नौकरी के झांसे में आकर बिना पासपोर्ट के मलेशिया में फंसे भिलाई के दो युवक, घरवालों को धमका रहा एजेंट

नौकरी के झांसे में आकर बिना पासपोर्ट के मलेशिया में फंसे भिलाई के दो युवक, घरवालों को धमका रहा एजेंट

Dakshi Sahu | Publish: Jul, 16 2018 04:09:49 PM (IST) Bhilai, Chhattisgarh, India

मलेशिया में फंसे गौतम नगर खुर्सीपार भिलाई के मो. अरमान और मो.अजीज भारत वापसी को लेकर उसके परिजन असमंजस में हैं।

भिलाई. मलेशिया में फंसे गौतम नगर खुर्सीपार भिलाई के मो. अरमान और मो.अजीज भारत वापसी को लेकर उसके परिजन असमंजस में हैं। क्योंकि एजेंट अब उनसे संपर्क कर रहा है। उन्हें भरोसा दिला रहा है कि दोनों बच्चों को वापस लाया जाएगा। एजेंट माधव राव ने महीने भर बाद मलेशिया में दोनों युवकों से खुद बात की।

एजेंट की बातों से परेशान
अरमान ने बताया कि माधव ने कहा है कि उन्हें वापस लाने के लिए वह पासपोर्ट भेजेगा पर इसमें दो सप्ताह लग जाएगा। इधर दोनों युवकों के परिजन को एक दिन पहले ही माधव ने यह कहा था कि तीन दिन के भीतर पासपोर्ट भेज देगा। एजेंट के दो तरह की बातों से वे परेशानी में है।

लिया है मोटी रकम
माधव ने ही दोनों युवकों को नौकरी दिलवाने के नाम पर मोटी रकम लिया है। वहां जाने के बाद दोनों युवक बिना पासपोर्ट के रह रहे हैं। महीने भर बाद एजेंट पिछले दो दिन से दोनों युवकों से बात कर रहा है। अजीत के पिता मो. सहाबुद्दीन ने बताया कि माधव राव ने फोन किया था कि बच्चों को तीन दिन के अंदर पासपोर्ट भेजकर वापस लाएगा। अब बच्चों को दो सप्ताह लगने के बात कर रहा है।

फंसे होने के कारण चिंतित
युवकों को परिजन अब तक यह तय नहीं कर पाए हैं कि उन्हें क्या करना चाहिए। दूर देश में बच्चों को फंसे होने के कारण वे चिंतित हैं। इस बात को लेकर भी परेशान हैं कि बच्चे और मुसीबत में न पड़ जाए। इसलिए उन्होंने पुलिस में शिकायत भी नहीं की है।

लौटना चाहते हैं युवक
माधव से पत्रिका ने कई बार बात करने की कोशिश लेकिन उसने फोन रिसिव नहीं किया। मलेशिया का एजेंट भी कोई तमिल है। रविवार को आकर उसने धमकी चमकी लगाई और चला गया। बोला अभी पासपोर्ट की बात मत करो। जगह-जगह फोन करके बता रहे हो उससे क्या होने वाला है। देखता हूं क्या कर सकते हो मेरा। दोनों युवक बार-बार यही कह रहे हैं कि वे लौटना चाहते हैं। किसी तरह अपना वतन आना चाहते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned