इसलिए कभी मत करो परीक्षा में नकल, पुस्तक लेकर पर्चा हल करने बैठी छात्रा के साथ हुआ कुछ ऐसा...

इसलिए कभी मत करो परीक्षा में नकल, पुस्तक लेकर पर्चा हल करने बैठी छात्रा के साथ हुआ कुछ ऐसा...

Mohammed Javed | Publish: Mar, 17 2019 01:30:13 PM (IST) | Updated: Mar, 17 2019 01:30:14 PM (IST) Bhilai, Durg, Chhattisgarh, India

proxy in examजिले के १२४ केंद्रों में पहला नकल प्रकरण भी इसी विषय में बना। परीक्षा में छात्रा विषय की पुस्तक लेकर पहुंच गई।

भिलाई . माध्यमिक शिक्षा मंडल ने शनिवार को कक्षा १०वीं के लिए विज्ञान विषय की परीक्षा ली। जिले के १२४ केंद्रों में पहला नकल प्रकरण भी इसी विषय में बना। परीक्षा में छात्रा विषय की पुस्तक लेकर पहुंच गई। उसे परीक्षा शुरू होने के करीब डेढ़ घंटा बाद उडऩदस्ता की टीम ने पकड़ा। खुद जिला शिक्षा अधिकारी प्रवास बघेल इस उडऩदस्ता दल का नेतृत्व कर रहे थे। जानकारी के मुताबिक छात्रा अपने साथ विज्ञान की पुस्तक तो ले आई, लेकिन घबराहट के चलते वह कुछ लिख नहीं पाई। कलाई पर भी विषय से सबंधित लिखा हुआ था। उडऩदस्ता टीम की महिला शिक्षिका ने जब छात्रा को गौर से देखा तो मामला समझ में आया। छात्रा को उठाकर तलाशी ली गई, जिसमें पुस्तक बरामद की गई है। छात्रा का नकल प्रकरण बनाने के बाद उसे दोबारा से नई उत्तरपुस्तिका दी गई। यहां गौर करने वाली बात यह है कि नकल साथ होने की वजह से छात्रा शुरुआत के डेढ़ घंटे में उत्तरपुस्तिका का पहला पन्ना भी नहीं भर पाई। नकल साथ रखने पर बने प्रकरण की वजह से उसका काफी समय और भी बर्बाद हुआ। इस तरह नई उत्तरपुस्तिका मिलने के बाद छात्रा के पास बमुश्किल एक घंटा ही शेष बचा। जिला शिक्षा शिक्षा विभाग ने विद्यार्थियों से अपील की है कि परीक्षाओं की तैयारी पर भरोसा करें, नकल से दूर ही रहें, क्योंकि परीक्षा में सफलता मेहनत दिलाती है, न की इस तरह के पैतरें।

४४३ रहे परीक्षा में अनुपस्थित
कक्षा १०वीं विज्ञान प्रश्नपत्र के लिए कुल २१०६६ विद्यार्थी दर्ज थे, जिनमें से २०६२३ ही परीक्षा में शामिल हुए। परीक्षा में ४४३ विद्यार्थी गैरहाजिर रहे। परीक्षा में नकल रोकने जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से दो और विकासखंड शिक्षा अधिकारियों का एक-एक उडऩदस्ता दल गठित किया गया है।

हेमचंद विवि : मुख्य परीक्षाएं कल से शुरू, १ लाख ४५ हजार विद्यार्थी होंगे शामिल, स्वाध्यायी की संख्या बढ़ी

हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की मुख्य परीक्षाएं सोमवार से शुरू हो जाएंगी। स्वाध्यायी विद्यार्थियों को मिला कर इस साल १ लाख ४५ हजार विद्यार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। विवि प्रशासन के मुताबिक इस साल स्वाध्यायी विद्यार्थियों की संख्या में ९ हजार का इजाफा हुआ है। परीक्षा के लिए संभाग के शासकीय व निजी कॉलेजों को मिलाकर ६३ केंद्र बनाए गए हैं। आगामी लोकसभा चुनाव की वजह से विवि की परीक्षाएं ७ जून को समाप्त होंगी। विवि प्रशासन ने एक अधिसूचना जारी कर बताया है कि बीएससी के २४ और बीए के ३३ प्रश्न पत्रों को आगे बढ़ाया जा रहा है। यानि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर परीक्षा की तिथियों में संशोधन करना पड़ा है। संभाग में १८ और २३ अप्रेल को लोकसभा के लिए मतदान होना है। इसलिए विवि ने १६ और २५ अप्रेल को होने वाली परीक्षाओं को रद्द कर आगे बढ़ा दिया है। समय सारिणी में हुए बदलाव के बाद नया टाइम-टेबल वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है।

उडऩदस्ता तैयार, केंद्रों को निर्देश जारी
सोमवार से शुरू होने वाली परीक्षा के लिए विवि प्रशासन ने उडऩदस्ता तैयार कर लिया है। सभी केंद्रों को उत्तरपुस्तिकाएं व प्रश्न-पत्र वितरित कर दिए गए हैं। तीन पालियों में होने वाली इन परीक्षाओं के लिए इस साल दूरस्थ के केंद्रों में अधिक संख्या होने की वजह से कई शासकीय स्कूलों में भी परीक्षाएं कराई जाएंगी। विवि के कुलसचिव डॉ. सीएल देवांगन ने कहा है कि परीक्षा के लिए केंद्राध्यक्षों को जरूरी निर्देश दिए गए हैं। प्रश्नपत्र में त्रृटियां या अन्य दिक्कतों की वजह से किसी भी विद्यार्थी को परीक्षा देने से नहीं रोका जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned