scriptThe non-NJCS unions of Bhilai Steel Plant are now uniting. | गैर एनजेसीएस यूनियनें हो रहीं हैं एकजुट इस्पात मंत्री से बात करने करेंगे दिल्ली कूच | Patrika News

गैर एनजेसीएस यूनियनें हो रहीं हैं एकजुट इस्पात मंत्री से बात करने करेंगे दिल्ली कूच

अधूरा वेतन समझौता और कर्मचारियों का बतौर सजा स्थानांतरण के मुद्दे को लेकर बीएसपी वर्कर्स यूनियन के साथ संयुक्त यूनियन का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही दिल्ली कूच करेगा

भिलाई

Updated: March 05, 2022 05:54:23 pm

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र की गैर एनजेसीएस यूनियनें अब एकजुट हो रही हैं। अधूरा वेतन समझौता और कर्मचारियों का बतौर सजा स्थानांतरण के मुद्दे को लेकर बीएसपी वर्कर्स यूनियन के साथ संयुक्त यूनियन का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही दिल्ली कूच करेगा। वे केंद्रीय इस्पात मंत्री और सेल के उच्चाधिकारियों से मुलाकात कर कर्मियों के विभिन्न लंबित मुद्दों पर अब खुद बातचीत करेंगे।
नेशनल ज्वाइंट कमटी फॉर स्टील (एनजेसीएस) यूनियनों की सेल प्रबंधन के सामने कथित लाचारी से सेल कर्मियों का पे-पॉकेट दिनोंदिन घट रहा है। इससे पूरे सेल के कर्मियों में एनजेसीएस यूनियनों के प्रति अविश्वास और गुस्सा भड़क रहा है। आधे-अधुरे वेज रिवीजन, ग्रेच्युटी सीलिंग, 62 महीने बाद भी वेतन समझौते का पूरा न होना, कर्मियों का जबरन संस्पेशन और ट्रांसफर, वर्षों बाद भी सुविधाओं में बढ़ोतरी न होना आदि लंबित मुद्दों ने एनजेसीएस यूनियनों और एनजेसीएस कमेटी के कार्यों पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। सेल का एक बड़ा धड़ा इस एनजेसीएस कमेटी के पुनर्गठन की भी मांग कर रहा है।
संगठित हो रही हैं नॉन एनजेसीएस यूनियनें
बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष उज्जवल दत्ता ने कहा है कि एनजेसीएस यूनियनों और एनजेसीएस कमेटी के खिलाफ सेल की सभी नॉन- एनजेसीएस यूनियन एकसाथ हो रही है। सेल की सभी यूनिटों की नॉन एनजेसीएस यूनियन कर्मियों के हितों और अधिकारों की रक्षा के लिए पहले अलग-अलग लड़ रही थी, लेकिन अधिकारियों के तुलना में कम एमजीबी और वेरिएबल पक्र्स, ग्रेच्युटी सीलिंग, फाइनल वेज एग्रीमेंट न होना, धीरे-धीरे घटती सुविधाएं और सेल मैनेजमेंट की बढ़ती कथित मनमानियों के खिलाफ सेल की अधिकांश नॉन एनजेसीएस यूनियन सांसद डोला सेन के साथ दिल्ली जाकर इस्पात मंत्री से मिलेंगी। इस्पात मंत्री से यह मीटिंग 15 से 17 मार्च के बीच होगी।
हमेशा प्रबंधन परस्त रही है एनजेसीएस
कर्मचारियों के वेतन समझौते में यह देखा गया कि एनजेसीएस यूनियनें प्रबंधन के साथ मिलकर कर्मचारियों को कम से कम आर्थिक लाभ करवाने में बराबर की भागीदारी निभाई हैं। कर्मचारियों के लिए इंटुक यूनियन ने बैठक के पहले ही प्रबंधन के सुर में सुर मिलाते हुए 10 प्रतिश्शत एमजीबी एवं 23 प्रतिशत पक्र्स की घोषणा कर दी थी। अब चुनाव में अपनी हार निश्चित देखते हुए सड़क से कोर्ट तक लडऩे की बात कर रही है यह पहला मौका है जब अपने ही किए गए समझौते के खिलाफ यूनियन आंदोलन की धमकी दे रही है
गैर एनजेसीएस यूनियनें हो रहीं हैं एकजुट इस्पात मंत्री से बात करने करेंगे दिल्ली कूच
गैर एनजेसीएस यूनियनें हो रहीं हैं एकजुट इस्पात मंत्री से बात करने करेंगे दिल्ली कूच
ग्रेजुइटी सीलिंग पर है मौन सहमति
भिलाई इस्पात संयंत्र के वरिष्ठ कर्मचारियों को ग्रेच्युटी सीलिंग से सेवानिवृत्ति के बाद मिलने वाले लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। केंद्रीय यूनियनों की मौन सहमति है। पांच महीने बाद भी न तो किसी फोरम पर कोई सार्थक चर्चा हुई है और न ही कोई भी केंद्रीय यूनियन प्रबंधन के विरुद्ध कोर्ट गई है। 2014 में भी इसी तरह मौन रहकर नए कर्मचारियों की ग्रेच्युटी सीलिंग कर दी गई थी
एरियर्स दिलाने की जगह कटवा दी राशि
फरवरी में एनजेसीएस मीटिंग से पहले कर्मियों को 39 महीने का एरियर्स दिलवाने का दावा कर रही थी। कर्मचारियों को एरियर्स तो नहीं मिला, लेकिन उनके पेमेंट से 200 से लेकर 400 रुपए वेज एरियर के रूप में काट लिया गया जिस पर सभी एनजेसीएस यूनियन मौन है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

मंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटJNU कैंपस में एमसीए की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तारकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीमाता वैष्णो देवी के प्रमुख पुजारी अमीर चंद का निधन, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल सहित कई नेताओं ने जताया दुखज्ञानवापी मस्जिद केसः प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी पर हंगामा, DU में छात्रों का प्रदर्शनफिर महंगी हुई CNG: राजस्थान में दाम सबसे अधिक, Diesel - CNG के दाम में अब मात्र 12 रुपए का अंतर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.