छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित दुर्ग संभाग में, 12 घंटे में मिले 3619 नए मरीज, कम्युनिटी स्प्रेड की आशंका

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण अब डराने लगा है। एक दिन में रेकार्ड 9921 नए पॉजिटिव और 53 मौतों से लोग दहशत में है। प्रदेश में दुर्ग संभाग कोरोना की लिहाज से सबसे ज्यादा प्रभावित है। (covid-19)

By: Dakshi Sahu

Published: 07 Apr 2021, 01:00 PM IST

भिलाई. छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण अब डराने लगा है। एक दिन में रेकार्ड 9921 नए पॉजिटिव और 53 मौतों से लोग दहशत में है। प्रदेश में दुर्ग संभाग कोरोना की लिहाज से सबसे ज्यादा प्रभावित है। संभाग 5 जिलों में पिछले 12 घंटे में 3619 नए पॉजिटिव मरीज हैं। अकेले दुर्ग जिले में मंगलवार को जहां 1838 पॉजिटिव मिले वहीं दस मरीजों की उपचार के दौरान मौत हो गई। दुर्ग के अलावा राजनांदगांव में 940, बालोद में 289, बेमेतरा में 276, कबीरधाम 267 नए मरीज मिले हैं। एक-एक सेंटर में जांच के दौरान 45 फीसदी से अधिक लोग संक्रमित पाए गए हैं। मरीजों की बढ़ती संख्या से कम्युनिटी स्प्रेड की आंशका है।

सिर्फ छह दिन में हुए 6819 संक्रमित
दुर्ग जिले में सिर्फ छह दिनों में 6819 लोग संक्रमित हुए हैं। इस तरह से हर दिन औसतन ग्यारह सौ से अधिक लोग संक्रमित हो रहे हैं। लॉकडाउन का लाभ लोगों को तब मिलेगा, जब वे खुद इसका पालन करना शुरू करेंगे। डॉक्टर गंभीर सिंह ठाकुर, चीफ मेडिकल हेल्थ ऑफिसर, दुर्ग ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बिना वजह घर के बाहर न निकलें। बेहद जरूरी काम से बाहर जाते भी हैं तो मास्क का उपयोग करें। एक दूसरे से दूरी बनाए रखें और हाथ बार-बार धोते रहें।

फैक्ट फाइल
दुर्ग जिले में कब कितने संक्रमित
1 अप्रैल 2021 -- 996
2 अप्रैल 2021 -- 964
3 अप्रैल 2021 -- 857
4 अप्रैल 2021 -- 995
5 अप्रैल 2021 -- 1169
6 अप्रैल 2021 -- 1838
कुल संक्रमित- 6819

6 दिन में करीब 220 शवों का अंतिम संस्कार किया
कोरोना से मरने वालों की हालत यह है कि अकेले भिलाई के रामनगर मुक्तिधाम में 6 दिन में करीब 220 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है। आमतौर पर इस मुक्तिधाम में इतने दिवंगतों का अंतिम संस्कार एक माह में होता है। हालत का अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं। इसमें बिना संक्रमित शव भी शामिल है, पर यह चिंता करने वाला नहीं है कि जितना शव एक माह में अग्नि के सुपुर्द किया जाता है उतना 6 दिन में होगा। शेड कम पड़ गए और खुली जगह पर भी अंतिम संस्कार करना पड़ा।

Coronavirus Pandemic
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned