CRIME NEWS : बहुचर्चित अभिषेक मिश्रा हत्याकांड पर फैसला जल्द आएगा

बहुचर्चित अभिषेक मिश्रा हत्याकांड पर शुक्रवार को सुनाए जाने वाले फैसले की तिथि एकबार फिर टल गई है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश गोविन्द कुमार मिश्रा के अवकाश पर रहने के कारण फैसला नहीं सुनाया जा सका।अब इस प्रकरण को 26 फरवरी के लिए रखा गया है।

दुर्ग@Patrika. बहुचर्चित अभिषेक मिश्रा हत्याकांड पर शुक्रवार को सुनाए जाने वाले फैसले की तिथि एकबार फिर टल गई है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश गोविन्द कुमार मिश्रा के अवकाश पर रहने के कारण फैसला नहीं सुनाया जा सका।अब इस प्रकरण को 26 फरवरी के लिए रखा गया है। शंकरा ग्रुप ऑफ कॉलेज के वाइस प्रेसिडेंट अभिषेक मिश्रा हत्याकांड पर 5 साल तक सुनवाई चली। अब फैसले का इंतजार है। खास बात यह है कि इस प्रकरण में अंतिम तर्क और आरोपियों को न्यायालय सुन चुकी है। दोनों ही पक्षों की दलील सुनने के बाद न्यायाधीश को अब इस बहुचर्चित प्रकरण पर फैसला सुनाना है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश के अवकाश पर होने की वजह से नई तारीख 26 फरवरी निर्धारित की गई है।

जाने फैसले की तारीख क्यू हुई स्थगित
13 दिसंबर
तर्क सुनने के बाद न्यायाधीश ने कहा कि वे प्रकरण को अच्छी तरह से अध्यन करना चाहते हैं। इसलिए फैसले की तारीख 28 दिसंबर तक के लिए स्थगित की जाती है।
28 जनवरी
परिवार न्यायालय में अधिवक्ताओं के प्रदर्शन के कारण कामकाज पूरी तरह से प्रभावित रहा। इस वजह से फैसले को 14 फरवरी तक के लिए स्थगित किया गया।
14 फरवरी
न्यायाधीश 14 फरवरी को अवकाश पर है। इसलिए फैसले की तिथि बढ़ गई। दोनों पक्ष के अधिवक्ता उपस्थित हुए और 26 फरवरी का दिन निर्धारित किया है।

एक नजर अभिषेक हत्याकांड
7 नवंबर 2015 को शंकरा ग्रुप के डायरेक्टर अभिषेक मिश्रा की हत्या करने षडय़ंत्र रचा
9 नवंबर2015 को अभिषेक मिश्रा को स्मृतिनगर बुलाकर हत्या की गई।
10 नवंबर 2015 को जेवरा चौकी में गुमशुदगी दर्ज
22 दिसंबर 2015 को पुलिस ने संदेह के आधार पर आरोपी विकास जैन व अजीत सिंह को हिरासत में लिया। पूछताछ में अपराध कबूला।
23 दिसंबर 2015 को पुलिस ने स्मृति नगर से शव बरामद किया।
23 दिसंबर 2015 को पुलिस ने आरोपियों को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड लिया
24 दिसंबर 2015 को पुलिस ने किम्सी जैन को दिल्ली से दुर्ग लाई और न्यायालय में प्रस्तुत कर न्यायिक रिमांड लिया।
26 दिसंबर 2015 को विकास जैन व किम्सी जैन के चाचा अजीत सिंह को न्यायालय में प्रस्तुत कर न्यायिक रिमांड लिया गया।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Show More
Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned