भिलाई से पहले होगा रिसाली निगम का चुनाव, 23 को वार्डों का आरक्षण, जिला प्रशासन ने शुरू की तैयारी

नवगठित रिसाली नगर निगम का चुनाव भिलाई निगम से पहले होगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। 23 जनवरी को वार्डों का आरक्षण होगा। इसके लिए कलेक्टोरेट में लॉटरी निकाली जाएगी।

By: Dakshi Sahu

Published: 17 Jan 2021, 01:49 PM IST

भिलाई. नवगठित रिसाली नगर निगम का चुनाव भिलाई निगम से पहले होगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। 23 जनवरी को वार्डों का आरक्षण होगा। इसके लिए कलेक्टोरेट में लॉटरी निकाली जाएगी। इसके साथ ही जामुल नगर पालिका में भी चुनाव होगा। जामुल के वार्डों का आरक्षण 22 जनवरी को होगा। पहले भिलाई और रिसाली नगर निगम का चुनाव साथ-साथ होने की संभावना जताई जा रही थी। निर्वाचक नामावली की प्रक्रिया भी साथ-साथ चलती रही। बताया जाता है कि भिलाई निगम के परिसीमन का मामला उच्च न्यायालय में विचाराधीन होने के कारण देरी हो सकती है। ऐसे में जिला प्रशासन ने रिसाली और जामुल नगर पालिका का चुनाव निर्धारित समय पर कराने की तैयारी शुरू कर दी है। पहले यह चुनाव दिसंबर 2020 में संभावित था, लेकिन कोविड-19 संक्रमण की वजह से शासन ने अब जून में प्रस्तावित किया है। चुनाव होने वाले सभी निकायों में अभियान चलाकर निर्वाचक नामावली का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण का काम पहले ही कर लिया गया है। अब वार्डों का आरक्षण किया जााएगा। राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर रिसाली निगम के परिसीमन बाद मतदाता सूची को 40 वार्ड के हिसाब से अलग-अलग किया गया है।

भिलाई के 13 वार्डों को पृथक कर बनाया गया है रिसाली नगर निगम
भिलाई निगम में 70 वार्ड थे जिसमें से रिसाली, मरोदा, नेवई, डुंडेरा, जोरातराई, पुरैना क्षेत्र के 13 वार्डों को पृथक कर रिसाली निगम का गठन किया गया है। परिसीमन पश्वात यह नवगठित निगम 40 वार्डों का हैं।

कांग्रेस की तैयारी जोरों पर, मंत्री ले रहे खास रुचि
रिसाली नगर निगम के स्वतंत्र अस्तित्व में आने के बाद से यहां गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू सतत सक्रिय हैं। यह उनके निर्वाचन क्षेत्र दुर्ग ग्रामीण विधानसभा का हिस्सा है। माना जा रहा है कि यहां चुनाव साहू के नेतृत्व में और उनके चाहे अनुसार ही होगा। कांग्रेस के प्रत्याशी उनकी पंसद के ही होंगे। चर्चा तो यहां तक है कि साहू के करीबी या रिश्तेदारों में से ही कोई निगम का पहला नेतृत्व करेंगे। जिस तरह से साहू यहां के विकास कार्यों और समस्याओं के निदान में व्यक्तिगत रुचि ले रहे हैं और पिछले दिनों मुख्यमंत्री का कार्यक्रम हुआ, उससे साफ है कि कांग्रेस चुनाव की तैयारी में जुट गई है।

गुटबाजी में उलझी भाजपा, नेताओं में आपसी जंग
इधर भारतीय जनता पार्टी गुटबाजी में उलझी हुई है। नेताओं में अघोषित जंग छिड़ा हुआ है। रिसाली निगम राज्य सभा सदस्य डॉ. सरोज पांडेय का निवास क्षेत्र भी है। ऐसे में चुनाव में पार्टी में उनकी ही मर्जी चलने की संभावना है। वैसे भी भिलाई जिला भाजपा अध्यक्ष उनके ही पसंद के हैं। सांसद विजय बघेल और पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय के भी समर्थक रिसाली क्षेत्र में काफी संख्या में रहते हैं। उन्हें अपने-अपने नेता से उम्मीदें स्वभाविक है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned