फीवर क्लीनिक में कोरोना जांच कराने आए लोगों ने किया जमकर हंगामा, सीएमएचओ ने प्रभारी डॉक्टर को पद से हटाया

कम कर्मियों में अधिक काम कैसे हो सकता है। तब लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। काउंटर में बैठे कर्मी पर जांच कराने आए एक व्यक्ति ने हाथ उठा दिया था।

By: Dakshi Sahu

Published: 05 Apr 2021, 05:46 PM IST

भिलाई. लाल बहादुर शास्त्री शासकीय अस्पताल सुपेला के फीवर क्लीनिक में पिछले दो दिनों से हंगामा चल रहा है। लोगों की शिकायत है कि घंटों कतार में लगने के बाद भी नंबर नहीं आ रहा है। रविवार को सुबह से लोग सबसे पहले जांच कराने की कोशिश में कतार पर आकर खड़े हो गए। जांच करने वाली टीम पहुंची, तब फट चुकी झिल्ली को बदलने का काम शुरू किया गया। इस काम में करीब एक घंटे से अधिक लग गया, जिसकी वजह से जांच शुरू होने में खासा देर हो गया। यह देख कतार में लगे लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। वे जांच टीम से नाराज थे, तर्क दे रहे थे कि देरी से आने के बाद भी जांच शुरू नहीं की जा रही है। यह शिकायत चीफ मेडिकल हेल्थ ऑफिसर, दुर्ग तक पहुंची। वे खुद मौके पर पहुंचे और सिविल सर्जन, दुर्ग को भी तलब किया। हालात देखने के बाद तत्काल प्रभाव से प्रभारी डॉक्टर एके नागदेवे को हटाया गया और उनके स्थान पर पुन: डॉक्टर पियाम सिंह को जिम्मेदारी दी गई है।

हंगामे की यह है वजह
शास्त्री अस्पताल, सुपेला के फीवर क्लीनिक में एक साल पहले लगाई गई झिल्ली खराब हो चुकी थी। जिसको बदलने की मांग कर्मचारी कर रहे थे। प्रभारी ने उसे बदलने का निर्देश दिया, यह काम दोपहर में लंच के समय किया जा सकता था। कर्मियों ने सुबह जब भीड़ सबसे अधिक थी, तब जांच करना छोड़ झिल्ली बदलना शुरू कर दिया। इस दौरान न तो किसी का नाम दर्ज किया जा रहा था और न जांच की जा रही थी। लंबे समय से खड़े लोगों के सब्र का बांध इसकी वजह से टूट गया। इसके बाद भी कर्मियों ने काम तेजी से काम कर लोगों को शांत करने की जगह तर्क देते रहे कि कम कर्मियों में अधिक काम कैसे हो सकता है। तब लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। काउंटर में बैठे कर्मी पर जांच कराने आए एक व्यक्ति ने हाथ उठा दिया था।

सीएमएचओ ने शुरू करवाया दो काउंटर
मौके पर खुद सीएमएचओ पहुंचे और यहां दो काउंटर शुरू करने निर्देश दिए। जिससे कुछ जल्दी जांच हो सके। लोग एक दूसरे के साथ लंबे समय तक खड़े हो रहे हैं। जिससे कोरोना वायरस के फैलने की आशंका बढ़ रही है। इस बात को कई बार दोहराया जा चुका है। बावजूद इसके यहां की व्यवस्था सुधरने का नाम नहीं ले रही है।

पांच काउंटर करने की जरूरत
भिलाई के दूसरे अस्पतालों की अपेक्षा कोरोना जांच करवाने के लिए सबसे अधिक भीड़ लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल, सुपेला में जुटती है। यहां एक काउंटर से जांच किया जा रहा है। चार दिन पहले नगर निगम आयुक्त ने दो काउंटर शुरू करने कहा। कर्मियों की कमी में फिर एक काउंटर से ही जांच की जा रही थी। असल में एक डॉक्टर की देख-रेख में यहां पांच काउंटर संचालित करने की जरूरत है। बिना किसी बड़े अधिकारी के देखरेख में यहां कोरोना जांच का काम चल रहा है। इस वजह से जांच टीम और मरीजों के बीच जल्द जांच कराने को लेकर विवाद हो रहा है।

अव्यवस्था की वजह से हंगामा
डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर,सीएमएचओ दुर्ग ने बताया कि शास्त्री अस्पताल के फीवर क्लीनिक में जांच कराने आने वाले लोग दो दिनों से शिकायत कर रहे हैं। रविवार को मौके पर पहुंचकर देखने पर अव्यवस्था नजर आई। सिविल सर्जन दुर्ग को भी बुलाया गया। दो काउंटर शुरू करवाया गया और प्रभारी को हटा दिया गया हैं। उनके स्थान पर डॉक्टर पीयाम सिंह को प्रभारी बनाया गया है।

Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned