कुंवारी मां ने अस्पताल में शिशु को जन्म दिया, नवजात की मौत, परिजन सदमे में

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बुधवार सुबह एक बिन ब्याही नाबालिग मां द्वारा बाथरूम में ही शिशु को जन्म देने की घटना से हड़कम्प मच गया। असुरक्षित प्रसव के कारण जन्म के बाद नवजात की मौत हो गई। बिन ब्याही बेटी द्वारा मृत बच्चे के जन्म की सूचना से परिजन में सदमे में है।

बालोद@Patrika. जिले के गुंडरदेही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बुधवार सुबह एक बिन ब्याही नाबालिग मां द्वारा बाथरूम में ही शिशु को जन्म देने की घटना से हड़कम्प मच गया। असुरक्षित प्रसव के कारण जन्म के बाद नवजात की मौत हो गई। बिन ब्याही बेटी द्वारा मृत बच्चे के जन्म की सूचना से परिजन में सदमे में है। घटना की सूचना पर गुंडरदेही और महिला थाने पुलिस अस्पताल पहुंची और मामले की जांच की। गुरुवार को दिनभर पुलिस इस मामले की विवेचना में लगी रही।

पेट दर्द की शिकायत पर अस्पताल में कराया भर्ती
जानकारी के अनुसार गुंडरदेही थाना अंतर्गत एक गांव की 17 साल की नाबालिग को बुधवार सुबह पेट दर्द हुआ। परिजन उसे लेकर गुंडरदेही शासकीय अस्पताल पहुंचे। जहां नाबालिग ने सुबह करीब साढ़े छह बजे एक बच्ची को जन्म दिया। परिजनों को जब लड़की के गर्भवती होने और मृत बच्ची पैदा होने की खबर लगी तो वे सदमे से उबर नहीं पा रहे हैं। पुलिस जांच में मामला प्रेम प्रसंग का बताया जा रहा है। प्रारंभिक पूछताछ में परिजन भी खामोश हैं।

Read More : रेप के बाद जन्म बच्चे का पिता चचेरा भाई या अन्य कोई और? डीएनए रिपोर्ट में सच आएगा सामने

भाभी के भतीजे के साथ साल दो साल से प्रेम प्रसंग
गुंडरदेही पुलिस के मुताबिक प्रारंभिक पूछताछ में मामला प्रेम प्रसंग का बताया है। नाबालिग की भाभी के मायके तरफ के उनके भतीजे के साथ बीते दो साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। सालभर से दोनों और करीब आ गए और 21 वर्षीय प्रेमी ने नाबालिग प्रेमिका से संबंध के चलते गर्भवती हो गई।

Read More : शराब के नशे में पिता बन गया दरिंदा, एक साल की मासूम का घोंट दिया गला

किशोर न्याय बोर्ड में पेश करेगी लड़की को
पुलिस का कहना है नाबालिग को किशोर न्यायालय में पेश किया जाएगा। नाबालिग के बयान के आधार पर प्रेमी के खिलाफ आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Show More
Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned