scriptShamsi Firdous, a student of Bhilai who returned from Ukraine, said th | वतन वापसी के बाद मिली चैन की सांस, पर दोस्तों के हालात है बुरे | Patrika News

वतन वापसी के बाद मिली चैन की सांस, पर दोस्तों के हालात है बुरे

भिलाई. यूक्रैन में जिस तरह से हालात खराब हो रहे हैं, उससे अब भारतीय छात्रों का न सिर्फ सब्र टूटने लगा है, बल्कि उनका मनोबल भी कम हो रहा है। बंकर और मेट्रो स्टेशन में फंसे छात्रों को कई जगह यूक्रैन के लोगों ने सिर्फ इसलिए बंधक बना रखा है कि भारत सरकार यूक्रैन की सरकार का साथ नहीं दे रही। हालात यह है कि एक थाली में 8 से 10 लोग केवल थोड़ा-थोड़ा खाकर किसी तरह खुद को ङ्क्षजदा रखे हुए हैं।

भिलाई

Updated: March 01, 2022 07:57:58 pm

चैन की सांस

भिलाई के फरीदनगर निवासी शम्सी फिरदौस ने पत्रिका से कही। उसने बताया कि 26 फरवरी को हंगरी के रास्ते वे यूक्रैन से बाहर निकल पाए। वे सब इसलिए यहां पहुंच सके क्योंकि वे यूक्रैन के पश्चिमी क्षेत्र में थे और वहां वार का असर कम है। उसने बताया कि दिल्ली पहुंचने के बाद जिस तरह से केन्द्रीय मंत्री सिंधिया और छत्तीसगढ़ भवन में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उन सभी का स्वागत किया तो अब उम्मीद जागी है कि वहां फंसे सभी भारतीय छात्र सही सलामत वापस आ जाएंगे। इधर घर आने के बाद पूरा परिवार शम्सी को गले लगाकर रोने लगा। इतने दिनों से परेशान पैरेंट्स ने भी अब बेटी को आंखों के सामने देख चैन की सांस ली।
student of Bhilai
भिलाई के फरीदनगर निवासी शम्सी फिरदौस
हंगरी में एंबीसी की बस आई लेने

शम्सी ने बताया कि वे सब यूक्रैन के पश्चिमी इलाके के रास्ते हंगरी पहुंचे थे। यूक्रैन से उन्हें बस उपलब्ध कराई गई थी, जिसमें तिरंगा लगा दिया गया था,लेकिन यह बस रात को रवाना होने वाली थी, लेकिन इसे चलाने को कोई तैयार नहीं था, किसी तरह ड्राइवर मिला तो सुबह 5 बजे वे सभी रवाना हुए। बार्डर क्रास करने और पासर्सपोर्ट वेरीफीकेशन के लिए कुछ घंटे लगे,लेकिन हंगरी में इंडियन एंबेसी ने उनके लिए बस तैयार रखी थी। जिसके बाद उन सभी को वूडवस्ट एयरपोर्ट के जरिए दिल्ली भेजा गया।

आधे रास्ते टे्रेन रोकी
म्सी ने बताया कि उनके कुछ जूनियर और सीनियर जो दूसरे कॉलेजों मे पढ़ते हैं, वे वहां से 24 की फ्लाइट से भारत आने कीव ट्रेन से रवाना हुए। 17 घंटे के इस सफर के बीच ही वार शुरू हो गया और उस ट्रेन को बीच में ही रोक लिया गया। वे सभी अब बंकर और मेट्रो में ही है। वहां हालात यह है कि दो दिन पहले एक सेब को 7 लोगों ने मिलकर खाया। तो एक थाली भोजन में 10 लोग मिलकर केवल एक-एक निवाला ही खा पा रहे हैं।
पैसे को लेकर दिक्तत
उसने बताया कि अकाउंट में पैसे होने के बावजूद लोगों के पास पैसे नहीं है। कार्ड ब्लॉक कर दिए गए हैं। उनेक कॉलेज वालों ने भी कुछ पैसे जमा कर उन्हें जाने को कहा। ऐसी स्थिति में भी कॉलेज प्रबंधन पैसों के पीछे पड़ा रहा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: बीजेपी ऐसे भिखारियों का हाथ पकड़कर खुद को बता रही महाशक्ति.. ‘सामना’ के जरिए फिर शिवसेना ने कसा तंजकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायकों और उनके परिवारों की सुरक्षा के लिए महाराष्ट सरकार जिम्मेदार: एकनाथ शिंदेMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारीकर्नाटक के बेलागवी जिले में कनस्तर में मिले 7 भ्रूण, स्वास्थ्य विभाग ने दिए जांच के आदेश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.