलाओं के घर से कच्ची शराब, सड़ा हुआ चावल और रानू गोली को जब्त किया है।

पीडीएस के चावल से बनाई जा रही थी शराब
महिलाएं हडिय़ा में कच्ची शराब बना रही थी। पुलिस की पूछताछ में बताया कि पीडीएस दुकान से चावल खरीदती थी। उसी चावल से शराब बनाती थी।

बेटा को पुलिस बनाना चहती थी, झारखंड में यह पारंपरिक धंधा है
आरोपी धर्मी महतो ने बताया कि झारंखड में यह हमारा पारंपरिक धंधा है। वहां पर सभी कच्ची शराब बनाते हैं। इससे पीने से नशा कम होता है। मेहनतकश लोग इसे पीते हैं जिससे उनका पेट ठंडा रहता है। उसने बताया कि पति का निधन हो गया। बेटा को पुलिस बनाना चाहती हूं। उसी की तैयारी के लिए कच्ची शराब बनाती हूं। मोहल्ले के लोग ही इसे खरीदते हैं।

ऐसे बनाती थी शराब
एक बड़े गंज में 5 किलो की मात्रा में चावल को सड़ाते हैं। झारखंड मनहरपुर से जड़ी-बूटी लाकर रामू गोली बनाते हैं। नशा तेज करने के लिए उसमें मिला देते हैं। फिर उसे पका देते थे। पकाने के बाद 10 लीटर कच्ची शराब बन जाती थी। एक गिलास 10 रुपए में बेच देते थे। अलग अलग महिलाएं अपने घर में कच्ची शराब बनाने का कारोबार कर रही थी।

 

Satya Narayan Shukla
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned