भिलाई निगम वार्ड आरक्षण, दिग्गजों का पत्ता कटा अब पत्नियां उतरेंगी चुनावी मैदान में, 70 में से 23 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित

27 वार्ड सामान्य मुक्त, 13 वार्ड सामान्य महिला, 12 वार्ड ओबीसी, 6 वार्ड ओबीसी महिला, 9 वार्ड अनसूचित जाति जिसमें 3 में महिला और 3 वार्ड अनुसूचित जनजाति जिसमें एक महिला उम्मीदवार के आरिक्षत हुआ है।

By: Dakshi Sahu

Published: 03 Mar 2021, 11:22 AM IST

भिलाई. जून में संभावित भिलाई नगर पालिक निगम के चुनाव के लिए 70 वार्डों का आरक्षण मंगलवार को कलेक्टोरेट में हुआ। 27 वार्ड सामान्य मुक्त, 13 वार्ड सामान्य महिला, 12 वार्ड ओबीसी, 6 वार्ड ओबीसी महिला, 9 वार्ड अनसूचित जाति जिसमें 3 में महिला और 3 वार्ड अनुसूचित जनजाति जिसमें एक महिला उम्मीदवार के आरिक्षत हुआ है। कांग्रेस और भाजपा के कई दिग्गज जहां आरक्षण से प्रभावित हुए हैं, वहीं कई ऐसे खुशकिस्मत हैं जिन्हें लगातार चौथी-पांचवीं बार अपने ही वार्ड में चुनाव लडऩे का मौका मिलेगा। आरक्षण से पूर्व कलेक्टारेट में काफी गहमा गहमी रही। कक्ष में प्रवेश नहीं दिए जाने को लेकर कांग्रेस और भाजपा दोनों दलों के कार्यकर्ताओं में जिला प्रशासन के खिलाफ नाराजगी भी दिखी। भिलाई जिला कांग्रेस की अध्यक्ष तुलसी साहू ने कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे के समक्ष इस पर आपत्ति भी जताई। वहीं भिलाई जिला भाजपा के अध्यक्ष विरेंद्र कुमार साहू भी कक्ष के बाहर गैलरी में ही बैठे रहे। इसके चलते आरक्षण प्रक्रिया देर से शुरू हुई।

आरक्षण प्रक्रिया को लेकर आपत्ति भी
आरक्षण प्रक्रिया को लेकर भी आपत्ति जताई गई। कांग्रेस कार्यकर्ता अली हुसैल सिद्वीकी ने कहा कि परिसीमन में सात वार्डों की न तो आबादी बदली है और न ही चौहद्दी। ऐसे वार्डों का रोटेशन के आधार पर आरक्षण किया जाना था, लेकिन यहां लॉटरी में शामिल कर लिया गया।

वार्डवार आरक्षण की स्थिति
27 वार्ड सामान्य कोई भी उतर सकेगा मैदान में
वार्ड 1 जुनवानी सामान्य
वार्ड 2 स्मृति नगर सामान्य
वार्ड 3 मॉडल टाउन सामान्य
वार्ड 5 कोसानगर सामान्य
वार्ड 7 राधिका नगर सामान्य
वार्ड 11 फरीद नगर सामान्य
वार्ड 14 शांति नगर सामान्य
वार्ड 52 सेक्टर 3 सामान्य
वार्ड 54 सेक्टर 1 दक्षिण सामान्य
वार्ड 57 सेक्टर 4 पूर्व सामान्य
वार्ड 59 सेक्टर 5 पूर्व सामान्य
वार्ड 18 कांट्रेक्टर कॉलोनी सामान्य
वार्ड 19 राजीव नगर सामान्य
वार्ड 16 सुपेला सामान्य
वार्ड 26 रामनगर मुक्तिधाम सामान्य
वार्ड 27 शास्त्री नगर सामान्य
वार्ड 29 वृंदा नगर सामान्य
वार्ड 34 शिवाजी नगर सामान्य
वार्ड 37 रविदास नगर सामान्य
वार्ड 38 सोनिया गांधी नगर सामान्य
वार्ड 42 गौतम नगर सामान्य
वार्ड 44 लक्ष्मी नारायण नगर सामान्य
वार्ड 45 बालाजी नगर सामान्य
वार्ड 46 दुर्गा मंदिर सामान्य
वार्ड 48 जोन 3 सामान्य
वार्ड 66 सेक्टर-7 सामान्य
वार्ड 70 शहीद कौशल यादव नगर सामान्य

13 वार्डों में सामान्य महिला अजमा सकेंगी किस्मत
वार्ड 9 राजीव नगर सुपेला सामान्य महिला
वार्ड 20 वैशाली नगर सामान्य महिला
वार्ड 21 कैलाश नगर सामान्य महिला
वार्ड 28 प्रेम नगर सामान्य महिला
वार्ड 38 प्रगति नगर सामान्य महिला
वार्ड 33 संतोषी पारा सामान्य महिला
वार्ड 39 चंद्रशेखर नगर सामान्य महिला
वार्ड 40 शहीद चुम्मन नगर छावनी सामान्य महिला
वार्ड 49 सुभाष मार्केट खुर्सीपार सामान्य महिला
वार्ड 50 शास्त्री नगर खुर्सीपार सामान्य महिला
वार्ड 56 सेक्टर 2 पश्चिम सामान्य महिला
वार्ड 65 सेक्टर 10 सामान्य महिला
वार्ड 68 सेक्टर 8 सामान्य महिला

12 वार्ड ओबीसी उम्मीदवारों के लिए
वार्ड 12 रानी अवंती बाई ओबीसी
वार्ड 15 अंबेडकर नगर ओबीसी
वार्ड 23 घासीदास नगर ओबीसी
वार्ड 24 हाउसिंग बोर्ड ओबीसी
वार्ड 25 जवाहर नगर ओबीसी
वार्ड 17 नेहरू भवन ओबीसी
वार्ड 35 शारदा पारा ओबीसी
वार्ड 47 राधा कृष्ण मंदिर ओबीसी
वार्ड 66 सेक्टर 5 पश्चिम ओबीसी
वार्ड 63 सेक्टर 6 पश्चिम ओबीसी
वार्ड 64 ओबीसी
वार्ड 67 सेक्टर 7 पश्चिम ओबीसी

6 वार्डों में ओबीसी महिलाएं ठोंकेगी ताल
वार्ड 13 पुरानी बस्ती कोहका ओबीसी महिला
वार्ड 22 कुरूद बस्ती ओबीसी महिला
वार्ड 31 मदर टैरेसा नगर ओबीसी महिला
वार्ड 41 इंडस्ट्रियल एरिया ओबीसी महिला
वार्ड 53 सेक्टर 1 उत्तर ओबीसी महिला
वार्ड 55 सेक्टर 2 पूर्व ओबीसी महिला

9 वार्ड एससी के लिए, 3 में सिर्फ महिला उम्मीदवार
वार्ड 6 प्रियदर्शनी परिसर एससी
वार्ड 8 कृष्णा नगर एससी
वार्ड 10 लक्ष्मी नगर एससी
वार्ड 36 श्याम नगर एससी
वार्ड 43 बापू नगर एससी
वार्ड 69 सेक्टर 9 हॉस्पिटल एससी
वार्ड 4 नेहरू नगर एससी महिला
वार्ड 32 बैकुंठधाम एससी महिला
वार्ड 51 वीर नारायण सिंह नगर एससी महिला

एसटी के लिए 3 वार्ड, एक में महिला
वार्ड 61 सेक्टर 6 पूर्व एसटी
वार्ड 62 सेक्टर 6 मध्य एसटी
वार्ड 58 सेक्टर 4 पश्चिम एसटी महिला

इनके लिए कोई अवसर नहीं
राजेंद्र अरोरा-
कैंप क्षेत्र में प्रभावशाली पकड़ रखने वाले निगम के पूर्व सभापति राजेंद्र अरोरा के लिए कोई विकल्प नहीं बचा है। उनका वार्ड 32 बैकुंठधाम एससी महिला के लिए आरक्षित हो गया है। वार्ड 33 संतोषी पारा सामान्य महिला और वार्ड 31 मदर टेरेसा नगर ओबीसी महिला के खाते में चला गए हैं।

वार्ड 70 शहीद कौशल यादव नगर सामान्य

पीयूष मिश्रा
कुरूद व हाउसिंग बोर्ड क्षेत्र में चार वार्डों से कहीं भी चुनाव लड़ सकते थे मगर चारों आरिक्षत कोटे में चले गए। वार्ड 21 कैलाश नगर सामान्य महिला, वार्ड 22 कुरूद बस्ती ओबीसी महिला तथा वार्ड 23 घासीदास नगर और वार्ड 24 हाउसिंग बोर्ड दोनों ओबीसी के लिए आरिक्षत हो गए हैं।

सूर्यकांत सिन्हा
एमआईसी मेेंबर रहे सिन्हा के निवास क्षेत्र सेक्टर-2 के दोनों वार्ड आरक्षित हो गए हैं। वार्ड 61 सेक्टर 6 पूर्व और वार्ड 62 सेक्टर 6 मध्य दोनों में एसटी उम्मीदवार ही चुनाव लड़ सकेंगे। ऐसे में सिन्हा के लिए अवसर नहीं है।

नए वार्ड की तलाश करनी पड़ेगी

जे. संंजय दानी
नगर निगम के पूर्व नेता प्रतिपक्ष जे. संजय दानी का निवास व क्षेत्र परिसीमन में वार्ड 69 सेक्टर 9 हॉस्पिटल सेक्टर में चला गया है जो एससी महिला के लिए आरक्षित हो गया है। ऐसे में अब दानी चाहेंगे तो वार्ड 70 शहीद कौशल यादव नगर जो सामान्य है, वहां से मैदान में उतर सकते हैं।

संजय खन्ना
भाजपा के वरिष्ठ पार्षद और जिले के पदाधिकारी रहे संजय खन्ना का वार्ड वार्ड 15 अंबेडकर नगर ओबीसी के लिए आरक्षित हो गया है। संजय सामान्य वर्ग से आते हैं। ऐसे में अब उन्हें नए वार्ड की तलाश करनी पड़ेगी।

रश्मि सिंह
भाजपा की मुखर पार्षद रही रशिम सिंह के वार्ड 55 सेक्टर 2 पूर्व से अब ओबीसी महिला वर्ग की उम्मीदवार ही चुनाव लड़ सकेंगी। रश्मि के लिए एक मौका बगल के वार्ड 56 सेक्टर 2 पश्चिम हो सकता है। वहां से सामान्य महिला उम्मीदवार होंगी।

खुद के लिए मौका नहीं पत्नी को उतारेंगे मैदान में
मनोज यादव
कैप एरिया में लगातार जीतते रहे हैं। पूर्व में भी महिला आरक्षण होने पर अपनी पत्नी को चुनाव मैदान में उतारा और वह पार्षद चुनी भी गईं थीं। इस बार उनका वार्ड 28 प्रेम नगर सामान्य महिला हो गया है। यानि स्वयं नहीं तो श्रीमतीजी के लिए मौका है।

परमजीत सिंह लाडी
वार्ड 20 वैशाली नगर सामान्य महिला के लिए आरक्षित होने से परमजीत सिंह लाडी इस बार अपने क्षेत्र से चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। ऐसे में वे अपनी पत्नी को एक बार फिर मैदान में उतार सकते हैं।

ये हैं वे भाग्यशाली दावेदार जिनका गढ़ सुरिक्षत है
नीरज पाल
नीरज पाल भी उन भाग्यशाली दावेदारों में से हैं जिन्हें लगतार अपने क्षेत्र से ही चुनाव लडऩे का मौका मिलेगा। उनका वार्ड 59 सेक्टर 5 पूर्व सामान्य है। वहीं दूसरा वार्ड वार्ड 66 सेक्टर 5 पश्चिम ओबीसी के लिए आरक्षित है। नीरज दोनों वार्ड से चुनाव लड़ सकते हैं। पूरे निगम में सबसे अधिक विकास कार्य नीरज के ही वार्ड में हुए हैं।

बशिष्ठ नारायण मिश्रा
उनका वार्ड सेक्टर-1 उत्तर अन्य पिछड़ा वर्ग महिला के लिए आरक्षित हो गया है। हालांकि चार बार से पार्षद रहे बशिष्ठ नारायाण मिश्रा भी बिलकुल सुरक्षित हैं। उनका वार्ड 54 सेक्टर 1 दक्षिण समाान्य है। वैसे भी बशिष्ठ भी वार्ड बदल-बदलकर चुनाव लड़े और जीते भी। वे सबसे पहले सेक्टर-2, फिर सेक्टर-3 और अब दो बार से सेक्टर-1 से पार्षद चुने गए।
लक्ष्मीपति राजू
लक्ष्मीपति राजू के सेक्टर-7 के दोनों वार्ड उनके लिए सुरक्षित हैं। पिछली बार आरक्षण से प्रभावित होने से उन्हें वार्ड बदलना पड़ा था। इस बार वे अपने पूर्व क्षेत्र से चुनाव लड़ सकेंगे। वार्ड 66 सेक्टर-7 सामान्य और वार्ड 67 सेक्टर 7 पश्चिम ओबीसी तय हुआ है। राजू दोनों में से कहीं से भी चुनाव लड़ सकेंगे। दोनों वार्ड में उनकी खासी पकड़ है।

रिकेश सेन
पूरे निगम में एकमात्र पार्षद हैं जो चारों बार नए वार्ड से चुनाव लड़े और जीते भी। इस बार उनके प्रभाव क्षेत्र वाले चार वार्डों में मौका है। वार्ड 15 अंबेडकर नगर ओबीसी, वार्ड 19 राजीव नगर सामान्य, वार्ड 25 जवाहर नगर ओबीसी और वार्ड 26 रामनगर मुक्तिधाम सामान्य है।

सीजू एंथोनी
पूर्व पार्षद और कांग्रेस के वरिष्ठ लीडर सीजू एंथोनी के लिए वार्ड 70 शहीद कौशल यादव नगर सामान्य से चुनाव लडऩे का अवसर खुल गया है। वे पहले भी हुडको क्षेत्र का प्रतिनधित्व कर चुके हैं।

सुभद्रा सिंह
सेक्टर-10 से पार्षद व महापौर परिषद की सदस्य रहीं सुभद्रा सिंह का वार्ड 65 महिला सामान्य है। सेक्टर-10 इस बार दो वार्ड हो गए हैं। वार्ड 64 ओबीसी के लिए आरक्षित है। ऐसे में सुभद्रा के लिए चुनाव लडऩे का पूरा मौका है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned