तूफान निवार का छत्तीसगढ़ में दिखने लगा असर, तट से टकराते ही बदला मौसम, अगले दो दिनों में बारिश की संभावना

गुरुवार को मौसम विभाग के मुताबिक टकराने के बाद चक्रवाती तूफान अब पहले की तरह खतरनाक नहीं रहा लेकिन तेज हवा के साथ बारिश अभी जारी है।

By: Dakshi Sahu

Published: 26 Nov 2020, 12:08 PM IST

भिलाई. चक्रवाती तूफान निवार आधी रात के बाद तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों से गुजरता हुआ आगे निकल चुका है। गुरुवार को मौसम विभाग के मुताबिक टकराने के बाद चक्रवाती तूफान अब पहले की तरह खतरनाक नहीं रहा लेकिन तेज हवा के साथ बारिश अभी जारी है। पुडुचेरी और तमिलनाडु कराइकल, नागापट्टनम और चेन्नई में बुधवार से ही लगातार बारिश हो रही है। बारिश की वजह से अधिकतर इलाकों में जलभराव है। निवार तूफान का असर छत्तीसगढ़ पर भी पडऩे लगा है। गुरुवार को दुर्ग जिले में सुबह से आसमान में काले बादल छाए हुए हैं। बदली की वजह से तेज हवाएं भी चल रही है।

मौसम विभाग ने तूफान निवार का छत्तीसगढ़ में असर को लेकर 24 घंटे पहले ही अलर्ट जारी कर दिया था। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटे में प्रदेश में फिर से दक्षिण पूर्वी हवा की वजह से न सिर्फ बादल छाएंगे बल्कि बस्तर और अबूझमाड़ के क्षेत्र में बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में 27 नवंबर तक बारिश की स्थिति बनी रहेगी। अगले दो से तीन दिन तक शहर का न्यूनतम तापमान भी फिर से बढ़ेगा। फिलहाल शहर में मंगलवार को भी शाम से अच्छी ठंड पड़ रही है। वहीं शहर का न्यूनतम तापमान 11.2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा। जो सामान्य से काफी कम था।

हवा की बढ़ेगी रफ्तार
मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने बताया कि तूफान निवार के असर से बुधवार से ही मौसम बदलने लगा था। अगले दो दिनों तक हवा की रफ्तार भी बढ़ेगी। 25 नवंबर को तूफान का असर बस्तर और अबूझमाड़ के क्षेत्र में नजर आया। इस दौरान प्रदेश के अन्य कई क्षेत्र में भी हल्की बारिश हुई। उन्होंने बताया कि 26 नवंबर को सरगुजा संभाग सहित प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में मध्यम बारिश होगी और 27 नवंबर के बाद बादल छंटने लगेंगे और फिर से न्यूनतम तापमान कम होगा और ठंड बढ़ेगी।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned