अर्बन प्लानिंग कोर्स में M.Tech कराने वाला प्रदेश का पहला संस्थान बना CSVTU, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टाउन प्लानर्स ने दी मान्यता

छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय की यूटीडी में संचालित एमटेक इन अर्बन प्लानिंग कोर्स को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टाउन प्लानर्स (आईटीपीआई) ने मान्यता दे दी है।

By: Dakshi Sahu

Published: 17 Nov 2020, 12:47 PM IST

भिलाई. छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय की यूटीडी में संचालित एमटेक इन अर्बन प्लानिंग कोर्स को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टाउन प्लानर्स (आईटीपीआई) ने मान्यता दे दी है। विवि में यूटीडी की शुरुआत के दूसरे साल में यह कोर्स शुरू किया गया था, जिसे सबसे अधिक रुझान मिला। सीएसवीटीयू में प्रदेश में पहला संस्थान है जो अर्बन प्लानिंग में एमटेक कराता है। अब आईटीपीआई से मान्यता मिलने के बाद इस डिग्री की वैल्यू और भी अधिक बढ़ेगी।

विद्यार्थियों को क्या होगा फायदा
मान्यता मिलने से छात्रों के लिए रोजगार की संभावनाएं बढ़ जाएगी। अध्ययनरत छात्रों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है। छात्र अपने डिग्री एवं अर्जित ज्ञान का उपयोग राज्य एवं देश में चल रहे विकास के कार्य को करने में कर सकते हैं। राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर चल रही योजनाओं एवं प्रोजेक्ट में विश्वविद्यालय के छात्र अहम भूमिका निभाएंगे। जिससे इस विश्वविद्यालय एवं प्रदेश का नाम रोशन होगा। देश में आज तकरीबन पांच हजार ही रजिस्टर्ड अर्बन प्लानर्स हैं जो कि जनसंख्या के अनुपात में बहुत कम है। किसी भी देश या राज्य में स्मार्ट सिटी बनाने के लिए रजिस्टर्ड अर्बन प्लानर्स की जरुरत होती है, जो अब सीएसवीटीयू तैयार करेगा।

इस साल सबसे पहले भरेंगी सीटें
इस कोर्स में अध्ययनरत विद्यार्थियों के साथ ही सीएसवीटीयू अब स्मार्ट सिटी की प्लानिंग में योगदान देगा। हर साल 10 सीटों पर इस कोर्स में प्रवेश दिया जाता है। जिसमें हमेशा से ही सीटों के लिए हाई डिमांड रहती है। इस साल एडमिशन में भी स्टूडेंट्स इस कोर्स की ओर अधिक रुख करेंगे। विवि का कहना है कि इसमें बेहतर रिस्पॉन्स दिखाई देगा। प्रो. एमके वर्मा, कुलपति, सीएसवीटीयू ने बताया कि हमारे विद्यार्थी तकनीकी ज्ञान एवं कौशल का उपयोग समाज एवं राष्ट्र के कल्याण के लिए करेंगे। आईटीपीआई से कोर्स को मान्यता मिलने के बाद इस डिग्री की वैल्यू भी कई गुना बढ़ जाएगी। हर राज्य में इसकी जरूरत पड़ेगी। इस लिहाज से रोजगार के अवसर भी खुलेंगे।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned