डिलिवरी ब्वाय और नाबालिग चोरों का गिरोह, खाना पहुंचाने के बहाने पहले रेकी फिर रात में ताला तोड़कर घुसते थे सूने घरों में

Theft in Bhilai: पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 3 लाख 25 हजार रुपए का मशरूका बरामद किया है। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर उनको न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया।

By: Dakshi Sahu

Published: 11 Apr 2021, 01:08 PM IST

भिलाई. ट्विनसिटी Bhilai के रिसाली निगम क्षेत्र में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह का नेवई पुलिस ने पर्दापाश किया है। शातिर आरोपी लोगों के घर पर ऑनलाइन खाना पहुंचाने के बहाने सूने मकान की रेकी करते थे। इसके बाद वारदात को अंजाम देते थे। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 3 लाख 25 हजार रुपए का मशरूका बरामद किया है। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर उनको न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया। Bhilai nagar सीएसपी राकेश जोशी ने बताया कि रिसाली क्षेत्र में लगातार चोरी की घटनाएं हो रही थी। नेवई टीआई भावेश साव के नेतृत्व में टीम गठित कर संदिग्धों पर नजर रखी गई। संदेह के आधार पर आरोपी सेक्टर-6, सड़क-58, क्वार्टर-ई 5 के मुख्य सरगना विवेक सोनी को पकड़ा गया। विनोद जनरेटर चालू करने का काम करता है। उसके बाद सड़क-60, क्वार्टर-32 सी निवासी पी शेखर, मयानगर निवासी संजय गिरी, पानी टंकी पास रिसाली के प्रवेश सकुले (डिलिवरी ब्वाय) और दो नाबालिग पकड़े गए। आरोपियों से पूछताछ की गई। चोरी करना स्वीकार किया। आरोपियों की निशानदेही पर चोरी की 3 लाख 25 हजार रुपए कीमती मशरुका बरामद किया गया। (Bhilai police)

Read more: भिलाई स्टील प्लांट में 60 किलो कॉपर चोरी, CISF जवानों ने किया पीछा तो फिल्मी अंदाज में कार छोड़कर भागा आरोपी ....

ऐसे देते थे वारदात को अंजाम
पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि प्रवेश सकुले रिसाली क्षेत्र में ऑनलाइन खाना सप्लाई करने का काम करता था। इसी दौरान सूने मकानों की रेकी करता था। इसके बाद दिन या रात में सही मौका देखर चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। एक व्यक्ति को बाहर रेकी के लिए बैठा देते थे। ताला को लोहे की राड से तोड़ते थे। इसके बाद घर में घुस जाते थे।

नाबालिगों को बनाते थे चौकीदार
पुलिस ने बताया कि lockdown का फायदा उठाकर मुख्य सरगना विवेक सोनी ने पहले चोरी किया। इसके बाद सेक्टर-6 के युवकों और दो नाबालिक को गिरोह में शामिल किया। जिस घर में चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। उस घर के आस पास में नाबालिगों को चौकीदारी करने के लिए रखा था।

इन घरों में की चोरी
आकांशी कुंज निवासी रायपुर में महिला एवं बाल विकास विभाग के ज्वाइन डायरेक्टर सुरेन्द्र चौबे के घर में चोरी की थी। नकदी, ज्वेलरी, कैमरा, घड़ी समेत अन्य सामान लाखों की चोरी कर फरार हुए थे। यहां 6 आरोपियों ने मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। मैत्री कुंज निवासी अग्रवाल टाइपिंग के घर से 11 हजार की चोरी की थी। वहीं 31 मार्च को रिसाली दयानगर निवासी दिनेश बारले (29 वर्ष) के घर में दिन दहाड़े चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। मोबाईल, 2 पावर बैंक, 1 घड़ी करीब 5 हजार नकद चोरी की थी। एएसपी शहर संजय धु्रव ने बताया कि रिसाली क्षेत्र में चोरी की घटना की लगातार शिकायत मिल रही थी। टीम को ऐसे संदिग्धों पर नजर रखने कहा जो आस पास के एरिया में ऑनलाइन सामान की सप्लाई करते है। टीआई की टीम ने इस बीच एक डिलिवरी ब्वाय को संदिग्ध पाया। उसे गिरफ्तार कर पूछताछ की। तीन बड़ी चोरी का खुलासा हुआ।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned