सैंपल पेपर कोई भी छाप सकता है, इसलिए सैंपल से नहीं, 10 साल के क्वेशचन पेपर से गणित की तैयारी

पत्रिका की पहल पर शहर के एक्सपट्र्स की टीम स्टूडेंट्स को कुछ ऐसा ही गाइडेंस दे रही है। आज के अंक में गणित की एक्सपर्ट शिक्षका सारम्मा जार्ज बता रही हैं कि कैसे अब शेष रह गए दो महीनों में स्टूडेंट्स मैथ्स में हाई स्कोर गेन कर सकते हैं।

By: Satya Narayan Shukla

Updated: 30 Dec 2018, 10:01 PM IST

भिलाई@Patrika. सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन ने १०वीं और १२वीं परीक्षा का टाइम-टेबल जारी कर दिया है। १२वीं बोर्ड की परीक्षा १५ फरवरी से शुरू होने जा रही है। स्टूडेंट्स ने भी अपनी तैयारी दोगुनी कर दी है। गणित के प्रश्न-पत्र से डरना स्टूडेंट्स में स्वभाविक माना जाता है, लेकिन यदि गणित में बेहतर कर पाए तो भविष्य संवरने की गारंटी भी बन जाती है। सीबीएसई १२वीं के स्टूडेंट्स को तैयारी का फॉर्मूला पता है, जरूरत है तो सिर्फ कुछ ऐसी ट्रिक्स की जो उन्हें एक्स्ट्रा बेनिफिट पहुंचाए। पत्रिका की पहल पर शहर के एक्सपट्र्स की टीम स्टूडेंट्स को कुछ ऐसा ही गाइडेंस दे रही है। आज के अंक में गणित की एक्सपर्ट शिक्षका सारम्मा जार्ज बता रही हैं कि कैसे अब शेष रह गए दो महीनों में स्टूडेंट्स मैथ्स में हाई स्कोर गेन कर सकते हैं। पढि़ए पूरी खबर...

सबसे खास बात जिसे समझ लीजिए
एक्सपर्ट जार्ज का कहना है कि हमेशा स्टूडेंट्स सैंपल पेपर्स के जरिए ही गणित की तैयारी करते हैं, लेकिन इस विषय में ऐसा कम होता है। उन्होंने अपने अनुभव के आधार पर कहा है कि स्टूडेंट्स सीबीएसई के १० साल पुराने क्वेश्चन पेपर्स से तैयारी करें। सैंपल पेपर कोई भी छाप सकता है। बोर्ड ने पैटर्न में वेरीएशन बहुत अधिक नहीं लाया है। सबसे अहम बात यह है कि सीबीएसई की जिन किताबों से आप पढ़ाई कर रहे हैं, उसमें से ही ८५ फीसदी प्रश्न आना तय है। इसलिए बुक्स को अच्छी तरह से सॉल्व करें। बच्चे रेफरेंस बुक बहुत अधिक देखते हैं, जो सही नहीं है। सीबीएसई सिर्फ १५ फीसदी क्वेश्चन ही अलग किताबों से पूछता है।

इसके बाद दीजिए आरडी शर्मा को प्रीफरेंस
गणित की परीक्षा की तैयारी करने के लिए एनसीईआरटीई की गणित की पार्ट 1 और पार्ट 2 किताब का अभ्यास करना बेहद जरूरी है। बोर्ड एक्जाम में आने वाले पेपर के लिए एनसीआरटीई की किताब सबसे अच्छी क्योंकि इससे सभी टॉपिक को बेहतर और आसान तरीके से समझा जा सकता है। एनसीआरटीई की किताब का पूरा अभ्यास करने के बाद परीक्षार्थी चाहें तो आर एस अग्रवाल या आरडी शर्मा से भी अभ्यास कर सकते हैं, लेकिन ध्यान रखें कि ज्यादा किताबों का इस्तेमाल करने से कंफ्यूजन हो सकता है इसलिए किताबों की संख्या सीमित रखें।

क्वेशचन पेपर में होंगे 29 प्रश्न
इस पेपर में गणित के कुल २९ प्रश्न पूछे जाएंगे। सभी प्रश्न हल करना अनिवार्य होगा। प्रश्न क्रमांक १ से ४ तक सेक्शन ए के तहत वेरी शॉर्ट आंसर टाइप के क्वेशचन होंगे, जिसके लिए प्रति प्रश्न १ माक्र्स मिलेगा। ५ से १२ सेक्शन बी में शॉर्ट आंसर टाइप क्वेशचन होंगे, जिसे हल करने पर प्रति प्रश्न २ अंक मिलेंगे। क्वेशचन १३ से २३ तक लॉन्ग आंसर देने होंगे। हर एक प्रश्न पर ४ अंक मिलेगा। आखिरी के ५ प्रश्न सेक्शन डी के तहत लॉन्ग आंसर सेकंड टाइप के प्रश्न होंगे, जिसे हल करने पर ६ अंक मिलना है।

एक्सपर्ट ने कहा, इन प्रश्नों से जरूर देखें
रिलेशन एंड फंगशन - कुल अंक - ६
दो माक्र्स का १ प्रश्न, ४ माक्र्स का १ प्रश्न पूछा जाएगा।

इनवर्स ट्रिगनोमेट्री - कुल अंक - ४
इसमें से ४ अंकों का एक ही प्रश्न पूछा जाएगा।

मैट्रिक्स एंड डिटरमिनेंट - कुल अंक - १३
१ प्रश्न - १ माक्र्स
१ प्रश्न - २ माक्र्स
१ प्रश्न - ४ माक्र्स
(प्रॉपटी ऑफ डिटरमिनन का प्रश्न पूछा जाना तय है)
१ प्रश्न - ६ माक्र्स का होगा। ए-१ से प्रश्न जरूर पूछाजा जाएगा इसलिए तैयारी रखें। इसे लिनियर एक्सेशन मैथड से भी सॉल्व किया जा सकता है।

कैलकुलस - यह सबसे अधिक माक्र्स गेन करने वाला पार्ट है, जिसमें ४४ माक्र्स के प्रश्न पूछे जाएंगे। एप्लीकेशन ऑफ डेरिवेटिव्स से ६ अंक के प्रश्न आना ही है, इसलिए तैयारी अच्छे से कर लें। एरिया अंडर द प्लेइंग क्रव्स में बेहतर तैयार होने पर भी ६ माक्र्स के प्रश्न सॉल्व होंगे। इसी तरह इंटेग्रेशन से भी २ और ४ माक्र्स के क्वेशचन का आना तय है।

वैक्टर्स एंड थ्रीडी - इस चैप्टर से १७ माक्र्स के क्वेशचन का तय है। एक प्रश्न १ माक्र्स का होगा, जबकि एक प्रश्न दो व २ प्रश्न ४ माक्र्स के होंगे। ६ माक्र्स का एक सवाल पूछा जाएगा।

लिनियर प्रोग्रामिंग - यदि आपने इस चैप्टर को बेहतर तरीके से पढ़ा है तो समझ लीजिए कि ६ माक्र्स आपको मिलना ही है। इससे एक प्रश्न आना तय है। इसके साथ ही आखिरी चैप्टर प्रॉबेबिलिटी से १० माक्र्स के प्रश्न पूछे जाएंगे। इसमें बेयेज थिएरम के प्रश्नों की पै्रक्टिस जरूर करें।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned