Breaking: डेंगू से भिलाई में फिर एक मौत, 16 साल की ईशा ने अस्पताल में तोड़ा दम, चिकनगुनिया का खतरा बढ़ा

Breaking: डेंगू से भिलाई में फिर एक मौत, 16 साल की ईशा ने अस्पताल में तोड़ा दम, चिकनगुनिया का खतरा बढ़ा

Dakshi Sahu | Publish: Sep, 02 2018 04:04:29 PM (IST) Bhilai, Chhattisgarh, India

डेंगू का कहर भिलाई में थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को 16 साल की स्कूली छात्रा ईशा सिंह की डेंगू से मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार वार्ड 36 निवासी ईशा को एक सप्ताह से बुखार आ रहा था।

भिलाई. डेंगू का कहर भिलाई में थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को 16 साल की स्कूली छात्रा ईशा सिंह की डेंगू से मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार वार्ड 36 निवासी ईशा को एक सप्ताह से बुखार आ रहा था। उसका उपचार निजी अस्पताल में चल रहा था। रविवार को उसकी डेंगू से मौत हो गई। इधर भिलाई में डेंगू से मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ते ही जा रहा है। बेलगाम हो चुके डेंगू से परिवार उजडऩे का सिलसिला जारी है।

14 अस्पतालों में होगा मुफ्त इलाज, चार में भर्ती की सुविधा
इधर जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गंभीर सिंह ने डेंगू के मुफ्त इलाज करने वाले अस्पतालों की सूची जारी की है। जिले के 14 अस्पतालों में डेंगू बुखार के मरीजों का इलाज होगा। जांच के दौरान मरीज को भर्ती करने की आवश्यकता पडऩे पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में स्थित कंट्रोल रूम को सूचित करेंगे। इसके बाद आईसीयू सुविधा वाले जिले के चिन्हाकिंत चार अस्पतालों स्पर्श हॉस्पिटल सुपेला रामनगर , चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल हॉस्पिटल, बीएम शॉह हॉस्पिटल और सीएम मेडिकल कॉलेज कंचादुर में गंभीर मरीजों को भर्ती कराया जाएगा।

इन अस्पतालों को चिन्हित किया प्रशासन ने
खुर्सीपार गिंदौड़ी देवी हॉस्पिटल, पॉवर हाउस प्रज्ञा नर्सिंग होम, करूणा हॉस्पिटल, जन कल्याण हॉस्पिटल, शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज जुनवानी, भिलाई नर्सिंग होम, एसआर हॉस्पिटल चिखली, प्रदीप हॉस्पिटल चिखली, सूरज नर्सिंग होम कोहका, एसएस हॉस्पिटल छावनी, अंबे हॉस्पिटल भिलाई, रिवाइवल हॉस्पिटल सुपेला, साईं ज्योति हॉस्पिटल भिलाई तीन और ज्योति हॉस्पिटल चरोदा।

डॉक्टरों ने कहा चिकनगुनिया फैलने का खतरा बढ़ गया
चिकित्सकों ने चिकनगुनिया फैलने की आशंका जताई है। चिकित्सकों का कहना है कि सेप्टिक टैंक से गैस निकलने वाली पाइप से मच्छर अंदर घूस रही है। टंकियों में अंडा दे रही है। यदि इसे पनपने से नहीं रोका गया तो चिकनगुनिया की फैलने की आशंका बढ़ जाएगी।

डेंगू के मरीज
डेंगू पीजीटिव 64
नए भर्ती 95
डिस्चार्ज 78
शहर से बाहर रेफर 20
हॉस्पिटल में इलाज 294
आईसीयू में इलाज 09
अब तक भर्ती 3290
इलाज के बाद स्वस्थ हुए 2912
अब तक डेंगू से कुल मौत 37

यह भी देखने मिल रहा
डेंगू, मलेरिया के बाद अब चिकनगुनिया के वायरस एक्टिव होने की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। जिला प्रशासन के आदेश का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। डेंगू नियंत्रण दल और सर्वे करने वाले कर्मचारियों से दुव्र्यहार करने पर एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

वहीं निगम प्रशासन ने यह भी अल्टीमेटम जारी किया कि जिनके घरों में ताला लगा है, शहर से बाहर हैं, वह २४ घंटे के अंदर अपने घरों में दवा का छिड़काव करा लें। या फिर स्वयं दवा का छिड़काव कर जोन कार्यालय में यह सर्टिफिकेट जमा कर दें कि उनके घर में डेंगू का लार्वा नहीं है। कुलर, गमले, पानी टंकी की सफाई कर लिया है। सेप्टिक टैंक का चेंबर को ढंका हुआ है। ऐसा नहीं करने पर निगम प्रशासन नोटिस जारी २४ घंटे का अल्टीमेटम देगा। इसके बाद ताला तोड़कर बंद घरों की जांच की जाएगी। घर में लार्वा मिलने पर कूलर, टंकी आदि को जब्त किया जाएगा।

Ad Block is Banned