ट्रेसिंग टीम को परेशान कर रहे संक्रमित, परिवार की जांच में बाधा

जिला में नए मरीज मिले 50, अब तक 633 कोरोना संक्रमितों की गई जान.

By: Abdul Salam

Updated: 23 Feb 2021, 10:51 PM IST

भिलाई. जिला में मंगलवार को कोरोना के 50 नए मरीज मिले। अब तक 27655 लोग संक्रमित हुए। जिसमें से 26178 मरीज ठीक हो चुके हैं। अब तक 633 कोरोना संक्रमितों की जान जा चुकी है। प्रदेश में राजधानी के बाद सबसे अधिक मौत दुर्ग में रहने वालों की हुई है। कोरोना के केस में कमी आने के बाद फिर एक बार इजाफा हो रहा है। वहीं लोग कोविड-19 की जांच कराने से अभी भी बच रहे हैं।

इस क्षेत्र में मिल रहे मरीज
श्याम चौक में रहने वाले एक ही परिवार के दो सदस्य संक्रमित मिले हैं। इसी तरह से आनंद विहार, दुर्ग में रहने वाले एक ही परिवार के दो सदस्य संक्रमित मिले हैं। टाउनशिप के सेक्टर-7, 3, 2, 5, 10, सिविक सेंटर, रिसाली सेक्टर, तालपुरी, रुआबांधा सेक्टर शामिल है।

मोबाइल कर रहे बंद
लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में मौजूद ट्रेसिंग टीम संक्रमितों को फोन कर उनके परिवार में कितने सदस्य हैं। उनकी जांच कराने को लेकर फोन कर रही है। इस पर पॉजिटिव मरीज होम आइसोलेशन में रहने के दौरान फोन बंद कर दे रहे हैं। इसके बाद टीम टाउनशिप में उनका पता पूछते हुए घर तक पहुंच रही है। इसमें खासी परेशानी हो रही है। मोबाइल बंद करने की शिकायत सबसे अधिक टाउनशिप क्षेत्र से आ रही है। ट्रेसिंग टीम छुट्टी के दिन भी आकर अपने काम को अंजाम दे रही है, वहीं मरीजों का उनके साथ व्यवहार बेहतर नहीं है।

जांच नहीं करवाना चाहता परिवार
परिवार के एक सदस्य के संक्रमित निकलने के बाद भी परिवार के अन्य सदस्य कोविड-19 जांच कराने से कतरा रहे हैं। वे तर्क दे रहे हैं कि किसी तरह से लक्षण नहीं है। इसके बाद भी जांच क्यों करवाएं। इसी तरह से कुछ लोग परिवार में कितने सदस्य हैं, यह जानकारी देने से मना कर रहे हैं।

दूसरों का दे रहे नंबर
कोविड-19 जांच कराने आ रहे बहुत से मरीज दूसरों का मोबाइल नंबर दे रहे हैं। जिसकी वजह से ट्रेसिंग टीम को उनकी पूरी जानकारी नहीं मिल पाती। पता में भी वे केवल भिलाई, छत्तीसगढ़ लिख देते हैं। ऐसे में उन तक पहुंचना टेढ़ी खीर हो गया है। 50 मरीजों में दस फीसदी इस तरह के होते हैं।

COVID-19
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned