डांट फटकार से खफा दो छोटी नाबालिग बहनों ने बड़ी बहन का गमछे से गला घोंटा, हत्या को आत्महत्या बताने रच डाली साजिश

बड़ी बहन की डांट-फटकार दो छोटी नाबालिग बहनों को इतनी बुरी लगी कि उन्होंने गमछा से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। हत्या को आत्महत्या बताने के लिए फिल्मी स्टाइल में साजिश भी रच डाली।

By: Dakshi Sahu

Published: 20 Feb 2021, 04:54 PM IST

भिलाई. बड़ी बहन की डांट-फटकार दो छोटी नाबालिग बहनों को इतनी बुरी लगी कि उन्होंने गमछा से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। हत्या को आत्महत्या बताने के लिए फिल्मी स्टाइल में साजिश भी रच डाली। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दोनों छोटी बहनों की करतूत से पर्दा उठ गया। पुलिस ने दोनों आरोपी बहनों को हिरासत में ले ले लिया है। धमधा टीआई त्रिनाथ त्रिपाठी ने बताया कि पीएम रिपोर्ट के आधार पर जब दोनों नाबालिग बहनों से पूछताछ की गई तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया। जिस ब्लेड से बहन की कलाई काटी थी उसे भी बरामद कर लिया है। दरअसल दुर्ग जिले के धमधा सोनेसरार निवासी लीला वर्मा (20 वर्ष) की कुछ दिनों पहले घर में संदेहास्पद परिस्थिति में लाश मिली थी। मृतक युवती की हाथ की कलाई कटी हुई थी और उसका शरीर कंबल से ढंका हुआ था। पुलिस जब पहुंची तो बहनों ने बताया कि बड़ी दीदी ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने पंचनामा करके शव को पीएम के लिए भेज दिया। जब पीएम रिपोर्ट आई तो उसमें हत्या की पुष्टि हुई। पुलिस ने मर्ग कायम कर आरोपी के खिलाफ धारा 302 के तहत प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच शुरू की। जब पुलिस ने घटना के बारे में दोनों छोटी बहनों से सख्ती से पूछा तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

नहीं मिला था सुसाइडल नोट
मृतक सोनेसरार निवासी लीला की एक वर्ष पहले शादी हुई थी। वह पति को छोड़कर मायके आ गई थी। घटना के दिन उसके पिता छठी कार्यक्रम में गए थे। दो छोटी नाबालिग बहनें घर पर थीं। उन्होंने पुलिस को बताया था कि लीला ने उन्हें कुछ खाने का सामान लाने के बहाने दुकान भेज दिया था। करीब आधा घंटे बाद जब वे लौटकर घर आई तो खाट पर ब्लेड पड़ा था। लीला कंबल ओढ़कर सोई हुई थी। ब्लेड से कलाई काटकर उसने आत्महत्या कर ली थी। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां से कोई सुसाइडल नोट नहीं मिला है। जिसके बाद पुलिस का शक और ज्यादा गहरा हो गया।

रोज-रोज डांट और रोका टोकी से थीं परेशान
आरोपी दोनों नाबालिग बहन ने बताया कि वे बड़ी बहन की रोज-रोज डांट और रोका-टोकी से काफी परेशान रहती थीं। वारदात वाले दिन किसी काम की बात को लेकर बड़ी बहन से विवाद हो गया। बात बढ़ी तो मारपीट हो गई। इसी बीच हमने बड़ी बहन को खाट पर पटक दिया। हल्का चोट लगने के कारण वह अचेत हो गई। फिर गमछे से उसका गला घोंट दिया। थोड़ी देर में जब उसकी सांसें थम गई तो कुछ समझ नहीं आया। इसलिए ब्लेड से बहन की कलाई काटकर उसके शव को कंबल से ओढ़ा दिया। पुलिस के पूछने पर कहा कि बहन ने आत्महत्या की है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned