196 करोड़ रुपए का कर्ज लेकर किसानों ने खेती पर लगाया दांव

Bhuwan Sahu

Publish: Jul, 11 2018 06:03:44 PM (IST)

Bhilai, Chhattisgarh, India
196 करोड़ रुपए का कर्ज लेकर किसानों ने खेती पर लगाया दांव

अन्नदाताओं के कांधों पर फिर कर्ज का बोझ। तीन साल से सूखे की मार झेल रहे किसानों ने नहीं हारी हिम्मत। खरीफ फसल के लिए इस साल 45 हजार किसानों ने लिया कर्ज

बेमेतरा . जिले के किसानों ने जिला सहकारी केंद्रीय बैंक से 19637 लाख का कर्ज लेकर खरीफ फसल की तैयारी करना शुरू कर दिया है। किसानों को खरीफ फसल के लिए न्यूनतम ब्याज पर कर्ज देने की प्रकिया शुरू होने के बाद फसल की तैयारी में जुटे किसानों ने जिले के 16 शाखाओं से 19637 लाख का कर्ज लिया है। जिसमें 15796 लाख नगद और 3842 लाख का बीज व खाद किसानों ने लिया है। जिले में किसानों को 28026 लाख का कर्ज सहकारी समितियों के माध्यम से देने का लक्ष्य रखा गया है। तय लक्ष्य में 16815 लाख नगद व 11210 लाख कीमत का बीज व खाद शामिल है। जिसमें से अब तक 45733 किसानों को 15795 लाख नगद व 3842 लाख का बीज व खाद कर्ज के तौर पर दिया गया है।

16 बैकों में सबसे अधिक कर्ज बेरला से हुआ जारी

फसल के लिए किसानों को 16 सहकारी बैंक से कर्ज दिया गया है। जिसमें सबसे अधिक कर्ज बेरला शाखा द्वारा दिया गया है। बेरला शाखा में किसानों को 2526 लाख का कर्ज दिया गया है। जिसमें 6664 किसानों को 2074 लाख नगद व 451 लाख का खाद बीज जारी किया गया है। इसी तरह दाढ़ी शाखा से 3070 किसानों को 1666 लाख नगद व 295 लाख का खाद बीज जारी किया गया है। थानखम्हरिया से 5289 किसानों को 1598 लाख नगद व 346 लाख का बीज व खाद जारी किया गया है। इस शाखा से 1944 लाख का कर्ज दिया गया है। साजा शाखा में 1192 लाख नगद व 415 लाख का बीज व खाद सहित 1608 लाख का कर्ज दिया गया है। देवरबीजा में 1467 लाख का कर्ज 2412 किसानों को जारी किया गया है। जिसमें 1116 लाख नगद व 350 लाख का वस्तु है। बेेमेतरा शाखा में 2829 किसानों को 1054 लाख नगद व 242 लाख का खाद बीज सहित 1296 लाख का कर्ज दिया गया है। नवागढ़ शाखा से 3558 किसानों के 1212 लाख का कर्ज जारी किया गया है। जिसमें 1057 लाख नगद व 154 लाख का खाद बीज है। ठेेलका में 1209 लाख का कर्ज 2659 किसानों के दिया गया है। जिसमें 954 लाख नगद व 255 लाख का खाद बीज दिया गया है। इसके आलावा भिभौरी में 2412 किसानों को 1202 लाख का कर्ज दिया गया है। जिसमें 982 लाख नगद व 219 लाख का खाद बीज उधार के तौर पर दिया गया है। संबलपुर सहकारी बैंक से 898 लाख का कर्ज जारी किया गया है। जिसमें 731 लाख नगद व 166 लाख का बीज व खाद शामिल हैं। शाखा में 1449 किसानों को कर्ज दिया गया है। बालसमुन्द्र शाखा से 1896 किसानों ने 745 लाख का कर्ज लिया है। जिसमें 543 लाख का नगद व 201 लाख का खाद बीज है। जेवरा में 701 लाख का कर्ज 1867 किसानों को दिया गया है। देवकर में 1506 किसानों ने 691 लाख का कर्ज लिया है। नांदघाट में 1923 किसानों ने 527 लाख कर्ज लिया है। सबसे कम कर्ज मारो बैंक से लिया गया है। जहां पर 1449 किसानों ने 454 लाख का कर्ज लिया है। बहरहाल जिले के किसान एक बार फिर फसल की तैयारी को लेकर करोड़ों रुपए का कर्ज लेकर खेती का जुआं खेलनेे के लिए तैयार हैं। किसानों को बीते 3 साल से कास्तकारी में मात मिली है। जिसके बाद भी किसानों ने हार न मानकर कास्तकारी पर करोड़ों रुपए का दांव लगाया है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना खरीफ 2018 की अधिसूचना जारी

चालू मौसम खरीफ 2018 के लिए छग शासन कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी विभाग मंत्रालय द्वारा पीएमएफ.बीवाय योजना की विस्तृत अधिसूचना जारी की गई है। जिसमें ऋणी एवं अऋणी किसानों से बीमा प्रस्ताव जमा करने एवं बंैक खाते से प्रीमियम राशि जमा करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई निर्धारित की गई है। जिले के लिए मुख्य अधिसूचित फसलें धान सिंचित, धान असिंचित, मक्का, सोयाबीन, मूंगफली, अरहर, मूंग उड़द है एवं बीमा की इकाई ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम पंचायत और नगरीय क्षेत्र में ग्राम है। कृषि विभाग के उप संचालक से प्राप्त जानकारी अनुसार सभी ऋणी किसान अनिवार्य रूप से बीमा योजना में शामिल किए जाते हैं। ऐसे सभी ऋणी किसान जो खरीफ मौसम के लिए बैंकों से कृषि ऋण बीमा की अंतिम तिथि या उसके पूर्व स्वीकृत/नवीनीकृत कराते हैं, तो वे फसल बीमा में बीमित हो जाते हैं। एक ही रकबा एवं फसल के लिए अलग-अलग बैंकों से कृषि ऋण स्वीकृत होने की स्थिति में किसान को किसी एक ही बैंक से बीमा करवाना होगा एवं इसकी सूचना संबंधित बैंक को देनी होगी। साथ ही किसान का खेत जिस ग्राम पंचायत में है उसी ग्राम पंचायत के नाम से बीमा कराना होगा। अऋणी किसान जो इस योजना में शामिल होना चाहते हैं वे अधिसूचित फसल को उगाने संबंधी बोआई प्रमाण पत्र अपने क्षेत्र के पटवारी या ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से सत्यापित कराकर नवीन बी-1, पी-2, आधार कार्ड, बैंक पासबुक की छायाप्रति प्रीमियम राशि तथा अन्य आवश्यक दस्तावेजों के साथ अपना आवेदन बैंक को कर सकते हैं। ध्यान रहे एक ही रकबे के लिए एक से अधिक बार बीमा नहीं कराया जा सकता।

जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित के नोडल अधिकारी ने बताया कि आरएस कश्यप किसानों को 28025 लाख रुपए का कर्ज देने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें से 19637 लाख का कर्ज का वितरण किया जा चुका है। कर्ज के तौर पर नगद राशि, खाद व बीज दिया गया है। अब तक 45733 किसानों को कर्ज जारी किया गया है

Ad Block is Banned