रावलमल जैन दंपती हत्याकांड : पुलिस ने न्यायालय को बताया कि आरोपी के कई महिला कवि हैं मित्र

रावलमल जैन दंपती हत्याकांड : पुलिस ने न्यायालय को बताया कि आरोपी के कई महिला कवि हैं मित्र

Satyanarayan Shukla | Publish: Jun, 13 2019 11:56:22 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

(Rawalmal Jain couple murder) टीआई ने न्यायालय को बताया कि आरोपी संदीप जैन का पुराना अपराधिक प्रकरण नहीं है। आरोपी कविता करता था। उसके कई पुरुष व महिला कवि मित्र हैं। (Nagpura Jain Tirtha)

दुर्ग@Patrika. बहुचर्चित रावलमल जैन दंपती हत्याकांड (Rawalmal Jain couple murder) में गुरुवार को विवेचना अधिकारी का प्रतिपरीक्षण हुआ। पक्षाव पक्ष के सवाल पर विवेचक व सिटी कोतवाली के तत्कालीन टीआई भावेश साव ने कहा कि फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम को जांच पूरी होने के बाद शासकीय दस्तावेज की पूर्ति के लिए नोटिस देना आवश्यक था। (Trustee of nagpura jain pilgrimage) इसलिए उन्होंने टीम को नोटिस दिया। फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम को उनके उच्च अधिकारियों ने घटना स्थल पर पहुंचने सूचना दी थी। (Durg nagpura jain trith) शासकीय दस्तावेजों की पूर्ति के लिए नोटिस देना आवश्यक होने के कारण नोटिस दिया गया है। अभियोग पत्र के साथ पुलिस ने जब्ती पत्र और फोरेसिंक विभाग की टीम को दिए नोटिस को संलग्न किया है। टीआई ने न्यायालय को बताया कि आरोपी संदीप जैन का पुराना अपराधिक प्रकरण नहीं है। आरोपी कविता करता था। उसके कई पुरुष व महिला कवि मित्र हैं। (Nagpura jain temple)

जब्ती पत्र को पढऩे के बाद हस्ताक्षर किया
विरोधाभाषी समय का उल्लेख होने पर टीआई ने कहा कि जब्ती पत्र को मेरे निर्देश पर सहायक उपनिरीक्षक विनोद सिंह ने तैयार किया था। जिसे पढऩे के बाद ही उसने हस्ताक्षर किया है। जब्ती पत्र को पढ़कर हस्ताक्षर किया है इसलिए सहयोग करने वाले एएसआइ का लघु हस्ताक्षर लेना उपयुक्त नहीं समझा। उन्होंने अभियोग पत्र में संग्लन जिसे प्रदर्श डी ३ के रुप में चिन्हित किया गया उसे सही बताया।

Read more : रावलमल जैन दंपती हत्याकांड : पोस्टमार्टम के पहले लिए गए एक्सरे को साक्ष्य के रुप में किया चिन्हित

निरीक्षण के बाद किया सील बंद
टीआई ने बचाव पक्ष के अधिवक्ता तारेंद्र जैन के सवाल के जवाब में कहा कि उनके पास ऐसा कोई प्रमाण अभी नहीं है जिससे सिद्ध हो कि सीलबंद सामाग्रियों को खोलकर परीक्षण किया हो। फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने निरीक्षण के बाद ही घटना स्थल से जब्त साक्ष्यों को सील बंद किया है। मामले की सुनवाई अब १८ जून को होगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned