scriptWho is the first mayor of Risali corporation, decision in few hours | रिसाली निगम का पहला महापौर कौन, फैसला चंद घंटों में, नवनिर्वाचित पार्षदों ने लिया शपथ, अब गुप्त मतदान से होगा मेयर का चुनाव | Patrika News

रिसाली निगम का पहला महापौर कौन, फैसला चंद घंटों में, नवनिर्वाचित पार्षदों ने लिया शपथ, अब गुप्त मतदान से होगा मेयर का चुनाव

रिसाली निगम को आज अपना पहला महापौर मिल जाएगा। इससे पहले रिसाली नगर निगम में बुधवार को सुबह 10.30 बजे नवनिर्वाचित 40 पार्षदों का शपथ ग्रहण समारोह हुआ।

भिलाई

Updated: January 05, 2022 11:37:29 am

भिलाई. रिसाली निगम को आज अपना पहला महापौर मिल जाएगा। इससे पहले रिसाली नगर निगम में बुधवार को सुबह 10.30 बजे नवनिर्वाचित 40 पार्षदों का शपथ ग्रहण समारोह हुआ। कांग्रेस की ओर से जहां गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू कार्यक्रम में मौजूद रहे वहीं भाजपा की ओर से सांसद विजय बघेल और पूर्व विधायक सांवला राम डाहरे समेत अन्य लोग शामिल हुए। कलेक्टर सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने पार्षदों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। मेयर और सभापति के लिए फिलहाल कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार सामने नहीं रखा है। चंद घंटों में नवनिर्वाचित पार्षद गुप्त मतदान के जरिए महापौर और सभापति का चुनाव करेंगे।
रिसाली निगम का पहला महापौर कौन, फैसला चंद घंटों में, नवनिर्वाचित पार्षदों ने लिया शपथ, अब गुप्त मतदान से होगा मेयर का चुनाव
रिसाली निगम का पहला महापौर कौन, फैसला चंद घंटों में, नवनिर्वाचित पार्षदों ने लिया शपथ, अब गुप्त मतदान से होगा मेयर का चुनाव
मेयर की दौड़ में शशि सबसे आगे
जनता ने अपने पसंदीदा महापौर का नाम पत्रिका के सर्वे में सामने रख दिया। पिछड़ा वर्ग महिला से बनने जा रही रिसाली की पहली महापौर के लिए रिसाली के लोगों की पसंद शशि सिन्हा और सोनिया देवांगन है जबकि तीसरे नंबर पर साहू समाज से जुड़ी डॉ. सीमा साहू का नाम है। वही वार्ड तीन की सारिका साहू और सरिता देवांगन को भी लोग महापौर के रूप में देखना चाहते हैं। अधिकांश लोगों लोगों का मानना है कि उनकी महापौर पढ़ी-लिखी और जिम्मेदार होनी चाहिए। ऐसे में शशि सिन्हा और डॉ. सीमा साहू दोनों ही बराबरी पर हैं। पत्रिका के सर्वे में जनता ने कारण भी बताया कि वे महापौर के रूप में किसे और किस वजह से देखना चाहते हैं।
रिसाली निगम का पहला महापौर कौन, फैसला चंद घंटों में, नवनिर्वाचित पार्षदों ने लिया शपथ, अब गुप्त मतदान से होगा मेयर का चुनावशशि सिन्हा
31 प्रतिशत
सिन्हा समाज का प्रतिनिधित्व करती शशि सिन्हा को 31 प्रतिशत लोग महापौर के रूप में पसंद कर रहे हैं। अच्छी पारिवारिक पृष्ठभूमि के साथ पति अशोक सिन्हा स्वयं सिन्हा समाज के जन कल्याण समिति के महासचिव भी है। इस वजह से वे सामाजिक रूप से भी काफी चर्चित चेहरा है।
सोनिया देवांगन
पब्लिक वोट-27 प्रतिशत
सोनिया देवांगन भी कांग्रेस का नया चेहरा है। गृहमंत्री और स्थानीय विधायक ताम्रध्जव साहू के विकास कार्यो और वार्ड में मिलनसार छबि की वजह से चुनाव जीतने वाली सोनिया को 27 फीसदी लोग महापौर के रूप में देखना चाहते हैं।
डॉ. सीमा साहू
पब्लिक वोट- 22 प्रतिशत
वार्ड 28 की नवनिर्वाचित पार्षद डॉ सीमा साहू को 22 फीसदी जनता महापौर के रूप में देखना चाहती है। पीएचडी होल्डर डॉ सीमा की अच्छी छवि और उनके परिवार की अच्छी सामाजिक पकड़ होने की वजह से वे साहू समाज के साथ-साथ अन्य समाज में भी लोकप्रिय हैं।
सारिका साहू
पब्लिक वोट- 11 प्रतिशत
वार्ड 3 से चुनाव जीतकर आई सारिका साहू यूं तो राजनीति में नया चेहरा है,लेकिन पति प्रेम साहू की वजह से उनकी पहचान भी अलग है। रिसाली निगम बनते ही एल्डरमैन रहे प्रेम साहू स्वच्छता अभियान से जुड़कर लगातार लोगों के संपर्क में है। जिसकी वजह से सारिका को भी लोग पसंद कर रहे हैं।
सरिता देवांगन
पब्लिक वोट-9 प्रतिशत
सरिता देवांगन का भी चेहरा नया होने की वजह से केवल सामाजिक लोगों ने ही सरिता देवांगन को महापौर के रूप में देखने की इच्छा जताई। लोगों का मानना है कि देवांगन समाज को भी राजनीतिक पदों पर प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलना चाहिए।
इसलिए साहू महापौर नहीं
चर्चा है कि गृहमंत्री साहू समाज की महापौर नहीं बनाना चाहते, क्योंकि वे स्वयं विधायक रहते हुए साहू समाज का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। ऐसे में सिन्हा और देवांगन दोनों ही समाज को प्रतिनिधित्व देकर वे अपने वोट बैंक को और मजबूत करना चाहते हैं। जानकारों की मानें तो रिसाली क्षेत्र में सिन्हा समाज की बाहुल्यता है। ऐसे में शशि सिन्हा को ही महापौर के लिए प्रबल दावेदार माना जा रहा है।
केशव या चंद्रभान हो सकते हैं सभापति
सभापति पद के लिए भी कई नाम सामने आ रहे हैं। अपने सभी नए पुराने पार्षदों को संतुष्ट करने और महापौर से लेकर परिषद तक तालमेल बैठने के लिए माना जा रहा है कि सभापति का पद किसी सीनियर पार्षद को मिलेगा। सीनियर पार्षद में केशव बंछोर और चंद्रभान ठाकुर है, जो भिलाई निगम के दौरान दो से तीन बार पार्षद चुने गए हैं। इनमें से केशव बंछोर के साथ ही चंद्रभान ठाकुर का नाम सबसे प्रमुख माना जा रहा है। अगर इनमें से किसी एक को भी सभापति चुना गया तो दूसरे को महापौर परिषद में एक प्रमुख विभाग दिया जा सकता है। सभापति के रूप में केशव बंछोर की दावेदारी ही सबसे मजबूत मानी जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंCorona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाअब हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा National Start-up Dayसीमित दायरे से निकल बड़ा अंतरिक्ष उद्यम बनने की होगी कोशिश: सोमनाथरेलवे का कंफर्म टिकट खोने पर घबरायें नहीं, इन नियमों का करें पालनTesla In India: हमारे यहां लगाएं अपनी इलेक्ट्रिक कार का प्लांट, इस राज्य ने Elon Musk को दिया खुला न्योतासपा को बड़ा झटका, कैराना से प्रत्याशी नाहिद हसन गिरफ्तार, कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.