सिलीगुड़ी में होटल कारोबार का झांसा देकर अपने ही दोस्त से दो व्यापारियों ने ठग लिए 1 करोड़ 33 लाख रुपए

व्यापारी दोस्तों ने सिलीगुड़ी (पश्चिम बंगाल) में होटल कारोबार में हिस्सेदार बनाने का झांसा देकर अपने ही साथी से 1 करोड़ 33 लाख रुपए ठग लिया।

By: Dakshi Sahu

Published: 28 Jan 2021, 05:40 PM IST

भिलाई. व्यापारी दोस्तों ने सिलीगुड़ी (पश्चिम बंगाल) में होटल कारोबार में हिस्सेदार बनाने का झांसा देकर अपने ही साथी से 1 करोड़ 33 लाख रुपए ठग लिया। ठगी के शिकार कोहका निवासी सईद एजाज (42 साल) की शिकायत पर जामुल पुलिस ने प्रमोद तिवारी, मोनेश साहू और राकेश कुमार श्रीवास्तव के खिलाफ धारा 420, 34 के तहत जुर्म दर्ज कर मामले को जांच में लिया है। आरोपी पांच साल से गुमराह करते रहे। आखिर में सईद एजाज ने पुलिस में शिकायत की।

जामुल थाना पुलिस ने बताया कि सईद एजाज और रायपुर निवासी प्रमोद तिवारी व मोनेश साहू तीनों दोस्त हैं। प्रमोद व मोनेश ने एजाज को यह बताया कि वे सिलीगुड़ी में होटल कारोबार में राकेश श्रीवास्तव के साथ पार्टनर हैं। राकेश भी रायपुर का ही रहने वाला है। उसके होटल व्यवसाय में इनवेस्ट करने पर पैसा सुरक्षित व प्रॉफि टेबल रहेगा। बाकी की पूरी जिम्मेदारी उन्होंने खुद ली। सईद उनके झांसे में आ गया। उसने अपने बिजनेस पार्टनर संतोष अग्रवाल और ज्ञानेन्द्र सिंह से चर्चा की और पार्टनर बनने के लिए हामी भरी।

इस पर प्रमोद और मोनेश ने अपने पार्टनर राकेश कुमार श्रीवास्तव से एजाज की बात करार्ई। फिर उसे सिलीगुड़ी ले गए। जहां पर नक्सलवाड़ी स्थित जगह पर एक 6 मंजिला निर्माणाधीन होटल को दिखाया। उस होटल में इनवेस्ट करने की बात की। प्रमोद और मोनेश ने उससे कहा कि वे इसमें काफी पैसा इनवेस्ट कर चुके है। इसमें बड़ा प्राफिट होगा। उनके झांसे में आकर सईद एजाज ने कर्ज लेकर और जान पहचान वालों से भी उधार मांग कर 1 करोड़ 33 लाख रुपए इनवेस्ट कर दिया।

छह माह में होटल चालू करने का झांसा दिया
पुलिस ने बताया कि सईद एजाज के ठग दोस्तों ने उसे यह भरोसा दिया कि छह माह के अंदर व्यवसाय चालू हो जाएगा। यह भी कहा कि उनकी पूरी राशि बहुत जल्द ही वापस कर दी जाएगी। दोस्तों के प्रलोभन में आकर सईद एजाज ने अपने बिजनेस पार्टनर संतोष के साथ मिलकर अलग-अलग किस्तों में 27 दिसंबर 2016 से 24 जनवरी 2017 तक आरटीजीएस के माध्यम से आरोपी राकेश कुमार श्रीवास्तव और कृष्णचंद श्रीवास्तव के बैंक खाते में रुपए जमा कर दिया।

रायपुर में एग्रीमेंट भी किया
पुलिस ने बताया कि जब सईद ने पैसे का इंतजाम कर लिया तब आरोपी राकेश कुमार श्रीवास्तव रायपुर आया। न्यायालय परिसर में नोटरी करवाकर लेनदेन का विवरण सहित अनुबंध किया गया। व्यवसाय होने या न होने की स्थिति में रकम सुरक्षित वापस करने का वादा किया। भरोसा जीतने के लिए इलाहाबाद बैंक और एक इंडियन बैंक का चेक दिया। लेकिन पांच साल बाद भी न होटल चालू किया और न ही राशि लौटाई।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned