भिलाई के शहीद पार्क में लगी शहीद-ए-आजम भगत सिंह की 25 फीट ऊंची प्रतिमा, लेजर शो से बताएंगे वीर गाथा, Video

सरोवर के बगल से शहीद सरदार भगत सिंह की 25 फीट की गनमेटल की मूर्ति लगाई गई है। थोड़ी दूर पर 100 फीट ऊंचाई पर तिरंगा भी लहराएगा।

By: Dakshi Sahu

Published: 24 Dec 2020, 05:17 PM IST

भिलाई. सेक्टर-5 में निर्माणाधीन शहीद पार्क में लगने वाली गनमेटल से बनी शहीद भगत सिंह की 25 फीट की प्रतिमा भिलाई पहुंच चुकी है। गुरुवार को इस प्रतिमा को उसके स्थान पर लगाया गया है। महापौर एवं भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव ने पार्क के निर्माण का जायजा लिया। यादव ने कहा कि निर्माण कार्य पूरा होने के बाद आने वाले समय में यह पार्क सेंटर ऑफ अट्रैक्शन होगा। बीएसपी क्षेत्र की पुरानी रौनक लौटेगी। लेजर शो और म्यूजिकल फाउंटेन पर्यटकों को आकर्षित करेगा। इस दौरान वार्ड के पार्षद नीरज पाल मौजूद रहे। नीरज ने बताया कि शौर्य स्मारक शहीद पार्क का तेजी से निर्माण कार्य किया जा रहा है। प्रत्येक स्थल का किस प्रकार से उपयोग किया जाए इन सभी बातों का विशेष ध्यान निर्माण के दौरान दिया जा रहा है। सरोवर के बगल से शहीद सरदार भगत सिंह की 25 फीट की गनमेटल की मूर्ति लगाई गई है। थोड़ी दूर पर 100 फीट ऊंचाई पर तिरंगा भी लहराएगा। तालाब में म्यूजिकल फाउंटेन और लेजर शो होगा। जो लोगों को अपनी और आकर्षित करेगा।

हैदराबाद के लुंबिनी पार्क जैसा नजर आएगा
इस पार्क को इतनी खूबसूरती से बनाया जा रहा है कि यह शहर के आकर्षण का केंद्र होगा। जनप्रतिनिधि एवं अधिकारियों द्वारा इसके कांसेप्ट के लिए काफी मेहनत की गई। देश के कई स्थानों का मॉडल ध्यान में था। हैदराबाद में स्थित लुंबिनी पार्क का भ्रमण भी अधिकारियों ने किया और इसके तकनीकी पक्षों को जाना। इस कार्य के लिएल गभग 1 करोड़ 44 लाख रुपए की राशि स्वीकृति हुई है।

शहीदों का नाम स्मारक में अंकित
यह पार्क इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह हमें जिले के शहीद जवानों की भी याद दिलाएगा। राज्य गठन के बाद जो लोग देश के लिए शहीद हुए हैं उन शहीदों के नाम इस स्मारक में अंकित होंगे।

सरोवर के बगल में लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी
इस संरचना के बगल से लोगों के बैठने के लिए सीढिय़ां भी बनाई जा रही है। इसका कार्य लगभग पूर्ण हो गया है। सीढ़ी के बगल में घास भी बिछ चुकी है। सीढिय़ों एवं घास पर बैठकर लोग म्यूजिकल फाउंटेन का नजारा देख सकेंगे।

एजुकेशनल हब के लिए रीडिंग जोन भी
एजुकेशन हब के मुताबिक रीडिंग जोन की सुविधा दिलाने के लिए यहां रीडिंग जोन का निर्माण भी करा रहे हैं। यहां ऐसी लाइब्रेरी होगी जहां छात्र दिन भर सुकून से पढ़ सकेंगे।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned