सेमरिया में लगेगा बायो वेस्ट प्लांट,निगम ने ई-टेक कंपनी को जमीन देने का लिया निर्णय

ई-टेक प्रायवेट लिमिटेड अहेरी के समीप ग्राम सेमरिया में बायो मेडिकल वेस्ट प्लांट लगाएगा। वहां दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव और रायपुर के अस्पतालों, नर्सिंग होम, पैथालॉजी, क्लिनिक से निकलने वाले बायो मेडिकल वेस्ट का निष्पादन करेगा।

By: Tara Chand Sinha

Published: 01 Jul 2019, 10:54 PM IST

भिलाई.ई-टेक प्रायवेट लिमिटेड अहेरी के समीप ग्राम सेमरिया में बायो मेडिकल वेस्ट प्लांट लगाएगा। वहां दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव और रायपुर के अस्पतालों, नर्सिंग होम, पैथालॉजी, क्लिनिक से निकलने वाले बायो मेडिकल वेस्ट का निष्पादन करेगा। महापौर परिषद ने कंपनी को सेमरिया टे्रंचिंग ग्राउंड में जमीन उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। स्वीकृति के लिए प्रस्ताव शासन को भेजा गया है।

सेमरिया में नगर पालिक निगम प्रशासन को टे्रंचिंग ग्राउंड के लिए पांच एकड़ जमीन आवंटित किया है। इसमे एक एकड़ जमीन मृत पशुओं का निपटान के लिए आरक्षित किया है। वहां इनसीनरेटर मशीन लगाई है। इसका संचालन ई-टेक करेगा। निगम के प्रभारी सहायक स्वास्थ्य अधिकारी जावेद अली का कहना है कि ई-टेक को बायो मेडिकल वेस्ट के निपटान के लिए छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल से एनओसी लेना होगा। जमीन आवंटन के एक महीने के अंदर कंपनी को बायो मेडिकल वेस्ट के निपटान की व्यवस्था करनी पड़ेगी। स्थल पर पानी, विद्युतीकरण की व्यवस्था स्वयं करना होगा। ग्राउंड के चारों तरफ पौधे लगाने होंगे। आवेदक संस्था को सर्विस चार्ज के रूप में विभिन्न नर्सिंग होम, क्लीनिक से प्राप्त होने वाली राशि का 10 फीसद राशि जमीन का किराए के रूप में भिलाई निगम को भुगतान करेगा।

पहले छावनी में था प्लांट

ई-टेक कंपनी पहले छावनी के प्लांट में बायो मेडिकल वेस्ट का निष्पादन करती थी। नियमों का पालन नहीं करने की वजह से बस्ती के लोगों ने छत्तीसगढ़ स्वाभिमान पार्टी के नेतृत्व में कंपनी के खिलाफ आंदोलन चलाया । सामाजिक कार्यकर्ता सतीश त्रिपाठी ने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में याचिका लगाई। न्यायालय के आदेश के बाद ही प्लांट को बंद करवाया।

Tara Chand Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned