Video: नक्सलियों से संबंध के आरोप में गिरफ्तार सुधा भारद्वाज की रिहाई के लिए मजदूरों ने खोला मोर्चा, गोली कांड से है सुधा का गहरा नाता

श्रमिक नेता शंकर गुहा नियोगी गोली कांड (sankar guha niyogi murder case ) की 27 वीं बरसी पर मजदूरों ने सुधा भारद्वाज (Sudha Bharadwaj) के नाम पर बैनर पोस्टर लेकर रैली निकाली। मजदूरों, आदिवासियों का मसीहा बताकर रिहाई की मांग की। (Bhilai news)

By: Dakshi Sahu

Published: 01 Jul 2019, 03:32 PM IST

भिलाई. भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा और कथित शहरी नक्सलियों से संबंध के आरोपी में गिरफ्तार वकील और सामाजिक कार्यकर्ता सुधा भारद्वाज (Sudha Bharadwaj) की रिहाई के लिए भिलाई में सोमवार को मोर्चा खोला। श्रमिक नेता शंकर गुहा नियोगी गोली कांड की 27 वीं बरसी पर मजदूरों ने सुधा भारद्वाज (Sudha Bharadwaj) के नाम पर बैनर पोस्टर लेकर रैली निकाली। मजदूरों, आदिवासियों का मसीहा बताकर रिहाई की मांग की। (Bhilai news)

साल 2018 में पुणे पुलिस ने भीमा कारेगांव में हिंसा की घटना की जांच के दौरान उन्हें गिरफ्तार किया था। पिछले एक साल वो जेल में बंद है। सुधा भारद्वाज (Sudha Bharadwaj) का श्रमिक नेता शंकर गुहा नियोगी (sankar guha niyogi) से अच्छे संबंध थे। पिछले तीन दशक से छत्तीसगढ़ में आदिवासी और मजदूरों के मानवाधिकार की दिशा में कार्य रही है। सोमवार को गोली कांड (sankar guha niyogi murder case ) में जान गवाने वाले 17 श्रमिक और दो पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि देने के लिए मजदूर जुटे थे। (Bhilai news)

गोली कांड में मारे गए 17 श्रमिक
श्रमिक नेता शंकर गुहा नियोगी की हत्या (sankar guha niyogi murder case ) के बाद आंदोलनरत मजदूरों पर पुलिस के लाठी चार्ज और गोली चलाने से मारे गए 17 श्रमिकों के परिजन को आज भी इंसाफ का इंतजार है। न्याय की आस में परिजन की आंखों के आंसू आज भी नहीं सूखे हैं। इन 27 सालों में निचली अदालत से लेकर शीर्ष न्यायालय तक के फैसले आते रहे और उस पर अपील पर अपील होती रही। (Bhilai news)

कभी उद्योपतियों तो कभी मजदूरों और उनकी अगुवाई कर रहे छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा की तरफ से। गोलीकांड की 27 वीं बरसी पर सोमवार को मृत श्रमिकों के परिजन एक बार फिर उन्हें श्रद्धांजलि देने भिलाई के पॉवर हाउस रेलवे स्टेशन में जुुटे। आंसुओं का सैलाब के बीच मर चुके अपनों को याद किया। न्याय की गुहार लगाई। इस दौरान स्टेशन में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। बीएसपी के सैकड़ों श्रमिक गोली कांड की याद में श्रद्धांजलि देने स्टेशन में जुटे। (Bhilai news)

Sudha Bharadwaj

दे दिया गया गोली चलाने का आदेश
भिलाई इस्पात संयंत्र के श्रमिक नेता नियोगी की हत्या (sankar guha niyogi murder case ) के बाद भिलाई में मजदूर आंदोलन और भड़क उठा था। नौ महीने तक नारेबाजी, धरना, प्रदर्शन, ज्ञापन, कामबंद, क्रमिक भूख हड़ताल के बाद भी जब शासन- प्रशासन ने मजूदरों की नहीं सुनी तब सरकार का ध्यान खींचने 1 जुलाई 1992 रेल रोको जैसे आंदोलन करने का फैसला किया। रैली की शक्ल में पॉवर हाउस रेलवे स्टेशन की ओर बढ़े। सांझ ढलने को हो गई थी, लेकिन मजदूरों की आवाज सुनने कोई भी जिम्मेदार नहीं पहुंचा। प्रशासन ने भीड़ को खदेडऩे गोली चलाने का आदेश दे दिया। 17 श्रमिक और 2 पुलिस जवान मारे गए। आज भी वेदी बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी जाती है। (Bhilai news)

sankar guha niyogi murder case

Chhattisgarh Bhilai से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned