दो-दो लाख के इनामी दो नक्सलियों ने किया सरेंडर, पढ़ें खबर

Satya Narayan Shukla

Publish: Dec, 07 2017 10:32:02 (IST)

Bhilai, Chhattisgarh, India
दो-दो लाख के इनामी दो नक्सलियों ने किया सरेंडर, पढ़ें खबर

छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में एक दिन पहले सात नक्सलियों को मार गिराने के बाद यहां दो नक्सलियों ने सरेंडर किया है।

राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में एक दिन पहले सात नक्सलियों को मार गिराने के बाद पुलिस को आज एक और सफलता मिली है। यहां दो नक्सलियों ने सरेंडर किया है। इनमें से एक महिला है। दोनों के सिर पर दो-दो लाख रुपए का इनाम था।

नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान और पुलिस की आत्मसमर्पण नीति
गढ़चिरौली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार नक्सलियों के खिलाफ लगातार चलाए जा रहे अभियान और पुलिस की आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित होकर दो नक्सलियों ने सरेंडर किया है। दोनों नक्सलियों ने नक्सल विरोधी अभियान के अपर पुलिस महासंचालक डी कनकरत्नम, विशेष पुलिस महानिरीक्षक शरद शेलार, पुलिस उप महानिरीक्षक गढ़चिरौली कैम्प नागपुर अंकुश शिंदे के मार्गदर्शन में चलाए जा रहे अभियान के तहत गढ़चिरौली के एसपी डॉ. अभिनव देशमुख के समक्ष समर्पण किया।

कोरची दलम में कार्यरत दो लाख रुपए की इनामी महिला नक्सली कमला रामसू
वर्ष 2011 में केकड़ी दलम में भर्ती होने के बाद वर्तमान में कोरची दलम में कार्यरत दो लाख रुपए की इनामी महिला नक्सली कमला रामसू गावले ने सरेंडर किया। उस पर कई वारदातों को अंजाम देने का मामला था। इसके अलावा 2011 में छत्तीसगढ़ के पल्लेमाड़ी दलम में शामिल हुए दो लाख रुपए के इनामी नागेश उर्फ राजेश मतुरसाय मंडावी ने सरेंडर किया। यह राजनांदगांव जिले के सीतागांव-मुंजाल का रहने वाला है।

Read more: गढ़चिरौली में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, मुठभेड़ में 5 महिला समेत 7 नक्सली ढेर

वर्ष 2017 में अब तक कुल 19 नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया
गढ़चिरौली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2017 में अब तक कुल 19 नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया है। इनमें कंपनी सदस्य, एरिया कमेटी सदस्य सहित विभिन्न दलम में काम करने वाले नक्सली हैं। पुलिस के अनुसार महाराष्ट्र में आत्मसमर्पण की नीति सबसे ज्यादा कारगर है, इस वजह से आसपास के प्रदेश के नक्सली भी यहां की पुलिस के सामने सरेंडर कर मुख्यधारा में लौट रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned