रावण (कोरोना) पर विजय हासिल करने को तैयार हमारे जिला की वैक्सीनेशन सेना

पंडाल में सेंटर शुरू करने का मिल सकता है बड़ा लाभ.

By: Abdul Salam

Updated: 13 Oct 2021, 09:24 AM IST

भिलाई. कोरोना रूपी रावण से जिला को मुक्त कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग की वैक्सीनेशन सेना तैयार है। जिला की आबादी 2011 की जनगणना के मुताबिक 18,28,028 है। जिसमें बच्चे भी शामिल हैं। दुर्ग जिला में अब तक 14,47,282 डोज कोरोना का टीका लगाया जा चुका है। कोरोना वैक्सीन लगवाकर हर कोई इस रावण पर जीत दर्ज करने में दुर्ग जिला को मजबूती प्रदान कर रहा है। अब पूजा के पंडालों में भी वैक्सीन लगाने काउंटर शुरू करने कवायद की जा रही है। जिससे एक मुश्त में हर दिन हजारों की तादात में लोगों को टीका लगाया जा सके।

पंडालों में लगे काउंटर तक इनको मिलेगा लाभ
भिलाई में पूजा पंडालों में कोरोना का टीका लगाने की तैयारी है। जिससे वे लोगों को अधिक लाभ मिलेगा जो पहला डोज लगवा चुके हैं। वे पूजा पंडाल घूमने के साथ-साथ कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज भी आसानी से लगवा सकते हैं। पंडालों में ही अगर फोकस किया जाता है तो तीन दिनों में तीस हजार से अधिक सिर्फ भिलाई में ही वैक्सीन लगाई जा सकती है। इसके लिए एक्सपर्ट टीम मौजूद रहना जरूरी है।

30 लाख डोज का टारगेट करना है पूरा
हार्ड इम्युनिटी के लिए दुर्ग में रहने वाले 18 लाख में से 15 लाख को लगाना होगा कोरोना वैक्सीन का दोनों डोज। जिला की आबादी के 85 फीसदी का वैक्सीनेशन किया जाता है तो कोरोना महामारी (रावण) के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता पैदा हो जाएगी, तब हार्ड इम्युनिटी तक पहुंचा जा सकता है।

त्योहारी सीजन पर ध्यान देना है मास्क पर
त्योहारों का सीजन शुरू हो चुका है। आने वाले चार माह में बीस से अधिक त्योहार हैं। जिसमें कुछ त्योहार ऐसे हैं जो तीन से दस दिनों तक मनाए जा रहे हैं। जिसके लिए लोगों का मार्केट में शॉपिंग करने और एक दूसरे के घरों में जाना तय है। विशेषज्ञ लगातार तीसरी लहर को लेकर आगाह कर रहे हैं। ऐसे में कोरोना से जिला में रहने वाले लोगों को महफूज रखने के लिए मास्क का उपयोग प्राथमिकता से करनी होगी।

यह त्योहार है सामने
त्योहारी सीजन शुरू हो चुका है। 13 अक्टूबर दुर्गा महाअष्टमी पूजा इस दौरान लोग मार्केट में बड़ी संख्या में खरीदी को निकलते हैं। 15 अक्टूबर दशहरा जिसमें एक ही स्थान पर शहर के तमाम लोग एकत्र होते हैं और रावण दहण किया जाता है। इसके बाद 24 अक्टूबर करवा चौथ जिसमें महिलाएं उपवास रखती हैं। 2 नवंबर धनतेरस जिसमें तमाम लोग मार्केट में खरीदी करने निकलते हैं। 4 नवंबर दिवाली, नरक चतुर्दशी बाजारों में रौनक होती है। 5 नवंबर गोवर्धन पूजा, 6 नवंबर भाई दूज, 10 नवंबर छठ पूजा जिसमें तालाबों में तमाम लोग उगते और डूबते सूर्य को अध्र्य देते हैं। 19 नवंबर को गुरु नानक जयंती है। इसके बाद 4 दिसंबर मार्गशीर्ष अमावस्या, सूर्य ग्रहण, 16 दिसंबर धनु संक्रांति, 20 दिसंबर पौष आरंभ और साल के अंत में 25 को क्रिसमस और 31 दिसंबर को नए साल का जश्न मनाया जाएगा।

अब तक लगा 14,47,282 डोज टीका
जिला में अब तक 14,47,282 डोज टीका लगाया है। जिसमें 9,68,118 को पहला डोज टीका लगाए हैं। वहीं 4,79,164 हितग्राहियों को दूसरे डोज का टीका लगाया जा चुका है। रावण को मात देने के लिए हर दिन जिला में कम से कम 15 हजार से अधिक वैक्सीन लगाने की तैयारी की जा रही है।

Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned